कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 एनसीईआरटी समाधान – तारे एवं सौर परिवार

कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 के लिए एनसीईआरटी समाधान सलूशन – तारे एवं सौर परिवार अभ्यास के प्रश्न उत्तर हिंदी तथा अंग्रेजी माध्यम में पीडीएफ और विडियो के रूप में यहाँ से प्राप्त करें। वर्ग 8 विज्ञान पाठ 17 के सभी प्रश्न उत्तर सीबीएसई सत्र 2022-2023 के अनुसार संशोधित किए गए हैं। छात्र 8वीं विज्ञान के समाधान आठवीं विज्ञान ऑफलाइन ऐप से भी हिंदी मीडियम में प्राप्त कर सकते हैं। तिवारी अकादमी द्वारा दी गई सभी अध्ययन सामाग्री प्रयोग करने के लिए निशुल्क है। किसी भी असुविधा के लिए आप हमें संपर्क कर सकते हैं।

कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 के लिए एनसीईआरटी समाधान

कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 के कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

यदि शुक्र सांध्यतारे के रूप में दिखाई दे रहा है तो आप इसे आकाश के किस भाग में पाएँगे?

शुक्र सूर्यास्त के बाद दिखाई देता है। यही कारण है कि इसे सांध्यतारा कहा जाता है। यह पश्चिमी क्षितिज में दिखाई देता है।

सौर परिवार से सबसे बड़े ग्रह का नाम लिखिए।

बृहस्पति सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह है। यह इतना बड़ा है कि लगभग 1300 पृथ्वी को इस विशालकाय ग्रह के अंदर समा सकती है। हालाँकि, बृहस्पति का द्रव्यमान हमारी पृथ्वी से लगभग 318 गुना है।

तारामण्डल क्या होता है? किन्हीं दो तारामण्डल के नाम लिखिए।

पहचाने जाने योग्य आकृतियों वाले तारों के समूह को तारामण्डल कहते हैं।
उदाहरण : सप्तर्षि, ओरॉयन, कैसियोपिया आदि।

ग्रहों के अतिरिक्त सौर परिवार के अन्य दो सदस्यों के नाम लिखिए।

धूमकेतु, क्षुद्रग्रह और उल्काएं।

व्याख्या कीजिए कि सप्तर्षि की सहायता से ध्रुव तारे की स्थिति आप कैसे ज्ञात करेंगे।

सप्तर्षि के अंत में दो सितारों को देखें। इन तारों से गुजरने वाली एक सीधी रेखा की कल्पना करें। इस काल्पनिक रेखा को उत्तर दिशा की ओर बढ़ाएं। (दोनों सितारों के बीच की दूरी का लगभग पांच गुना)। यह रेखा एक तारे का नेतृत्व करेगी जो बहुत उज्ज्वल नहीं है। यह ध्रुव तारा है।

क्या आकाश में सारे तारे गति करते है? व्याख्या कीजिए।

सभी तारे आकाश में पूर्व से पश्चिम की गति करते है। वास्तव में ध्रुव तारा एक ऐसा तारा है जो पृथ्वी के अक्ष की दिशा में स्थित है। यह गति करता प्रतीत नहीं होता।

कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 के प्रश्न उत्तर विस्तार से

कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 के वस्तुनिष्ठ प्रश्न उत्तर

Q1

पृथ्वी के चारों ओर सूर्य पूर्व से पश्चिम की ओर गति करता प्रतीत होता है। इसका अर्थ है कि पृथ्वी घूर्णन करती है:

[A]. पूर्व से पश्चिम की ओर।
[B]. पश्चिम से पूर्व की ओर।
[C]. उत्तर से दक्षिण की ओर।
[D]. दक्षिण से उत्तर की ओर।
Q2

मान लीजिए यूरेनस तथा नेप्ट्‌यून के बीच में एक नया ग्रह खोजा गया है। इसका आवर्त काल होगा:

[A]. नेप्ट्‌यून के आर्वत काल की अपेक्षा कम।
[B]. नेप्ट्‌यून या यूरेनस के आर्वत काल के बराबर।
[C]. नेप्ट्‌यून के आर्वत काल की अपेक्षा अधिक।
[D]. यूरेनस के आर्वत काल की अपेक्षा कम।
Q3

प्रभात तारा नाम दिया गया है

[A]. ध्रुव तारे को।
[B]. बृहस्पति ग्रह को।
[C]. शुक्र ग्रह को।
[D]. सीरियस (लुब्धक) नामक तारे को।
Q4

पृथ्वी पर ऋतुएं बदलती हैं क्योंकि

[A]. पृथ्वी तथा सूर्य के बीच की दूरी नियत नहीं है।
[B]. पृथ्वी का घूर्णन अक्ष इसकी कक्षा के तल के सापेक्ष झुका हुआ है।
[C]. पृथ्वी का घूर्णन अक्ष इसकी कक्षा के तल के समान्तर है।
[D]. पृथ्वी का घूर्णन अक्ष इसकी कक्षा के तल के लंबवत्‌ है।
तारे के बारे में आप क्या जानते हैं?

