कक्षा 1 हिंदी व्याकरण एनसीईआरटी समाधान

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 1 हिंदी व्याकरण सभी अध्याय उदहारण सहित शैक्षणिक सत्र 2022-2023 के लिए विद्यार्थी यहाँ से निशुल्क प्राप्त कर सकते हैं। कक्षा 1 हिंदी व्याकरण में हम वर्ण और मात्राएँ, संज्ञा, उलटे अर्थ वाले अर्थात विलोम शब्द, विशेषण, संख्या ज्ञान, क्रिया शब्द, सर्वनाम तथा इसकी सामान्य अशुद्धियाँ, लिंग और वचन आदि के बारे में सीखते हैं। कक्षा 1 में हम शब्द और वर्णमाला, वाक्यों तथा लेखन अभ्यास में अपठित गद्यांश के बारे में भी पढेंगे।

कक्षा 1 के लिए हिंदी व्याकरण की किताब

कक्षा 1 के लिए हिंदी व्याकरण सत्र 2022-2023

अध्याय 1. संज्ञा
अध्याय 2. वर्ण एवं मात्राएँ
अध्याय 3. विलोम शब्द
अध्याय 4. विशेषण
अध्याय 5. वचन
अध्याय 6. क्रिया
अध्याय 7. शब्द और वाक्य
अध्याय 8. लिंग
अध्याय 9. सर्वनाम
अध्याय 10. सामान्य अशुद्धियाँ
अध्याय 11. संख्या ज्ञान
अध्याय 12. लेखन अभ्यास

कक्षा 1 के लिए ऐप

iconicon

कक्षा 1 के लिए हिंदी व्याकरण में संज्ञा और सर्वनाम

नवीन हिंदी व्याकरण कक्षा 1 में हम संज्ञा और सर्वनाम के बारे में बच्चों का आधार बनाया जाता है। संज्ञा क्या है और संज्ञा के पहचानने का क्या तरीका है, ये भी बच्चे कक्षा 1 के हिंदी व्याकरण में सीखते हैं। हिंदी ग्रामर कक्षा 1 में हम संज्ञा के साथ साथ उसके स्थान पर प्रयोग होने वाले शब्दों – सर्वनाम को भी पढ़ते हैं। साधारण सर्वनाम शब्दों का ज्ञान बच्चों को कक्षा 1 हिंदी व्याकरण में ही दे दिया जाता है ताकि धीरे धीरे वे संज्ञा और सर्वनाम में भेद कर सकें।

हिंदी व्याकरण कक्षा 1 में वचन और क्रिया के बारे में

संपूर्ण हिंदी व्याकरण कक्षा 1 में बच्चे एक वचन और बहुवचन आदि को भी पहचानना सीखते हैं। कक्षा 1 हिंदी ग्रामर बुक के पाठ 5 में वचन के बारे में चित्रों के माध्यम से समझाया गया है। कक्षा 1 का विद्यार्थी चित्रों को देखकर आसानी से एक वचन तथा बहुवचन के बारे में विभेद कर कर सकता है। अगले ही अध्याय अर्थात पाठ 6 में हम यह पढ़ते हैं कि क्रिया क्या होती है और वाक्य में इसका क्या प्रभाव पड़ता है। वाक्य में क्रिया के प्रयोग को समझाने में कुछ छात्रों को परेशानी हो सकते है परन्तु धीरे धीरे अभ्यास से ये दूर हो जाती है।

कक्षा 1 के लिए हिंदी व्याकरण में लेखन अभ्यास का लाभ

पहली कक्षा के लिए हिंदी व्याकरण में लेखन अभ्यास से बच्चे लिखना सीखने के साथ साथ अपने विचारों को व्यक्त करना सीखते हैं। तिवारी अकादमी कक्षा 1 हिंदी व्याकरण में पाठ 12 लेखन अभ्यास में चित्रों के माध्यम से अपठित गद्यांश की तरह से लेखन सामग्री प्रस्तुत की गई है। प्रत्येक चित्र के नीचे रिक्त स्थान दिए गए हैं जिसे बच्चों को अपनी सोच के आधार पर भरना होता है। इस अध्याय से बच्चों में सोचने समझने की कला का भी विकास होता है।

पहली कक्षा के लिए हिंदी व्याकरण में लिंग बोध – स्त्रीलिंग या पुल्लिंग

नर्सरी या केजी कक्षा से ही विद्यार्थी को लिंग बोध होना प्रारंभ हो जाता है। परन्तु मनुष्यों के अतिरिक्त अन्य जीवों में स्त्रीलिंग या पुल्लिंग होने में थोडा बहुत संशय होता है। कक्षा 1 हिंदी व्याकरण का अध्याय 8 लिंग, पहली कक्षा के बच्चों को विभिन्न चित्रों और लिखित उदाहरणों के माध्यम से स्त्रीलिंग और पुल्लिंग की पहचान करने में मदद करता है। पाठ के अंत में अभ्यास के लिए कुछ प्रश्न भी दिए गए हैं जो बच्चों के ज्ञान को और मजबूत करते हैं।

कक्षा 1 हिंदी व्याकरण में कुल कितने अध्याय हैं?

अलग अलग किताबों में अध्याओं की संख्या भीं हो सकती हैं। कुछ पुस्तकों में केवल 10 पाठ ही हैं जबकि कुछ में 12 से 15 तक हो सकते हैं। सामान्यतः कक्षा 1 हिंदी व्याकरण की किताब में कुछ 10-11 अध्याय ही होते हैं।

कक्षा 1 के लिए हिंदी व्याकरण की एनसीईआरटी पुस्तक का नाम क्या है?

कक्षा 1 में हिंदी व्याकरण के लिए एनसीईआरटी की कोई पुस्तक नहीं है। सीबीएसई द्वारा दिए गए सिलेबस के अनुसार विभिन्न प्राइवेट पब्लिकेशन की किताबें की उपलब्ध हैं। अलग अलग स्कूल की किताबें अलग हो सकती हैं।

कक्षा 1 हिंदी व्याकरण के मुख्य अध्याय कौन से हैं?

कक्षा 1 के लिए व्याकरण की पुस्तकों में अधिकतर संज्ञा, सर्वनाम, शब्द, वाक्य, लिंग, क्रिया और वचन आदि अध्याय सामान्यतः होते हैं। ये सभी अध्याय चित्रों के माध्यम से बातों को समझाने का प्रयास करते हैं।