कक्षा 7 गणित एनसीईआरटी समाधान

कक्षा 7 गणित एनसीईआरटी समाधान – सलूशन हिंदी और इंग्लिश मीडियम में सीबीएसई सिलेबस 2022-2023 पर आधारित है। सातवीं की गणित के प्रश्नों के हल सरल भाषा में हैं और इन्हें शैक्षणिक सत्र 2022-2023 के लिए अपडेट किया गया। प्रत्येक प्रश्न को समझने में प्रयुक्त सूत्रों को भी बनाया गया है। कक्षा 7 गणित की प्रत्येक प्रश्नवाली का हल तथा समाधान बिलकुल मुफ्त है। कोई भी इसे बिना किसी पंजीकरण अथवा लॉगिन पासवर्ड के बिना ही प्रयोग कर सकता है।

कक्षा 7 गणित एनसीईआरटी समाधान 2022-2023 के लिए

कक्षा 7 गणित एनसीईआरटी समाधान अध्याय 1 से 15 तक

अध्याय 1. पूर्णांक
अध्याय 2. भिन्न एवं दशमलव
अध्याय 3. आँकड़ो का प्रबंधन
अध्याय 4. सरल समीकरण
अध्याय 5. रेखा एवं कोण
अध्याय 6. त्रिभुज और उसके गुण
अध्याय 7. त्रिभुजों की सर्वांगसमता
अध्याय 8. राशियों की तुलना
अध्याय 9. परिमेय संख्याएँ
अध्याय 10. प्रायोगिक ज्यामिति
अध्याय 11. परिमाप और क्षेत्रफल
अध्याय 12. बीजीय व्यंजक
अध्याय 13. घातांक और घात
अध्याय 14. सममिति
अध्याय 15. ठोस आकारों का चित्रण

कक्षा 7 गणित समाधान एनसीईआरटी 2022-2023

7वीं गणित की प्रत्येक प्रश्नावली के प्रश्नों का पूरा विवरण तिवारी अकादमी वैबसाइट समाधानों में दिया गया है जो नवीनतम एनसीईआरटी किताब 2022-2023 पर आधारित हैं। गणित के साथ-साथ वैदिक गणित का अभ्यास भी करें ताकि आप अपनी गणना में सुधार कर सकें तथा इसे और तेज़ कर सकें। आप कक्षा 7 गणित का ऑफलाइन एप्लिकेशन भी डाउनलोड कर सकते हैं जो, एक बार डाउनलोड करने के बाद, बिना इंटरनेट के काम करता है।

सातवीं कक्षा गणित के पीडीएफ़ तथा विडियो समाधान

7वीं गणित की प्रत्येक प्रश्नावली का समाधान पीडीएफ़ तथा विडियो दोनों में दिया गया है। विद्यार्थी अपनी सुविधानुसार इसे प्रयोग कर सकते हैं। विडियो में प्रत्येक प्रश्न को विस्तार से हल किया गया है। सभी पीडीएफ़ तथा विडियो समाधान प्रयोग करने के लिए निशुल्क हैं। प्रश्नों के हल आसान भाषा में चरणबद्ध तरीके से किया गया है ताकि कक्षा 7 के प्रत्येक विध्यार्थी को समझ आ सके।

एनसीईआरटी कक्षा 7 गणित समाधान में अच्छे अंक कैसे प्राप्त करें

कक्षा 7 के गणित में कुल 15 अध्याय हैं, जिनमें बीजगणित, ज्यामिति, रचना, साथ ही सांख्यिकी के कुछ के खंड शामिल हैं। इस पूरे सिलेबस को पहली और दूसरी छमाही में बांटा गया है। इसलिए, प्रत्येक सत्र की परीक्षा में केवल 7 या 8 अध्याय होते हैं। सातवीं कक्षा के छात्र कक्षा 6 की तुलना में यहाँ उच्च स्तर के गणित का अध्ययन करते हैं। कक्षा 7 में गणित माध्यमिक विद्यालय में गणित के अध्ययन की नींव के रूप में कार्य करता है और इन पाठ्यक्रमों का मुख्य विषय है।

