कक्षा 1 हिंदी एनसीईआरटी समाधान

कक्षा 1 हिंदी एनसीईआरटी समाधान पुस्तक रिमझिम भाग 1 का सीबीएसई सत्र २०२१-२०२२ के लिए संशोधित छात्र यहाँ से प्राप्त से प्राप्त कर सकते हैं। सीबीएसई सिलेबस २०२१-२०२२ के अनुसार कक्षा 1 हिंदी एनसीईआरटी पुस्तक रिमझिम में कुल २३ अध्याय हैं। इनमें से कुछ कविताएँ हैं तथा अन्य लेख और कहानियाँ हैं। कक्षा 1 हिंदी की पुस्तक रोचक कहानियों से भारी हुई है जिसे विद्यार्थी आनंद ले कर पढ़ते हैं।

कक्षा 1 हिंदी एनसीईआरटी समाधान सत्र 2021-2022 के लिए

कक्षा 1 हिंदी पुस्तक का अध्ययन

कक्षा 1 में हिंदी के पाठों को बोल-बोल कर पढना चाहिए। बोलकर पढने से कोई भी कविता या कहानी हमें जल्दी समझ आती है। इसके अतिरिक्त बोलते समय हमें त्रुटिपूर्ण शब्दों का आभास भी हो जाता है। किसी भी पाठ को एक या दो बार बोल-बोल कर पढने से वह अध्याय लगभग याद ही हो जाता है। इसके पश्चात् पाठ के अंत में दिए गए प्रश्नों को स्वयं करने का प्रयास करना चाहिए। यदि आवश्यकता हो तो अपने माता-पिता या बड़े भई बहनों की मदद ले लेनी चाहिए। प्रश्नों को स्वयं करने से हमें पाठ के सभी प्रश्न उत्तर याद हो जाते हैं और पाठ के प्रत्येक भाग को सरलता से कर सकने का आत्मविश्वास प्राप्त होता है।

कक्षा 1 हिंदी के अभ्यास के लिए सहायक पुस्तक

विद्यार्थियों की मदद के यहाँ अतिरिक्त सहायक पुस्तक दी गई है। इस पुसतक की मदद से छात्र पहली कक्षा में हिंदी के पाठों की पुनरावृति कर सकते हैं। ये पुस्तक कक्षा 1 के विद्यार्थियों के लिए एक अतिरिक्त पठन सामग्री है जिसके अध्ययन से किसी भी पाठ में आत्मविश्वास प्राप्त किया जा सकता है। अध्याय में तथ्यों के सरल विवरण दिए गए हैं। पाठ को संकेतों और चित्रों की सहायता से समझाया गया है ताकि कक्षा 1 का प्रत्येक विद्यार्थी इसे आसानी से समझ सके।

कक्षा 1 हिंदी विषय में एनसीईआरटी की कितनी पुस्तकें हैं?

कक्षा 1 के लिए हिंदी विषय एनसीईआरटी की केवल एक पुस्तक है जिसका नाम है – रिमझिम। इसी पुस्तक में कक्षा 1 के विद्यार्थियों के लिए पर्याप्त अध्याय दिए गए हैं।

कक्षा 1 हिंदी की पुस्तक में कुल कितने अध्याय हैं?

पहली कक्षा के हिंदी विषय की एनसीईआरटी पाठ्यपुस्तक में कुल २३ अध्याय दिए गए हैं। इस पुस्तक में पहला अध्याय झूला है और अंतिम अध्याय सात पूँछ का चूहा है।

कक्षा 1 हिंदी को जल्दी याद करने के लिए कैसे पढ़ें?

हिंदी या अंग्रेजी विषय को जल्दी समझने या याद करने के लिए प्रत्येक अध्याय को बोल-बोल कर पढना चाहिए। ऐसे पढने से हमें न केवल जल्दी याद होता है बल्कि कई दिनों तक याद भी रहता है।