कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 एनसीईआरटी समाधान – ध्वनि

कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 के लिए एनसीईआरटी समाधान सलूशन – ध्वनि के प्रश्न उत्तर हिंदी और अंग्रेजी मीडियम विडियो तथा पीडीएफ प्ररूपों में यहाँ उपलब्ध है। वर्ग 8 विज्ञान पाठ 13 के ये समाधान सीबीएसई सिलेबस 2022-2023 के अनुसार बनाते गए हैं तथा सीबीएसई सत्र 2022-2023 के लिए संशोधित किए गए हैं। आठवीं कक्षा विज्ञान के सभी समाधान मुफ्त हैं और किसी लॉगिन या पासवर्ड की आवश्यकता भी नहीं है। ऑफलाइन प्रयोग के लिए आठवीं कक्षा विज्ञान ऐप का प्रयोग करें जो बिना इंटरनेट के चलता है।

कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 के लिए एनसीईआरटी समाधान

कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 के कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

निम्न वाद्ययंत्रों में उस भाग को पहचानिए जो ध्वनि उत्पन्न करने के लिए कंपित होता है: (क) ढोलक (ख) सितार (ग) बांसुरी

(क) ढोलक: ढोलक में तनिक झिल्लियाँ होती है जो ध्वनि उत्पन्न करने के लिए कंपन करती हैं।
(ख) सितार: सितार में, तनिक तार, कंपन होने पर, वे ध्वनि उत्पन्न करते हैं।
(ग) बांसुरी: बांसुरी एक पवन संगीत वाद्ययंत्र है जो ध्वनि उत्पन्न करने के लिए वायु स्तंभ का उपयोग करता है।

शोर तथा संगीत में क्या अंतर है? क्या कभी संगीत शोर बन सकता है?

संगीत एक ध्वनि है जो एक मधुर अनुभव उत्पन्न करती है जबकि शोर एक अवांछित और अप्रिय ध्वनि है। संगीत प्रकृति, संगीत वाद्ययंत्र आदि द्वारा उत्पन्न होती है। शोर वाहनों के हॉर्न, मशीनें आदि द्वारा उत्पन्न होती है।
संगीत भी शोर का रूप धरण कर सकती है अगर संगीत को ज्यादा ऊंची आवाज़ में चलाया जाए या बहुत सारे संगीत एक ही समय में ज़ोर-शोर से चलाए जाए।

अपने वातावरण में शोर प्रदूषण के स्रोतों कि सूची बनाइए।

शोर प्रदूषण के प्रमुख कारण वाहनों की आवाजें, विस्फोट जिनमें पटाखे फोड़ना, मशीन, लाउडस्पीकर आदि शामिल हैं। घर के स्रोतों से भी शोर प्रदूषण होता है। ऊँची आवाज़ में चलाए गए टेलीविजन तथा ट्रांजिस्टर रेडियो, कुछ रसोई के उपकरण, कूलर, वातानुकुलक, सभी शोर प्रदूषण के लिए उत्तरदायी हैं।

वर्णन कीजिए कि शोर प्रदूषण मानव के लिए किस प्रकार से हानिकारक है?

अनिद्रा, अति तनाव (उच्च रक्तचाप), चिंता तथा अन्य स्वास्थ्य संबंधी विकार शोर प्रदूषण से उत्पन्न हो सकते हैं। लगातार प्रबल ध्वनि के प्रभाव में रहने वाले व्यक्ति कि सुनने कि क्षमता अस्थायी अथवा स्थायी रूप से कम हो जाती है।

आपके माता-पिता एक मकान खरीदना चाहते है। उन्हें एक मकान सड़क के किनारे पर तथा दूसरा सड़क से तीन गली छोड़ कर देने का प्रस्ताव किया गया है। आप अपने माता-पिता को कौन-सा मकान खरीदने का सुझाव देंगे? अपने उत्तर की व्याख्या कीजिए।

सड़क के किनारे, शोर प्रदूषण ज्यादा है। इसलिए, मैं एक ऐसे मकान का सुझाव दूंगा जो सड़क के किनारे से तीन गली दूर है क्योंकि वहाँ प्रदूषण स्तर (वायु और शोर प्रदूषण दोनों) कुछ हद तक कम होगा।