चरण 1 : प्रश्नों के अभ्यास बारम्बार करके उनकी पुनरावृति करते हैं।

चरण 1 : प्रश्नों के अभ्यास बारम्बार करके उनकी पुनरावृति करते हैं।
गणित कक्षा 7 के लिए एनसीईआरटी पुस्तक के प्रश्न तैयार पहले से ही हल करने से परीक्षा के दौरान बहुत समय बचता है। इससे महत्वपूर्ण प्रश्नों और सूत्रों का एक मानक प्रारूप पहले से तैयार किया जा सकता है। वेबसाइट पर उपलब्ध कक्षा 7 गणित के एनसीईआरटी समाधान की मदद से सभी प्रश्नों को स्वयं हल करने का प्रयास करना चाहिए। हालांकि इन समाधानों में छोटे प्रश्न भी हो सकते हैं, लेकिन वे परीक्षा के दृष्टिकोण से पूरे 7 वीं कक्षा के गणित के पाठ्यक्रम को बहुत प्रभावी ढंग से पूरा करने में मदद करते हैं। गणित की परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए छात्रों को इन विषयों पर आधारित विभिन्न प्रश्न कौशलों को सीखना और अभ्यास करना होता है।

चरण 2 : एनसीईआरटी पुस्तक के साथ-साथ एक्सेम्प्लर किताब का भी अभ्यास करें।

गणित जैसे विविध विषयों में महारत हासिल करने के लिए गणित की एनसीईआरटी जैसी विश्वसनीय अध्ययन सामग्री के साथ-साथ निरंतर अभ्यास और विचारों के सुदृढ़ीकरण की आवश्यकता होती है। कक्षा 7 गणित एक्सेम्प्लर बच्चों के लिए दिलचस्प तरीके से गणित का अध्ययन करने और विभिन्न अवधारणाओं की प्रगतिशील समझ विकसित करने का एक बहुत ही प्रभावी तरीका है। आप इसे तिवारी अकादमी से आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं। परीक्षा की तैयारी करते समय योजनाबद्ध परीक्षा सबसे आसान और समान रूप से महत्वपूर्ण है। महत्वपूर्ण सूत्रों और प्रश्नों की सूची बनाने से यह निर्धारित करने में मदद मिलती है कि आपने कितना भाग कर लिया है और कितना बचा है।
चरण 2 : एनसीईआरटी पुस्तक के साथ-साथ एक्सेम्प्लर किताब का भी अभ्यास करें।

चरण 3 : सैंपल पेपर का अभ्यास करके अंकों का अनुमान लगाकर तैयारी करें।

चरण 3 : सैंपल पेपर का अभ्यास करके अंकों का अनुमान लगाकर तैयारी करें।
सैंपल पेपर्स का अभ्यास करना गणित की परीक्षा की तैयारी के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है। यह तैयारी का मूल्यांकन करना और त्रुटियों का पता लगाना संभव होता है ताकि उन्हें बार-बार दोहराने से बचा जा सके। यह अभ्यास करने, गति में सुधार करने और परीक्षा के लिए प्रभावी ढंग से समय का प्रबंधन करने का तरीका सीखने के लिए भी अच्छा है। सैंपल पेपर्स के प्रत्येक खंड में प्रश्नों पर दिए गए समय का अनुमान लगाना, समय प्रबंधन में मदद करता है। सभी कठिन सूत्रों और प्रश्नों को लिखने से आपको उन्हें बेहतर याद रखने में मदद मिलती है। उनकी समीक्षा करना हमेशा एक अच्छा गणित अभ्यास होता है। यह लेखन प्रवृति को भी पुष्ट करता है और सीखने की क्षमता में सुधार करता है।

