कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 16 एनसीईआरटी समाधान – कचरा संग्रहण एवं निपटान

कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 16 कचरा – संग्रहण एवं निपटान एनसीईआरटी समाधान मुफ्त में यहाँ से डाउनलोड करें। छठी कक्षा विज्ञान के अध्याय 16 एक सभी प्रश्नों के उत्तर तथा अभ्यास में दिए गए सभी सवाल जवाब यहाँ से पीडीएफ़ तथा विडियो में प्राप्त कर सकते हैं। विज्ञान के समाधान विडियो से तथा वर्ग 6 अध्याय 16 में दिए गए उत्तरों की मदद से विद्यार्थी अपने उत्तर स्वयं बना सकते हैं और पूरे पाठ को आसानी से समझ भी सकते हैं। कक्षा 6 विज्ञान ऑफलाइन ऐप में भी ये सभी प्रश्न उत्तर पीडीएफ़ में दिए गए हैं।

कचरे का निपटान कैसे करते हैं?

सफाई कर्चचारी कूड़ा एकत्र करके ट्रकों द्वारा निचले खुले क्षेत्रों में, जहाँ गहरे गड्‌ढे हैं, ले जाते हैं। इन खुले क्षेत्रों को भराव क्षेत्र कहते हैं। वहाँ कचरे के उस भाग को जिसका पुन: प्रयोग किया जा सकता है, उसी रूप में उपयोग न किया जा सकने वाले कचरे से पृथक किया जाता है। इस प्रकार कचरे से उपयोगी और अनुपयोगी दोनों अवश्य होते हैं। अनुपयोगी अवयव को पृथक कर लेते हैं और फिर इसे भराव क्षेत्र में फैलाकर मिट्‌टी की परत से ढक ेदते हैं। जब यह भराव क्षेत्र पूरी तरह से भर जाता है तब प्राय: इस पर पार्क अथवा खेल का मैदान बना देते हैं। लगभग अगले 15-20 वर्षों तक इस पर कोई भवन निर्माण नहीं किया जाता। कचरे के उपयोगी अवयव के निपटान के लिए भराव क्षेत्रों के पास कपोस्ट बनाने वाले क्षेत्र विकसित किए जाते हैं।

कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 16 का अध्ययन तथा प्रश्न उत्तर

कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 16 के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

क्या कचरे का निपटान केवल सरकार का ही उत्तरदायित्व है?

कचरा निपटान न केवल सरकार का उत्तरदायित्व है बल्कि प्रत्येक नागरिक की जिम्मेदारी है। अगर हम इतना कचरा पैदा करते रहेंगे तो बड़े पैमाने पर बीमारियां बढ़ेंगी। प्लास्टिक, पॉलीबैग जैसे गैर-बायोडिग्रेडेबल अपशिष्ट भी पर्यावरण के लिए हानिकारक कारकों को जोड़ते हैं। हमें कचरे के उत्पादन को कम करने के तरीकों को सुनिश्चित करना चाहिए। जहां भी संभव हो, हमें अपने दैनिक उपयोग में पुनरावर्तनीय सामग्री का उपयोग करना चाहिए।

क्या कचरे के निपटान से संबंधित समस्याओं को कम करना संभव है?

हां, कचरे के निपटान से संबंधित समस्याओं को काफी हद तक कम करना संभव है। हमें उन सामग्रियों का उपयोग करना चाहिए जो पुनर्नवीनीकरण योग्य हैं। गैर-बायोडिग्रेडेबल सामग्रियों के उपयोग से बचें या कम करें। कचरे के डिब्बे में कचरा फेंकने के दौरान, हमें बायोडिग्रेडेबल कचरे को गैर-बायोडिग्रेडेबल से अलग करना चाहिए और उन्हें अलग-अलग डिब्बे में फेंक देना चाहिए।

लाल केंचुए किस प्रकार के कचरे को कंपोस्ट में परिवर्तित नहीं करते?

