कक्षा 7 गणित अध्याय 3 एनसीईआरटी समाधान – आँकड़ो का प्रबंधन

कक्षा 7 गणित अध्याय 3 के लिए एनसीईआरटी समाधान पाठ 3 आँकड़ो का प्रबंधन की प्रश्नावली व्यायाम या एक्सरसाइज 3.1, 3.2, 3.3 और 3.4 के अभ्यास के प्रश्नों के हल सभी सवाल जवाब हिन्दी मीडियम तथा अंग्रेजी में यहाँ दिए गए हैं। वर्ग 7 गणित अध्याय 3 के सभी प्रश्नों को विडियो के माध्यम से भी हल किया गया है। जो विद्यार्थी पीडीएफ़ सॉल्यूशंस से नहीं समझ पाते वे विडियो के माध्यम से समझ सकते हैं। ऑफलाइन पढ़ने के लिए वर्ग 7 गणित ऐप का प्रयोग करें। वैबसाइट तथा ऐप दोनों के ही समाधान सत्र 2022-2023 के अनुसार बनाए गए हैं।

कक्षा 7 गणित अध्याय 3 के लिए एनसीईआरटी समाधान 2022-2023

कक्षा 7 गणित अध्याय 3 पर बहुविकल्पीय (MCQ) प्रश्न उत्तर

Q1

दिए गए आंकड़ों 14, 6, 12, 17, 21, 10, 4, 3 का परास होगा:

[A]. 11
[B]. 17
[C]. 18
[D]. 21
Q2

निम्न आंकड़ों का बहुलक होगा: 23, 26, 22, 29, 23, 29, 26, 29, 22, 23

[A]. केवल 23
[B]. केवल 26
[C]. केवल 29
[D]. 23 और 29
Q3

दिए गए आंकड़ों 40, 50, 99, 68, 98, 60, 94 की माध्यिका होगी:

[A]. 40
[B]. 60
[C]. 68
[D]. 99
Q4

एक सिक्के को उछालने पर परिणाम होता है

[A]. केवल पट
[B]. या तो पट या चित
[C]. न तो पट और न ही चित
[D]. केवल चित

आँकड़ों के संग्रह से संबंधित मुख्य अवधारणाएं क्या हैं?

आँकड़ों के संग्रह की मुख्य अवधारणाएं और परिणाम

    • 1. संख्याओं के रूप में एकत्रित की गई जानकारी को आंकड़ा कहा जाता है।
    • 2. आँकड़ों को व्यवस्थित और ग्राफिक रूप से दर्शाया जाता है जिससे कि वह समझने और व्याख्या करने में आसानी होती है।
    • 3. उच्चतम और निम्नतम प्रेक्षणों के बीच का अंतर को दिए गए डेटा की परास (range) कहा जाता है।
    • 4. किसी दिए गए डेटा का औसत या अंकगणितीय माध्य या माध्य है को निम्न रूप में परिभाषित किया जा सकता है: माध्य = (सभी अवलोकनों का योग) / अवलोकनों की संख्या
    • 5. बहुलक (mode) वह अवलोकन है जो डेटा में सबसे अधिक बार होता है।
    • 6. यदि डेटा में प्रत्येक मान एक बार (या बराबर संख्या) में आ रहा है, तो सभी मोड हैं। कभी-कभी, हम यह भी कहते हैं कि यह डेटा में कोई बहुलक नहीं है क्योंकि उनमें से कोई भी बार-बार नहीं आ रहा है।
    • 7. जब दिए गए डेटा को आरोही (या अवरोही) क्रम में व्यवस्थित किया जाता है, तो बीच में सबसे अधिक अवलोकन डेटा को माध्यिका कहते हैं।
केंद्रीय प्रवृति की माप तथा प्रायिकता

केंद्रीय प्रवृति की माप तथा प्रायिकता से संबंधित कुछ मुख्य तथ्य

    1. माध्य, माध्यिका और बहुलक अवलोकन समूह के प्रतिनिधि मान हैं इन्हें केन्द्रीय प्रवृत्ति की माप भी कहते हैं
    2. आयतों (बार) के रूप में डेटा का प्रतिनिधित्व एकसमान चौड़ाई को बार ग्राफ कहा जाता है।
    3. दो आंकड़ों से संबंधित सूचनाओं की तुलना करने के लिए एक डबल बार ग्राफ का उपयोग किया जा सकता है।
    4. कोई घटना हो सकती है या नहीं हो सकती है, उसके घटित होने की संभावना है कितनी है।
    5. एक निश्चित घटना के घटित होने की प्रायिकता ‘1’ है।
    6. जिस घटना का घटित होना असंभव है उसकी प्रायिकता ‘0’ है।
    7. किसी घटना के घटित होने की संभावना = (घटना के अनुकूल परिणामों की संख्या)/(प्रयोग में कुल परिणामों की संख्या)

कक्षा 7 गणित अध्याय 3 के महत्वपूर्ण प्रश्नों के हल

प्रायिकता से आप क्या समझते हो?

किसी घटना के होने की सम्भावना को प्रायिकता या संभाव्यता कहते हैं।

क्या किसी घटना की प्रायोगिक प्रायिकता 1 से अधिक हो सकती है?

किसी घटना की प्रायोगिक प्रायिकता 1 से अधिक कभी भी नहीं हो सकती, क्योंकि उन अभिप्रयोगों की संख्या जिनमें कोई घटना हो सकती है कभी भी अभिप्रयोगों की कुल संख्या से अधिक नहीं हो सकती।

किसी असंभव घटना के घटने की प्रायिकता क्या होगी?

ऐसी घटना, जो कभी घटित नहीं हो सकती, असंभव घटना कहलाती है। असंभव घटना की प्रायिकता 0 होती है।

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 7 गणित अध्याय 3 एक्सर्साइज़ 3.1
कक्षा 7 गणित अध्याय 3 व्यायाम 3.1 के हल
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 7 गणित प्रश्नावली 3.1
कक्षा 7 गणित प्रश्नावली 3.1
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 7 गणित अध्याय 3 एक्सर्साइज़ 3.2
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 7 गणित प्रश्नावली 3.2
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 7 गणित अध्याय 3 एक्सर्साइज़ 3.3
कक्षा 7 गणित अध्याय 3 व्यायाम 3.3 के हल
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 7 गणित प्रश्नावली 3.3
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 7 गणित अध्याय 3 एक्सर्साइज़ 3.4