कक्षा 3 इंग्लिश ग्रामर | अंग्रेजी व्याकरण

कक्षा 3 के लिए इंग्लिश ग्रामर – अंग्रेजी व्याकरण सीबीएसई तथा राजकीय बोर्ड सत्र 2022-2023 के अनुसार संशोधित रूप में यहाँ दिए गए हैं। यहाँ दी गई पुस्तक में इंग्लिश ग्रामर में कुल 22 अध्याय हैं जिनके माध्यम से कक्षा 3 अंग्रेजी व्याकरण के पाठ्यक्रम को समझाया गया है।

कक्षा 3 के लिए इंग्लिश ग्रामर (अंग्रेजी व्याकरण)

कक्षा 3 के लिए अंग्रेजी व्याकरण – इंग्लिश ग्रामर

अंग्रेजी ग्रामर में दूसरी कक्षा के विषयों जैसे वाक्यों को सीखना तथा संशोधित करना आदि प्रकार के तथ्यों को कक्षा 3 में छात्र विस्तार से पढेंगे। नए प्रकार के वाक्य जैसे प्रश्नवाचक वाक्य और कथन सही करना आदि प्रकार के विषय अभ्यास के लिए छात्रों को कक्षा 3 अंग्रेजी व्याकरण में दिए गए हैं। नाउन, प्रोनाउन, अपोजिट वर्ड्स और पत्र लेखन जैसे कुछ विषयों को कक्षा 2 से कक्षा 3 में जारी रखा जाएगा। नए विषय वर्तमान काल, सरल वर्तमान काल का उपयोग भी कक्षा 3 में सिखाया जाता है। तीसरी कक्षा के अंग्रेजी ग्रामर में संयोजन और अंतःक्षेपण का उपयोग किया जाता है। लिखित भाषा में विराम-चिह्नों का प्रयोग बहुत महत्वपूर्ण है, हमें भी परिचित कराया जाएगा।

कक्षा 3 इंग्लिश ग्रामर का सरल अध्ययन

कक्षा 3 में, बच्चे नई अवधारणाएँ सीखते हैं जैसे प्रश्नवाचक वाक्य और संयोजनों, पूर्वसर्गों और अंतःक्षेपों का उपयोग। वे विषय के महत्व और समृद्धि को समझते हैं। इंग्लिश ग्रामर में छोटी-छोटी विधाओं का ज्ञान जितना अधिक होगा लेखन में रचनात्मकता उतनी ही शानदार होगी। इसके अलावा नाउन तथा प्रोनाउन का उचित स्थान पर उपयोग विशेष रूप से अल्पविराम आदि के साथ वाक्य को सुसज्जित कर देते हैं। छात्रों को यहाँ दिए गए कक्षा 3 इंग्लिश ग्रामर के अध्याओं के अंत में अभ्यास प्रश्न की मदद से लगातार पाठ को दोहराते रहना चाहिए।

अंग्रेजी व्याकरण में कक्षा 3 के लिए पाठ्यक्रम

कक्षा 3 में इंग्लिश ग्रामर के पाठ्यक्रम के अनुसार विषय को कई अलग अलग पाठों में बाँटा गया है। कथनों और विभिन्न प्रकार के वाक्यों के उपयोग में विशेष रूप से सरल वर्तमान काल और वर्तमान निरंतर काल के उपयोग में महारत हासिल होनी चाहिए। इसके अलावा ओपोसिट वर्ड्स, सिमिलर वर्ड्स, जेंडर आदि को भी वाक्य में प्रयोग करना सीखना चाहिए। कक्षा 3 अंग्रेजी ग्रामर की किताब में भाषा के सभी भाग शामिल हैं, इसलिए बच्चों को भाषा के विभिन्न भागों की पहचान करने में सक्षम होना चाहिए। कक्षा 3 के छात्र अंग्रेजी ग्रामर के माध्यम से क्रिया अर्थात वर्ब का उचित उपयोग करना और उसे वाक्य में सही तरीके से व्यवस्थित करना सीखते हैं।

कक्षा 3 अंग्रेजी व्याकरण से परीक्षा की तैयारी

कक्षा 3 के छात्रों को कॉम्प्रिहेंशन को पढ़कर उसमें दिए गए प्रश्नों को समझकर उत्तर लिखना आना चाहिए। छोटे निबंध, पत्र लिखना और प्रश्नों का उत्तर देना आना चाहिए। वचन तथा लिंग बदलना तथा उसे वाक्यों में प्रयोग करने में कुशलता हासिल कर लेनी चाहिए। अपनी कक्षा में भाषा में प्रवीणता के लिए तथा वाक्यों की सरसता बनाए रखने के लिए कक्षा 3 के विद्यार्थियों को अंग्रेजी ग्रामर का गहन अध्ययन करना अति-आवश्यक है। अन्यथा छात्र उच्च कक्षाओं में अपनी कुशलता का प्रदर्शन नहीं कर पाएँगे और परीक्षा में उम्मीद से कम अंक अर्जित करेंगे।

कक्षा 3 में अंग्रेजी ग्रामर का अध्ययन कैसे करें?

कक्षा 3 में उच्च कोटि के प्रदर्शन के लिए छात्रों को इंग्लिश ग्रामर के अध्ययन पर अधिक ध्यान देना होगा। किसी भी कक्षा में ग्रामर विषय का आधार होता है। प्रत्येक अध्याय को ध्यान से पढ़ें और उसमें आने वाले कठिन शब्दों को याद रखने के लिए रोजमर्रा के बोलचाल में इसका उपयोग करें। ऐसा करने से न केवल आपका इंग्लिश शब्दकोष बढेगा बल्कि अंग्रेजी बोलने में सरसता और आत्मविश्वास भी प्राप्त होगा।

कक्षा 3 इंग्लिश ग्रामर में कितने अध्याय हैं?

कक्षा 3 इंग्लिश ग्रामर के लिए एनसीईआरटी की कोई पुस्तक नहीं है। इसलिए अध्यायों की संख्या अलग-अलग पुस्तकों में भिन्न हो सकती है। अध्याय कितने भी हो परंतु कक्षा 3 इंग्लिश ग्रामर के लिए पाठ्यक्रम निश्चित है। पाठ्यक्रम में विषयों तथा तथ्यों की संख्या सभी पुस्तकों में समान रहती है। तिवारी अकादमी पर उपलब्ध कक्षा 3 अंग्रेजी व्याकरण पुस्तक में कुल 22 अध्याय हैं।