मानव वाक् यंत्र का चित्र बनाइए तथा इसके कार्य की अपने शब्दों में व्याख्या कीजिए।

मानवों में, ध्वनि वाक् यंत्र या कंठ द्वारा उत्पन्न होती है। वाक् यंत्र या कंठ के आर-पार दो वाक्-तन्तु इस प्रकार तानिक होते है कि उनके बीच में वायु के निकालने के लिए एक संकीर्ण झिरी बनी होती है। जब फेफड़े वायु को बलपूर्वक झिरी से बाहर निकलते है तो वाक्-तन्तु कंपित होते है जिससे ध्वनि उत्पन्न होती है। वाक्-तन्तुओ से जुड़ी मांसपेशियाँ तंतुओ को तना हुआ या ढीला कर सकती है। जब वाक्-तन्तु तने हुए और पतले होते है तब वाक् ध्वनि का प्रकार या उसकी गुणता उस वाक् ध्वनि से भिन्न होती है।

आकाश में तड़ित तथा मेघगर्जन की घटना एक समय पर तथा हमसे समान दूरी पर घटित होती है। हमें तड़ित पहले दिखाई देती है तथा मेघगर्जन बाद में सुनाई देता है। क्या आप इसकी व्याख्या कर सकते है?

ध्वनि की गति 330 m/s होती है तथा प्रकाश की गति 300,000,000 m/s होती है। प्रकाश ध्वनि की तुलना में बहुत तेजी से यात्रा करती है यही कारण है कि तड़ित पहले देखी जाती है और मेघगर्जन बाद में सुनाई देती है।

कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 के प्रश्न उत्तर विस्तार से

कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 के वस्तुनिष्ठ प्रश्न उत्तर

Q1

ध्वनि की प्रबलता का निर्धारण होता है:

[A]. कम्पन के आयाम के द्वारा।
[B]. कम्पन के आयाम तथा आवृत्ति के अनुपात द्वारा।
[C]. कम्पन की आवृत्ति के द्वारा।
[D]. कम्पन के आयाम तथा इसकी आवृत्ति के गुणनफल द्वारा।
Q2

ध्वनि का तारत्व ज्ञात किया जाता है:

[A]. इसकी आवृत्ति से
[B]. इसके आयाम से
[C]. इसकी प्रबलता से
[D]. इसकी चाल से
Q3

ध्वनि की प्रबलता घटाने के लिए हमें ध्वनि के कम्पनों

[A]. की आवृत्ति घटानी होगी।
[B]. की आवृत्ति बढ़ानी होगी।
[C]. का आयाम घटाना होगा।
[D]. का आयाम बढ़ाना होगा।
Q4

पराश्रव्य ध्वनि के कम्पनों की आवृत्ति होती है:

[A]. 20 Hz और 20,000 Hz के बीच
[B]. 20 Hz से नीचे
[C]. 20,000 Hz से उपर
[D]. 500 Hz और 10,000 Hz के बीच
हम ध्वनि को कैसे सुनते हैं?

कान के बाहरी भाग की आकृति कीप जैसी होती है। जब ध्वनि इसमें प्रवेश करती है तो यह एक नलिका से गुरजती है जिसके सिरे पर एक पतली झिल्ली दृढ़ता से तानित होती है। इसे कर्ण पटह कहते हैं। यह एक महत्वपूर्ण कार्य करता है। यह जानने के लिए कि कर्णपटह क्या कार्य करता है। ध्वनि के कंपन कर्ण पटह को कंपित करते हैं। कर्ण पटह कंपनों को आंतर कर्ण तक भेज देता है। वहाँ से संकेतों को मस्तिष्क तक भेज दिया जाता है। इस प्रकार हम ध्वनि को सुनते हैं।

तरंगों के प्रकार
    1. श्रव्य ध्वनि: ध्वनि श्रव्य परिसर के भीतर ही है अर्थात्‌ 20 हट्‌र्ज से 20000 हट्‌र्ज तक। एक नवजात शिशु में 35000 हट्‌र्ज तक की ध्वनि श्रवण करने की क्षमता होती है जो एक वयस्क के लिए 20000 हट्‌र्ज तक घट जाती है।
    2. पराश्रव्य ध्वनि: वह ध्वनि, जिनकी आवृति 20000 हट्‌र्ज से ऊँची होती है, उसे पराश्रव्य ध्वनि कहते हैं।
    3. अवश्रव्य ध्वनि: 20 हट्‌र्ज से कम आवृति वाली ध्वनियों को अवश्रव्य ध्वनि कहते हैं। जंतु अपने शिकार या अपने मार्ग में आने वाली बाधा को ज्ञात करने के लिए पराश्रव्य ध्वनियाँ उत्पन्न कर सकते हैं या सुन सकते हैं। उदाहरण के लिए पक्षी तथा चमगादड़ों उच्च आवृति के कंपन उत्पन्न कर सकते हैं। डॉलफिन, पराश्रव्य ध्वनियों द्वारा अपने शिकार की स्थिति ज्ञात करती है। कुत्ते, चीते आदि पराश्रव्य ध्वनियाँ सुनने में सक्षम होते हैं।

