कक्षा 4 हिंदी व्याकरण एनसीईआरटी समाधान

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 4 के लिए हिंदी व्याकरण (हिंदी ग्रामर) सीबीएसई और राजकीय बोर्ड शैक्षणिक सत्र 2022-2023 के लिए संशोधित रूप में यहाँ से प्राप्त किया जा सकते हैं। कक्षा 4 हिंदी व्याकरण में हम भाषा, वर्ण, शब्द, वाक्य, लिंग, वचन, सर्वनाम, विशेषण, क्रियाविशेषण, विराम चिन्ह, विलोम शब्द, पर्यायवाची शब्द, अनेक के लिए एक शब्द, मुहावरे, अनुच्छेद लेखन, पत्र लेखन तथा चित्र लेखन आदि के बारे में अधययन करते हैं।

कक्षा 4 के लिए हिंदी व्याकरण सभी अध्याय

कक्षा 4 के लिए हिंदी व्याकरण सत्र 2022-2023

अध्याय 1. भाषा और व्याकरण
अध्याय 2. वर्ण, वर्णमाला और मात्रा
अध्याय 3. शब्द
अध्याय 4. वाक्य
अध्याय 5. संज्ञा
अध्याय 6. लिंग
अध्याय 7. वचन
अध्याय 8. सर्वनाम
अध्याय 9. विशेषण
अध्याय 10. क्रिया
अध्याय 11. क्रियाविशेषण
अध्याय 12. अशुद्धि शोधन
अध्याय 13. विराम चिन्ह
अध्याय 14. विलोम शब्द
अध्याय 15. पर्यायवाची शब्द
अध्याय 16. अनेक शब्दों के लिए एक शब्द
अध्याय 17. मुहावरे
अध्याय 18. अपठित गद्यांश
अध्याय 19. चित्र लेखन
अध्याय 20. पत्र लेखन
अध्याय 21. अनुच्छेद लेखन
अध्याय 22. कहानी लेखन

कक्षा 4 के लिए ऐप

iconicon

कक्षा 4 हिंदी व्याकरण में भाषा, वर्ण, शब्द और वाक्य

भाषा, वर्ण, शब्द और वाक्य के बारे में

    • पाठ 1 भाषा: इस अध्याय में हम सीखते है कि भाषा क्या होती है और इससे हमारी अभिव्यक्ति किस प्रकार सुंदर और आसान हो जाती है। कक्षा 4 हिंदी व्याकरण के अध्याय 2 में हम भाषा के दोनों रूपों मौखिक भाषा और लिखित भाषा के बारे में भी संक्षिप्त में जानेगें।
    • पाठ 2 वर्ण, वर्णमाला और मात्रा: इस अध्याय में हम वर्णों और मात्राओं के बारे में पढेंगे। हिंदी भाषा में स्वर और व्यंजन का किस प्रकार उपयोग होता है, यह भी सीखेंगें।
    • पाठ 3 शब्द: वर्ण के बारे में पढ़ने के बाद, विद्यार्थी उनसे बनने वाले शब्दों के बारे में सीखते हैं। वर्ण तथा उसके प्रकार हम पहले ही पढ़ चुके हैं। यहाँ हम उन वर्णों के प्रयोग से बनने वाले शब्दों को समझेंगे।
    • पाठ 4 वाक्य: कक्षा 4 हिंदी व्याकरण के अध्याय 4 में हम वाक्य के बारे में पढ़ते हैं। यहाँ हम पता लगाते हैं कि वाक्य क्या होते हैं और इनका उचित प्रकार से उपयोग कैसे करते हैं।

चौथी कक्षा के लिए हिंदी व्याकरण में संज्ञा, सर्वनाम, लिंग और वचन

संज्ञा, सर्वनाम, लिंग और वचन के बारे में

    • पाठ 5 संज्ञा: संज्ञा के बारे में हम पहली कक्षा से ही पढ़ना प्रारंभ कर देते हैं। कक्षा 4 के हिंदी व्याकरण अध्याय 5 में विद्यार्थी संज्ञा के कुछ और उदाहरणों के साथ अपने ज्ञान को मजबूत करेंगे।
    • पाठ 6 लिंग: कक्षा 4 हिंदी व्याकरण में छठे अध्याय में लिंग के प्रकार तथा उसके विभिन्न उदाहरणों के बारे में पढ़ते हैं। इस पाठ में हम विभिन्न शब्दों के स्त्रीलिंग और पुल्लिंग शब्दों को भी याद करेंगे।
    • पाठ 7 वचन: चौथी कक्षा के लिए व्याकरण के इस अध्याय में हम उन शब्दों के बारे में पढ़ते है जो यह बताते हैं कि कोई वस्तु एक है या अनेक। एकवचन और बहुवचन के कई उदाहरणों के साथ हम हिंदी व्याकरण के पाठ 7 का अभ्यास अच्छी तरह से कर सकते हैं।
    • पाठ 8 सर्वनाम: कक्षा 4 व्याकरण के अध्याय 8 में सर्वनाम के प्रकार तथा उसके उपयोग के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं। सर्वनाम के प्रयोग को समझाने के लिए विभिन्न उदाहरण दिए गए हैं ताकि विद्यार्थी इसे आसानी से समझ सकें।