तारे खगोलीय पिंड हैं जिनका तापमान अत्यधिक उच्च होता है तथा वे निरंतर प्रकाश का उत्सर्जन करते हैं। वे बहुत ही छोटे, चमकते,
टिमटिमाते बिंदुओं की तरह रात्रि के समय आकाश में दिखाई देते हैं जबकि वे पृथ्वी से बहुत ही दूर हैं। सूर्य भी एक तारा है जो दिन के समय चमकीला तथा विशाल दिखाई देता है क्योंकि वह अन्य तारों की अपेक्षा हमारे अधिक पास है। दिन के समय सूर्य का तीव्र प्रकाश तारों से आने वाले प्रकाश को ढक देता है इसलिए तारे दिन के समय दिखाई नहीं देते हैं जबकि वह ब्रह्मांड में सदैव उपस्थित रहते हैं।

तारामंडल किसे कहते हैं?

तारामंडल समूह में दिखाई देने वाले तारे होते हैं जो विशेष प्रकार की आकृतियों तथा नमूनों का निर्माण करते हैं। ये किसी जंतु या कुछ वस्तुओं की आकृति जैसे दिखाई देते हैं, अत: उन्हीं के नाम पर नामांकित किए जाते हैं। तारामंडल के कुछ विशिष्ट लक्षण इस प्रकार हैं:

    1. एक तारामंडल के तारे सदैव एक साथ ही रहते हैं।
    2. एक विशिष्ट तारामंडल की आकृति अपरिवर्तित रहती है।
    3. ये सरलता से नग्न आँखों द्वारा पहचाने जा सकते हैं।
    4. तारामंडल पूरब से पश्चिम की ओर जाते हुए प्रतीत होते हैं क्योंकि पृथ्वी पश्चिम से पूरब की ओर घूमती है।

कक्षा 8 विज्ञान पाठ 17 के कुछ अतिरिक्त प्रश्न उत्तर

चन्द्रमा की आकृति प्रतिदिन क्यों बदलती है?

इसकी आकृति इसलिए बदलती है क्योंकि हम चन्द्रमा का केवल वह भाग देख पाते हैं जिससे सूर्य का प्रकाश हमारी ओर परावर्तित होता है और यह भाग बदलता रहता है।

मान लीजिए चन्द्रमा अपना स्वयं का प्रकाश उत्सर्जित करता है। क्या अब भी इसकी कलाएँ दिखलाई देंगी? अपने उत्तर के औचित्य को सिद्ध कीजिए।

नहीं, क्योंकि चन्द्रमा की कलायें इसलिए दिखाई देती हैं क्योंकि चन्द्रमा अपना स्वयं का प्रकाश उत्सर्जित नहीं करता और सूर्य का प्रकाश परावर्तित करता है।

व्याख्या कीजिए कि हम चन्द्रमा का सदैव एक भाग ही क्यों देख पाते हैं?

ऐसा इसलिए है क्योंकि चन्द्रमा का घूर्णन काल, इसके पृथ्वी के चारों ओर परिक्रमण काल के बराबर है।

पहेली ने काँच की खिड़की में से चन्द्रमा को रात्रि में 8.00 बजे देखा। उसने काँच पर चन्द्रमा की स्थिति चिह्नित कर दी। वह प्रात: 4.00 बजे सोकर उठी। क्या उसे चन्द्रमा उसी स्थिति पर दिखलाई देगा?

नहीं, क्योंकि चन्द्रमा की स्थिति रात्रि में बदलती रहती है।

कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17: तारे एवं सौर परिवार के उत्तर
कक्षा 8 विज्ञान पाठ 17 के उत्तर अभ्यास
आठवीं के विज्ञान की पुस्तक के उत्तर पाठ 17
8वीं विज्ञान पाठ 17 प्रश्न उत्तर हल
आठवीं विज्ञान के अध्याय 17 का एनसीईआरटी समाधान
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 एनसीईआरटी
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 एनसीईआरटी बुक
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 एनसीईआरटी किताब
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 एनसीईआरटी पुस्तक
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 एनसीईआरटी अभ्यास
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 बुक
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 की किताब
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 की पुस्तक
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 के प्रश्न उत्तर
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 17 अभ्यास
8वीं विज्ञान पाठ 17
8वीं विज्ञान पाठ 17 की बुक
8वीं विज्ञान पाठ 17 की किताब
8वीं विज्ञान पाठ 17 की पुस्तक
8वीं विज्ञान पाठ 17 पीडीएफ़
8वीं विज्ञान पाठ 17 की एनसीईआरटी पीडीएफ़
8वीं विज्ञान पाठ 17 पाठ्यपुस्तक
8वीं विज्ञान पाठ 17 की मुख्य परिभाषाएँ
8वीं विज्ञान पाठ 17 के प्रश्न उत्तर
8वीं विज्ञान पाठ 17 अभ्यास के प्रश्न
8वीं विज्ञान पाठ 17 के प्रयोग
8वीं विज्ञान पाठ 17 एक्टिविटी
8वीं विज्ञान पाठ 17 सवाल जवाब