सिंथेटिक कपड़े, पॉलिथीन बैग, टूटे हुए कांच, एल्यूमीनियम आवरण, नाखून और टूटे खिलौने जैसे टुकड़ों के बिना गैर-सड़ सकने वाले कचरे को लाल केंचुए द्वारा खाद में परिवर्तित नहीं किया जा सकता है।

क्या आपने अपने कंपोस्ट-गड्ढे में लाल केंचुओं के अतिरिक्त किसी अन्य जीव को भी देखा है? यदि हाँ, तो उसका नाम जानने का प्रयास कीजिए।

लाल केंचुओं के अलावा मकड़ियों, छोटे कीड़े, मक्खियों और बड़े कीड़े आदि को गड्ढे में देखा जा सकता है। खाद भी रोगाणुओं से समृद्ध होती है जिसे बिना आंखों के नहीं देखा जा सकता है।

घर में बचे हुए भोजन का आप क्या करते हैं?

हम बचे हुए भोजन को जानवरों (सड़क या सड़क पर घूमने) को खिलाने के लिए उपयोग करते हैं।

यदि आपको एवं आपके मित्रों को किसी पार्टी में प्लास्टिक की प्लेट अथवा केले के पत्ते में खाने का विकल्प दिया जाए, तो आप किसे चुनेगें और क्यों?

केले का पत्ता बेहतर विकल्प है। यह बायो-डिग्रेडेबल है और इसे आसानी से निपटाया जा सकता है। दूसरी ओर, प्लास्टिक की प्लेट में खाना अच्छा नहीं है क्योंकि प्लास्टिक नॉन-बायोडिग्रेडेबल है, यह आसानी से अपघटित नहीं होगा।

वर्मीकंपोस्टिक क्या होता है?

लाल केंचुओं की सहायता से कंपोस्ट बनाने की इस विधि को ‘वर्मीकंपोस्टिक’ कहते हैं। इस उत्तम वर्मीकंपोस्ट (खाद) को आप अपने गमलों, बगीचों एवं खेतों में डाल सकते हैं। क्या यह ‘अपशिष्ट’ से सर्वोत्तम प्राप्त करने जैसा नहीं है? आपमें से जिनके पास बड़े-बड़े खेत हैं, वे बड़े बॉक्सों में वर्मीकंपोस्ट बनाकर परीक्षण कर सकते हैं। इससे आपके बहुत से धन की बचत होगी जो आप महँगे रासायनिक उर्वरक एवं खाद खरीदने के लिए खर्च करते हैं।

पुनःचक्रण वाली प्लास्टिक

हम प्राय: प्लास्टिक की थैलियों का उपयोग पके हुए भोजन के संग्रहण के लिए करते हैं। प्राय: ये थैलियाँ खाने की वस्तुओं के रखने योग्य नहीं होती हैं। इन थैलियों में पैक किए भोजन को खाना हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। प्राय: दुकानदार प्लास्टिक की ऐसी थैलियों का उपयोग करते हैं जिनका इससे पूर्व किसी अन्य कार्य के लिए उपयोग हो चुका है। कभी-कभी कचरा बीनने वालों द्वारा एकत्र की गई प्लास्टि की थैलियों को धोकर भी उपयोग किया जाता है। इस प्रकार की पुन: चक्रण वाली प्लास्टिक की थैलियों में खाद्य-पदार्थों को रखना हानिकारक हो सकता है। खाद्य पदार्थों के संग्रहण के लिए हमें इस कार्य के लिए अनुमोदित प्लास्टिक की थैलियों के उपयोग के लिए आग्रह करना चाहिए। सभी प्रकार के प्लास्टिक गरम करने अथवा जलाने पर हानिकारक गैसे मुक्त करते हैं। ये गैसें बहुत-सी स्वास्थ्य संबंधी समस्याएँ जिनमें मानवों में कैंसर भी सम्मिलित है, उत्पन्न कर सकती हैं। सरकार ने भी प्लास्टिक के पुन: चक्रण के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

वर्ग 6 विज्ञान पाठ 16 एनसीईआरटी के प्रश्न उत्तर

क्या आपके विचार में रासायनिक उर्वरक के स्थान पर अपेक्षाकृत कंपोस्ट का उपयोग उत्तम होता है?