चरण 4 : गणित के ऑनलाइन समाधान की मदद लेकर प्रश्नों को सही हल करें।

यदि आप परीक्षा में अच्छा स्कोर करना चाहते हैं, तो आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप गणित की सभी अवधारणाओं में महारत हासिल कर लें। गणित के सवालों को समझने के लिए बच्चों को अच्छे शिक्षकों की मदद लेनी चाहिए। ताकि प्रश्नों का सही समाधान मिल सके और गणित सीखने में कोई कठिनाई न हो। आप इन प्रश्नों को हल करने के लिए तिवारी अकादमी जैसी विशेषज्ञ द्वारा संचालित ऑनलाइन गणित समाधान वेबसाइटों से भी सहायता प्राप्त कर सकते हैं। गणित की परीक्षा में समय बचाने के लिए कम समय में वस्तुनिष्ठ प्रकार के वैकल्पिक प्रश्नों को हल करने में सक्षम होने के लिए छोटी विधियों का उपयोग करना भी आवश्यक है। यह कुछ समाधानों या सूत्रों को याद करने का एक शानदार तरीका है।
चरण 4 : गणित के ऑनलाइन समाधान की मदद लेकर प्रश्नों को सही हल करें।

चरण 5 : तनावपूर्ण तरीके से न पढ़ें और पढाई के समय अनुशासित रहें।

चरण 5 : तनावपूर्ण तरीके से न पढ़ें और पढाई के समय अनुशासित रहें।
परीक्षण का तनाव थकाऊ हो सकता है और परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए बच्चे के आत्मविश्वास को कम कर सकता है। अध्ययन के दौरान पर्याप्त अंतराल यह सुनिश्चित करता है कि बच्चे को अतिरिक्त तनाव का अनुभव न हो। अध्ययन से संबंधित कार्य जैसे गणित के खेल, अभ्यास पुस्तकें, पहेली कार्ड, एमसीक्यू आधारित प्रश्न उत्तर और बहुत कुछ। एक उपयुक्त तैयारी योजना तैयार करने का प्रयास करें। दिनचर्या का पालन करें और अनुशासित रहें। इस प्रक्रिया से आपने जो सीखा, उस पर ध्यान दें। तैयारी के दौरान, सोशल नेटवर्क से दूर रहें और इलेक्ट्रॉनिक तत्वों का न्यूनतम उपयोग लक्ष्य प्राप्ति में आपकी मदद करेगा।

कक्षा 7 गणित एनसीईआरटी को पढ़ने का तरीका

एनसीईआरटी कक्षा 7 गणित की किताब से पहले अध्याय को एक बार ध्यान से पढ़ें और उनके उदाहरणों को पढ़कर करने का अभ्यास करें। उसके बाद प्रश्नावली के प्रश्नों को स्वयं हल करें। ऐसा करते समय किसी की मदद न लें। प्रश्न हल हो चाहे न हो, बार बार प्रयास करें। जरूरत पड़ने पर एनसीईआरटी के ही उदाहरणों की मदद ले सकते हैं। कुछ देर बाद आप देखेंगे की प्रश्न आपसे होने लगते हैं। कई बार प्रयास करने के बाद भी यदि कोई प्रश्न न आए तो उसके लिए कक्षा 7 एनसीईआरटी समाधान देखें।

कक्षा 7 गणित एनसीईआरटी की किताब 2022-2023

कक्षा 7 गणित की एनसीईआरटी में कुल 15 अध्याय हैं। पहला अध्याय पूर्णांक है जिसमें हम पूर्णांकों को संख्या रेखा पर निरूपित करना तथा संख्या रेखा की मदद से ही पूर्णांकों को जोड़ना और घटना सीखेंगे। पूर्णांक के बाद विध्यार्थी भिन्न तथा दशमलव संख्याओं के बारे में अध्ययन करेंगे, जो आने वाली कक्षाओं में भी एक महत्वपूर्ण पाठ है। ज्यामितीय अध्यायों में रेखाओं, कोणों तथा त्रिभुज और उसके गुणों को पढ़ेंगे। क्षेत्रमिति में हम परिमाप और क्षेत्रफल निकालना सीखेंगे।

कक्षा 7 गणित में 100% अंक लाने के लिए तैयारी किस प्रकार करनी चाहिए?

