कक्षा 5 हिंदी व्याकरण – हिंदी ग्रामर

कक्षा 5 के लिए हिंदी व्याकरण – हिंदी ग्रामर के सभी अध्याय सीबीएसई तथा राजकीय बोर्ड सत्र 2022-2023 के लिए यहाँ दिए गए हैं। कक्षा 5 के विद्यार्थी हिंदी ग्रामर पढ़ने के लिए यहाँ दी गई पुस्तक का निशुल्क उपयोग कर सकते हैं और हिंदी व्याकरण की तैयारी कर सकते हैं।

कक्षा 5 के लिए हिंदी व्याकरण (हिंदी ग्रामर)

कक्षा 5 के लिए हिंदी व्याकरण का अध्ययन

चौथी कक्षा के हिंदी व्याकरण में दिए गए तथ्यों, विचारों तथा अध्ययन सामग्री को छात्र कक्षा 5 में विस्तार से समझते हैं। पाँचवीं कक्षा हिंदी ग्रामर में छात्र जो सीखते हैं उसका 50% से अधिक किसी न किसी प्रकार की पिछली कक्षाओं में पढ़ चुके होते हैं। कक्षा 5 हिंदी व्याकरण में संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण, पत्र लेखन, कहानी लेखन, अनुच्छेद लेखन और आवेदन आधारित तथ्यों को सीखते हैं। अपठित गद्यांश को पढ़ना और उसके प्रश्नों के उत्तर देना भी 5वीं के छात्र हिंदी व्याकरण के पाठ्यक्रम में सीखते हैं।

पाठ 5 में हिंदी व्याकरण का अध्ययन

पाठ 5 में हिंदी व्याकरण सीखने का मुख्य विचार भाषा के विभिन्न वर्गों के उपयोग के लिए एक ठोस आधार तैयार करना है। छात्र व्याकरण में नई परिभाषाओं की खोज करेंगे और उनके बारे में गहन अध्ययन भी करेंगे। कक्षा 5 के व्याकरण में दिए गए अध्यायों के अध्ययन से छात्रों की शब्दावली में नए शब्दों के प्रयोग को भी प्रोत्साहन मिलेगा। इसके माध्यम से विद्यार्थी कहानी लेखन, अनुच्छेद लेखन तथा निबंध लेखन जैसी कला में माहिर हो जाते हैं और सहजता से किसी भी विषय पर लिख पाते हैं। जितने अधिक शब्द होंगे, किसी विशेष अनुच्छेद को समझना उतना ही आसान होगा।

कक्षा 5 में हिंदी व्याकरण के अध्ययन का पाठ्यक्रम

कक्षा पाँच के व्याकरण पाठ्यक्रम में दिए गए भाषा के विभिन्न वर्गों में महारत हासिल करने के बाद छात्र संज्ञा से लेकर जोड़ने वाले शब्दों तक, निबंध और कहानियां आसानी से लिख सकते हैं। वह विभिन्न प्रकार के व्यवहारिक पत्र और आवेदन पत्र लिखने में सक्षम होंगे। छात्रों ने कक्षा में जो सीखा है, उसकी व्याख्या भी आसानी से कर सकेंगे। बार बार लिखने के अभ्यास से कहानी लेखन, अनुच्छेद लेखन तथा अन्य लेखन की विधाओं में छात्र आसानी से आत्मविश्वास प्राप्त कर सकता है।

कक्षा 5 हिंदी ग्रामर के मुख्य विषयों पर ध्यान केंद्रित करना

कक्षा 5 के हिंदी व्याकरण पाठ्यक्रम के अनुसार छात्रों को अधिक से अधिक लेखन कार्यों पर अपना ध्यान केंद्रित करना चाहिए। वाक्यों में होने वाले रूपांतरण नियमों को ध्यान में रखकर अनुच्छेद लिखने चाहिए। पठन एक कला है इसको और संशोधित करने के लिए छात्रों को कहानियों या कविताओं की पुस्तक के साथ साथ समाचार पत्रों और पत्रिकाओं को भी पढ़ना चाहिए। इससे पठन के साथ साथ नए शब्दों को भी सीखने में भी मदद मिलती है।

कक्षा 5 हिंदी व्याकरण में पूर्वसर्गों का उपयोग कितना प्रासंगिक है?

यदि आप किसी वाक्य में से एक वाक्य हटा देते हैं, तो वह एक अर्थहीन वाक्य बन जाता है। उदाहरण के लिए, निम्नलिखित वाक्य में, आवश्यक पूर्वसर्ग अनुपस्थित है। संयुक्त वाक्यों को बनाते समय, भी छात्रों को इनका उचित प्रयोग करना चाहिए।

कक्षा 5 हिंदी व्याकरण का अध्ययन किस प्रकार करना चाहिए?

पाँचवीं कक्षा में हिंदी व्याकरण के अध्ययन के लिए छात्रों को संज्ञा, सर्वनाम, क्रिया, अनेक शब्दों के लिए एक शब्द, पर्यायवाची शब्द, विलोम शब्द आदि को बार बार पढ़कर याद करना चाहिए। लगातार पढ़ने और इन शब्दों को दैनिक वाक्यों में प्रयोग करने से ही वाक्यों में व्याकरण की सुंदरता झलकने लगती है और हिंदी व्याकरण के लिए एक मजबूत आधार बनता है।