निम्नलिखित कारणों से रासायनिक उर्वरकों की तुलना में कोई संदेह खाद का उपयोग करना बेहतर है:

    1. कम्पोस्ट तैयार करना बहुत आसान है।
    2. खाद पर्यावरण के अनुकूल है जबकि उर्वरक हमारे स्वास्थ्य और पर्यावरण को नुकसान पहुंचा सकते हैं।
    3. कंपोस्ट हमारे पर्यावरण को प्रदूषित नहीं करती है।
    4. कम्पोस्ट जैव-अपघटित कचरे को प्राकृतिक मिट्टी में मिलाता है। यह हमारे पर्यावरण को संरक्षित करता है।
विभिन्न प्रकार के कागज के टुकड़े एकत्र कीजिए। पता कीजिए कि इनमें से किसका पुनः चक्रण किया जा सकता है?

बाजार में उपलब्ध अधिकांश कागज पुनरावर्तनीय हैं अर्थात् समाचार पत्र, नोटबुक, पत्रिकाएं, पेपर शीट, लिफाफे आदि।

लेंस की सहायता से कागजों के उन सभी टुकड़ों का प्रेक्षण कीजिए जिन्हें आपने उपरोक्त प्रश्न के लिए एकत्र किया था। क्या आप कागज की नई शीट एवं पुनः चक्रित कागज़ की सामग्री में कोई अंतर देखते हैं?

नई शीट और पुनः चक्रित शीट के बीच का अंतर काफी स्पष्ट है। आमतौर पर पुनः चक्रित कागज की गुणवत्ता नई शीट से थोड़ी कम होती है।

पैकिंग में उपयोग होने वाली विभिन्न प्रकार की वस्तुएँ एकत्र कीजिए। इनमें से प्रत्येक का किस उद्देश्य के लिए उपयोग किया था? समूहों में चर्चा कीजिए।

आमतौर पर उपयोग की जाने वाली विभिन्न प्रकार की पैकेजिंग सामग्री हैं:

    1. कार्डबोर्ड – जूता, साबुन, बल्ब और अन्य बक्से के रूप में उपयोग किया जाता है।
    2. प्लास्टिक बैग – खिलौने कवर, साड़ी बैग, शॉपिंग बैग, आदि।
    3. लकड़ी के बक्से – हार्डवेयर के लिए, फलों की टोकरी और बक्से।
    4. जूट बैग – स्कूल बैग, शॉपिंग बैग, सब्जी बैग, आदि।
एक ऐसा उदाहरण दीजिए जिसमें पैकेजिंग की मात्रा कम की जा सकती थी।

पैकेजिंग सामग्री का पुन: उपयोग करके, हम पैकेजिंग सामग्री को कम कर सकते हैं।

पैकेजिंग से कचरे की मात्रा किस प्रकार बढ़ जाती है, इस विषय पर एक कहानी लिखिए।

पैकेजिंग का मूल उद्देश्य उत्पाद को छेड़छाड़ से बचाना और उसकी ताजगी बनाए रखना है। हालांकि, अधिकांश पैकेजिंग सामग्री का उपयोग उत्पाद को सुंदर बनाने तथा आकर्षक दिखने के लिए किया जाता है। दुर्भाग्य से पैकेजिंग सामग्री का एक बड़ा हिस्सा बेकार चला जाता है और कूड़ेदान में फेंक दिया जाता है। उदाहरण के लिए, अधिकांश स्थानों पर कचरे के डिब्बे चिप्स, बिस्कुट, आदि के कूड़े से भरे हुए हैं। यह अनावश्यक रूप से कचरे की मात्रा को बढ़ाता है। यह अनावश्यक पैकेजिंग के कारण उत्पाद की लागत में भी वृद्धि करता है। हमें गंभीरता से विचार करना चाहिए कि अनावश्यक पैकेजिंग को कैसे कम किया जाए।

कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 16: कचरा – संग्रहण एवं निपटान
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 6 विज्ञान पाठ 16
कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 16 एनसीईआरटी
कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 16 की किताब
कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 16 की पुस्तक
कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 16 की बुक
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 16 की किताब
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 16 की बुक
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 16 की पुस्तक
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 16 का अध्याय
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 16 पुस्तिका उत्तर
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 16 प्रश्न उत्तर
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 16 डाउनलोड