कक्षा 4 व्याकरण में विशेषण, क्रिया, क्रियाविशेषण और अशुद्धियाँ

विशेषण, क्रिया, क्रियाविशेषण और अशुद्धियाँ उदाहरण सहित

    • पाठ 9 विशेषण: यहाँ पर हम उन शब्दों के बारे में पढ़ते हैं जो शब्द संज्ञा शब्दों की विशेषता बताते हैं। विशेषण के सभी भेदों के बारे में उदाहरण सहित पढ़कर, उन्हें वाक्यों में प्रयोग करना आसान हो जाता है।
    • पाठ 10 क्रिया: कक्षा 4 के लिए हिंदी व्याकरण पढ़ते समय हमें क्रिया का ज्ञान अवश्य होना चाहिए। क्रिया के प्रयोग से ही हम किसी कार्य के होने या करने के बारे में जान पाते हैं। हिंदी व्याकरण के इस 10वें अध्याय में हम सकर्मक तथा अकर्मक किया के बारे में भी पढेंगे।
    • पाठ 11 क्रियाविशेषण: पिछले अध्याय में हमने क्रिया के बारे में पढ़ा था और इस अध्याय में हम उन शब्दों को जानेंगे जो क्रिया शब्दों की विशेषता बताते हैं।
    • पाठ 12 अशुद्धि शोधन: हिंदी भाषा को लिखते या पढ़ते समय आने वाली त्रुतियों पहचानने और फिर उनको दूर करने के तरीकों को कक्षा 4 के विद्यार्थी हिंदी व्याकरण के अध्याय 12 में अध्ययन करते हैं।
हिंदी व्याकरण कक्षा 4 में विराम चिन्ह, मुहावरे, विलोम, पर्यायवाची और अनेक के लिए एक शब्द

विराम चिन्ह, मुहावरे, विलोम, पर्यायवाची और अनेक के लिए एक शब्द के अध्याय

    • पाठ 13 विराम चिन्ह: कक्षा 4 हिंदी व्याकरण के अध्याय 13 में विराम चिन्ह से संबंधित विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करेंगे। छात्र यहाँ विराम चिन्हों के प्रकार के साथ साथ यह भी सीखते हैं कि विराम चिन्ह क्या होते हैं और इनका प्रयोग कैसे करते हैं।
    • पाठ 14 विलोम शब्द: विलोम शब्दों के बारे में हम पिछली कक्षाओं में भी पढ़ चुके हैं। कक्षा 4 हिंदी व्याकरण के अध्याय 14 में विद्यार्थी कुछ नए शब्दों के विलोम शब्द सीखेंगे। पाठ के अंत में दिए गए प्रश्नों के अभ्यास के छात्र विलोम शब्दों की पुनरावृति भी कर सकते हैं।
    • पाठ 15 पर्यायवाची शब्द: वाक्य की जरुरत के अनुसार विद्यार्थी एक ही शब्द के विभिन्न रूपों का प्रयोग करते हैं जिन्हें पर्यायवाची शब्द कहते हैं। पर्यायवाची शब्दों का प्रयोग विद्यार्थी पिछली कक्षा में भी कर चुके हैं। शब्द कोष को बढ़ाने के लिए यहाँ कुछ और शब्दों के पर्यायवाची शब्द दिए गए हैं।
    • पाठ 16 अनेक शब्दों के लिए एक शब्द: चौथी कक्षा में हिंदी व्याकरण के अध्याय 16 में विद्यार्थी कुछ वाक्यों को शब्दों से संबोधित करना सीखते हैं। दिए गए उदाहरणों तथा अभ्यास के प्रश्नों के माध्यम से विद्यार्थी हिंदी ग्रामर के इस तथ्य को अच्छी तरह समझ सकते हैं।
    • पाठ 17 मुहावरे: मुहावरे न केवल किसी भी वाक्य को सुंदर बना देते हैं बल्कि एक वाक्य में ही एक अनुच्छेद का अर्थ देते हैं। मुहावरों का उपयोग हिंदी भाषा में लेखन शैली को प्रभावी बनता है। अभ्यास के प्रश्नों में तथा उदाहरण में भी कई मुहावरे अर्थ सहित दिए गए हैं।
हिंदी व्याकरण कक्षा 4 में अपठित गद्यांश, चित्र, पत्र, अनुच्छेद और कहानी लेखन

अपठित गद्यांश, चित्र, पत्र, अनुच्छेद और कहानी लेखन के बारे में

    • पाठ 18 अपठित गद्यांश: किसी दिए गए अनुच्छेद को पढ़कर उसके बारे में किसी भी प्रश्न का उत्त्तर देना विद्यार्थी अपठित गद्यांश के माध्यम से सीखते हैं। कुछ उदाहरणों के साथ, कुछ प्रश्न अभ्यास के लिए भी दिए गए हैं जो इस पाठ को दोहराने में छात्रों के लिए सहायक होगा।
    • पाठ 19 चित्र लेखन: चित्रों की सहायता से अपने मन की अभिव्यक्ति करना छात्र चित्र लेखन की मदद से आसानी से सिख पाते हैं। चित्र लेखन कैसे करें, इस बारे में भी उदाहरण के माध्यम से समझाया गया है।
    • पाठ 20 पत्र लेखन: तकनीकि में नई उछाल के कारण आजकल पत्र लेखन बहुत कम हो गया है फिर भी इसका महत्त्व आज भी उतना ही है। यहाँ छात्र पत्र लेखन के संदर्भ में ध्यान रखने वाली बातों को सीखकर पत्र लेखन का अभ्यास करेंगे।
    • पाठ 21 अनुच्छेद लेखन: निबंध लेखन की भांति अनुच्छेद लेखन भी छात्रों के लेखन अभ्यास के लिए बहुत आवश्यक है। अनुच्छेद लेखन में छात्रों को अभिव्यक्ति के साथ साथ व्याकरण के पहलुओं का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
    • पाठ 22 कहानी लेखन: कहानी लेखन बच्चों को पहली दूसरी कक्षा से अच्छा लगने लगता है। इस पाठ में भी छात्र कुछ रोचक कहानियों के उदाहरण सहित कहानी लिखने के बारे में समझेंगे।