कक्षा 7 हिंदी व्याकरण अध्याय 16 वाच्य

कक्षा 7 हिंदी व्याकरण अध्याय 16 वाच्य के प्रकार तथा उनका वाक्यों में प्रयोग और उदाहरण विद्यार्थी शैक्षणिक सत्र 2023-24 के लिए यहाँ से निशुल्क प्राप्त कर सकते हैं। सीबीएसई के साथ-साथ कक्षा 7 हिंदी ग्रामर राजकीय बोर्ड के छात्रों के लिए भी उपयोगी है जिसे यहाँ दी गई विडियो तथा अध्ययन सामग्री की मदद से आसानी से समझा जा सकता है।

वाच्य

क्रिया का वह रूप जिससे यह पता चले कि वाक्य में क्रिया के विधान का मुख्य विषय कर्ता है या भाव है, उसे वाच्य कहते हैं।
उदाहरण:
(क) रवि खेलता है।
(ख) रवि से खेला नहीं जाता।
उपरोक्त वाक्य (क) में क्रिया का प्रभाव सीधा कर्ता पर पड़ रहा है जबकि वाक्य (ख) में क्रिया का प्रभाव कर्ता और कर्म पर न होकर भाव पर ज्यादा है।

वाच्य के भेद

वाच्य के तीन भेद हैं:
1. कर्तृवाच्य
2. कर्मवाच्य
3. भाववाच्य
कर्तृवाच्य
जहाँ क्रिया का संबंध सीधे कर्ता से हो और क्रिया कर्ता के लिंग, वचन तथा पुरुष के अनुसार हो, उसे कर्तृवाच्य कहते हैं। कर्तृवाच्य में अकर्मक और सकर्मक दोनों प्रकार की क्रियाएँ होती हैं।
उदाहरण:
(क) नेता भाषण देता है।
(ख) राम खेलता है।

कर्मवाच्य

जिस वाक्य में क्रिया का संबंध कर्म से हो और क्रिया के लिंग, वचन कर्म के अनुसार हों, उसे कर्मवाच्य कहते हैं। कर्मवाच्य में क्रिया सदा सकर्मक होती है।
उदाहरण:
(क) बालक से पत्र लिखा गया।
(ख) मुझसे खाना खाया जाता है।
भाववाच्य
जहाँ क्रिया का संबंध न कर्ता और न कर्म से हो, बल्कि भाव से हो, वहाँ भाववाच्य होता है। भाववाच्य में क्रिया हमेशा पुल्लिंग, अन्य पुरुष, एकवचन में होती है। इसका प्रयोग अकर्मक क्रियाओं के लिए किया जाता है।
उदाहरण:
(क) मीता से सोया नहीं जाता।
(ख) रोगी से चला नहीं जाता।
इस वाच्य की क्रिया में एक से अधिक क्रियापद होते हैं। इसमें कर्ता के साथ से लगाया जाता है।

वाच्य परिवर्तन

जब एक वाच्य के वाक्य को दूसरे वाच्य के वाक्य में बदला जाता है, तो उसे वाच्य-परिवर्तन कहते हैं।
कर्तृवाच्य से कर्मवाच्य बनाने की विधि
(क) कर्तृवाच्य कर्ता के साथ यदि कोई विभक्ति लगी हो तो उसे हटाएँ।
(ख) कर्तृवाच्य की क्रिया को सामान्य भूत में बदलिए।
(ग) इसमें से अथवा के द्वारा का प्रयोग कीजिए।
(घ) उस बदले हुए रूप के साथ काल, पुरुष, वचन और लिंग के अनुरूप क्रिया का रूप जोडि़ए।

कर्तृवाच्यकर्मवाच्य
(क) दादाजी मोटी रोटी नहीं खाते हैं।(क) दादाजी से मोटी रोटी नहीं खाई जाती है।
(ख) सीता ने कहानी लिखी।(ख) सीता के द्वारा (से) कहानी लिखी गई।
(ग) मैं मैदान में खेल खेलता हूँ।(ग) मुझसे मैदान में खेल खेला जाता है।
(घ) बच्चे खेलेंगे।(घ) बच्चों से खेला जाएगा।
कक्षा 7 हिंदी व्याकरण वाच्य के प्रकार
कक्षा 7 व्याकरण अध्याय 16 वाच्य के प्रकार
कक्षा 7 हिंदी व्याकरण अध्याय 16 वाच्य के भेद
कक्षा 7 हिंदी व्याकरण पाठ 16 वाच्य के प्रकार
कक्षा 7 हिंदी व्याकरण में वाच्य के प्रकार
कक्षा 7 हिंदी व्याकरण वाच्य के प्रकार