एनसीईआरटी समाधान कक्षा 4 गणित अध्याय 12 कितना भारी कितना हल्का

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 4 गणित अध्याय 12 कितना भारी? कितना हल्का? के अभ्यास के प्रश्नों के उत्तर तथा अतिरिक्त प्रश्नों के हल यहाँ से प्राप्त किए जा सकते हैं। चौथी कक्षा गणित के ये समाधान सीबीएसई सत्र 2022-2023 के अनुसार संशोधित किए गए हैं। कक्षा 4 गणित के पाठ 12 में छात्र वस्तुओं के भार को मापना सीखते हैं। विभिन्न वस्तुओं के भार की मदद से हम ग्राम और किलोग्राम के संबंध को भी सीखेंगे।

कक्षा 4 गणित अध्याय 12 के लिए एनसीईआरटी समाधान

कक्षा 4 के लिए सीबीएसई ऐप

iconicon

कितना भारी? कितना हल्का?

प्रस्तुत पाठ में वस्तुओं के भारी और हल्के होने का पता कैसे चलता है और वस्तु का सही वजन की जांज हम कैसे कर सकते हैं बताया गया हैं। ठोस वस्तुएं हमेशा भारी होती है। जैसे: लोहा, पीतल और पत्थर आदि हैं। वजन की सही जांज के लिए हमें तराजू की आवस्यकता होती है। जैजू और मन्नू को अपने सामान के वजन के लिए भी तराजू की जरूरत पड़ी। तभी वे अपने समान का वजन माप सके।

तराजू का उपयोग

बच्चों तराजू से वस्तु का सही माप-दंड किया जा सकता है। वस्तु के वज़न के आधार पर ही वस्तु की सही कीमत का पता लगाया जा सकता है। तभी सभी दुकान वाले अपनी दुकान पर तराजू का उपयोग करते हैं। तराजू की मदद से सभी तोले जाने वाली वस्तु को कम और ज्यादा किया जा सकता हैं। जिसके लिए उन्हें बाट की भी जरूरत पड़ती हैं। एक बाट से हम उसके बराबर माप कर अनेक बाट बना सकते हैं। यदि हम 1, 3, 9, और 27 kg के चार बाट बनाए तो हम 40 kg तक वजन एक बार में माप सकते हैं।
याद रखने योग्य बात: 1kg = 1000g

ग्राम और किलोग्राम

एक किलोग्राम से कम वजन में आने वाली वस्तुओं को हम ग्राम की इकाई में मापते हैं। जैसे: 50ग्राम, 100ग्राम, 250ग्राम, और 999 ग्राम है, ग्राम कहलाते हैं। 999 ग्राम से ऊपर वज़न की वस्तुओं को किलोग्राम कहते हैं।

डाकघर

बच्चों क्या आप जानते हैं, कि डाकघर में भी तराजू की जरूरत पड़ती हैं। 20 ग्राम वज़न से ऊपर वज़न होने पर पत्र पर लगाने वाले डाकटिकट की की कीमत भी बढ़ जाती हैं, पार्सल की कीमत भी वजन के अनुसार तय होती हैं। हर 50 ग्राम बढ़ने पर पार्सल की कीमत बढ़ती हैं। ये सभी कीमत डाकघर के डाक सामग्री बोर्ड पर दर्ज होती हैं।

हमारा वज़न एक साथ

अधिक वस्तुओं या सामान को अलग-अलग वज़न करने से हम वस्तुओं के कुल वज़न का पता हम सभी वस्तुओं के वज़न को जोड़ कर लगा सकते हैं। यदि किसी भारी वस्तु को अलग-अलग भाग कर उसे तोले और अंत में उनके वज़न को जोड़ें तो हम भारी वस्तु का वज़न आसानी से जान लेते हैं। इसी तरह वज़न करने वाली मशीन पर खड़े होकर अपने वज़न के साथ कुर्सी का वज़न मापा जा सकता हैं। इसी तरह दोनों का वज़न एक साथ किया जा सकता हैं।

कौन-सा कंचा

किसी भी 2 कंचे को तोलने पर कम- या ज्यादा होने पर ही हमें तीसरे कंचे को तोलने की जरूरत पड़ेगी। यदि उन दोनों का वज़न एक समान हैं तो हमें तीसरे कंचे को तोलने की भी जरूरत नहीं हैं। क्योंकि 2 कंचे तो एक समान वज़न के हैं। तीसरा कंचा ही भारी या कम वज़न वाला हैं।

विचार करने योग्य बात

तीन वस्तुओं में दो वस्तुओं के एक समान वज़न होने से तीसरी वस्तु का वज़न आसानी से जाना जाता हैं।

कक्षा 4 गणित अध्याय 12 कितना भारी? कितना हल्का?
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 4 गणित अध्याय 12
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 4 गणित अध्याय 12 हिंदी मीडियम
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 4 गणित अध्याय 12 इन हिंदी
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 4 गणित अध्याय 12 हिंदी में
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 4 गणित अध्याय 12 सवाल जवाब
कक्षा 4 गणित अध्याय 12
कक्षा 4 गणित अध्याय 12 के उत्तर
कक्षा 4 गणित अध्याय 12 के प्रश्न उत्तर सवाल जवाब
कक्षा 4 गणित अध्याय 12 के सभी उत्तर
कक्षा 4 गणित अध्याय 12 हल