यदि कोई विद्यार्थी कक्षा 7 गणित में 100% अंक लाना चाहता है तो उसे 7वीं गणित की एनसीईआरटी पुस्तक के एक एक प्रश्न को अच्छी तरह समझते हुए बार बार करना चाहिए। गणित के अभ्यास के लिए प्रतिदिन कम से कम 2 घंटे का समय निकालना चाहिए। किसी भी पाठ के सभी सवालों को अच्छी तरह से करने के कुछ दिन बाद पुनः उन प्रश्नों को करना चाहिए। ऐसा करने से प्रश्नों के सूत्र तथा उनके करने के तरीके हमें अच्छी तरह से याद हो जाएंगे और जब उससे मिलते जुलते प्रश्न परीक्षा में पूंछे जाएंगे तो हम उन्हें आसानी से हल कर सकेंगे। गणित एक अभ्यास का विषय है इसे याद नहीं किया जा सकता है। अतः नियम से इसका प्रतिदिन अभ्यास करना चाहिए। केवल कठिन परिश्रम से ही कोई विद्यार्थी कक्षा 7 गणित में 100% अंक ला सकता है।

कक्षा 7 गणित के कौन कौन से अध्याय विद्यार्थियों को कठिन लगते हैं?

कक्षा 7 गणित के कुछ अध्याय विशेष सूत्रों पर आधारित हैं जिसके कारण इनमें दिए गए प्रश्नों के अभ्यास में अधिक समय लगता है। 7वीं गणित के अध्याय 7 त्रिभुजों की सर्वांगसमता में दिए गए सभी प्रश्न सर्वांगसम नियमों पर आधारित हैं। इसमें दिए गए प्रश्नों के अभ्यास से पहले विद्यार्थी को सर्वांगसमता के सभी नियम अच्छी तरह से पता होना चाहिए। अध्याय 10 प्रयोगिक ज्यामिति इसलिए कठिन है कि इन प्रश्नों को बड़े ध्यान से कई बार करके अभ्यास करना होता है। इसी प्रकार अध्याय 11 परिमाप और क्षेत्रफल में भी हमें प्रत्येक प्रश्न को हल करने से पहले उसका एक रफ चित्र बना लेना चाहिए नहीं तो प्रश्न को हल करने में कोई न कोई गलती हो जाती है।

कक्षा 7 गणित में किस प्रकार आसानी से अच्छे अंक प्राप्त कर सकते हैं।

कक्षा 7 गणित एनसीईआरटी पुस्तक के 15 अध्याय में से कुछ अध्याय विद्यार्थियों को कठिन लगते हैं, कुछ सामान्य तो कुछ बिलकुल सरल लगते हैं। परीक्षा की तैयारी करते समय हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि सबसे पहले उन पाठों को करना चाहिए जो हमें सरल लगते हैं। जिन पाठों को समझने या हल करने में दिक्कत होती है उन्हें अंत में करना चाहिए ताकि जो पाठ्यक्रम हमें आता हैं उसमें हम अधिकतम अंक लाने में सक्षम हों।

7वीं कक्षा की गणित एनसीईआरटी पुस्तक के कौन कौन से पाठ ज्यामिति पर आधारित हैं?

ज्यामिति अध्याय के लिए कक्षा 7 गणित में पाठ 5, 6, 7 और 10 दिए गए हैं। इन पाठों के माध्यम से पहले हम रेखाओं और विभिन्न कोणों के बारे में जानकारी लेंगे और फिर त्रिभुज के प्रकार तथा उनके गुणधर्मों के बारे में सीखेंगे। अध्याय 7 त्रिभुजों की सर्वांगसमता के विषय में हैं जो अगली कक्षाओं के लिए भी एक महत्वपूर्ण अध्याय है। अध्याय 10 प्रयोगिक ज्यामिति में हम परकार और चाँदे की सहायता से विभिन्न रचनाएँ करना सीखते हैं।