कक्षा 8 विज्ञान पाठ 13 के कुछ अतिरिक्त प्रश्न उत्तर

मान लीजिए धातु की एक कड़ाही पर निर्वात में किसी छड़ी से चोट मारी जाती है। क्या कड़ाही कंपित होगी? क्या हम ध्वनि सुन पाएंगे? व्याख्या कीजिए।

कड़ाही कंपित होगी। हम इसके कम्पन की ध्वनि को नहीं सुन पाएंगे क्योंकि निर्वात में ध्वनि गमन नहीं कर पाती।

हम जानते हैं कि ध्वनि उत्पन्न करने के लिए कम्पन आवश्यक है। व्याख्या कीजिए कि प्रत्येक कम्पित वस्तु द्वारा उत्पन्न ध्वनि को हम क्यों नहीं सुन पाते?

यदि कंपित वस्तु द्वारा उत्पन्न ध्वनि श्रव्य परास में आती है तो उत्पन्न ध्वनि हमें सुनाई देगी अन्यथा चाहे वस्तु कम्पन कर रही हो फिर भी हम ध्वनि नहीं सुन पाएंगे।

हमारे पास एक डोरी वाला वाद्य यंत्र है। डोरी को मध्य भाग में पहले अधिक परिमाण के बल से और फिर कम परिमाण के बल से कर्षित किया जाता है। किस स्थिति में वाद्य यंत्र अधिक प्रबलता की ध्वनि उत्पन्न करेगा।

ध्वनि की प्रबलता कंपनों के आयाम पर निर्भर करती है। जब डोरी को अधिक बल से कर्षित किया जाता है तो इसका आयाम अधिक होता है। इसलिए उस स्थिति में ध्वनि की प्रबलता अधिक होगी।

अपने क्षेत्र में ध्वनि प्रदूषण को सीमित करने के तीन उपाय सुझाइए।

अपने क्षेत्र में ध्वनि प्रदूषण को सीमित करने के तीन उपाय:

    1. सड़कों के किनारे तथा भवनों के आस-पास पेड़ लगाने चाहिए।
    2. वाहनों के हॉर्न का उपयोग कम से कम करना चाहिए।
    3. यातायात के वाहनों तथा औद्योगिक मशीनों में रवशामक लगाने चाहिए।
टाउन हॉल की इमारत बूझो के घर के समीप है। टाउन हॉल की इमारत के उपर एक घड़ी लगी है जिसमें प्रत्येक घंटे के पश्चात एक घंटी बजती है। बूझो ने यह नोट किया कि रात्रि के समय घड़ी की ध्वनि काफी अधिक प्रबल प्रतीत होती है। व्याख्या कीजिए।

रात्रि में शोर का स्तर काफी नीचा होता है। इसलिए रात्रि में दिन की अपेक्षा घड़ी की ध्वनि काफी प्रबल प्रतीत होती है।

कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13: ध्वनि के उत्तर
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 एनसीईआरटी समाधान
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 के प्रश्न उत्तर
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 एनसीईआरटी
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 एनसीईआरटी बुक
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 एनसीईआरटी किताब
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 एनसीईआरटी पुस्तक
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 की बुक
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 की किताब
कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 13 की पुस्तक
8वीं कक्षा विज्ञान पाठ 13
8वीं कक्षा विज्ञान पाठ 13 एनसीईआरटी
8वीं कक्षा विज्ञान पाठ 13 की किताब
8वीं कक्षा विज्ञान पाठ 13 के मुख्य शब्द
8वीं कक्षा विज्ञान पाठ 13 के प्रश्न उत्तर
8वीं कक्षा विज्ञान पाठ 13 अभ्यास
8वीं कक्षा विज्ञान पाठ 13 क्रिया कलाप