कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 11 एनसीईआरटी समाधान – प्रकाश छायाएँ एवं परावर्तन

कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 11 प्रकाश- छायाएँ एवं परावर्तन एनसीईआरटी समाधान – सॉल्यूशंस अभ्यास में दिए गए पाठ के सभी प्रश्नो के उत्तर यहाँ सरल और आसान भाषा में दिए गए हैं। विद्यार्थियों की मदद के लिए वर्ग 6 विज्ञान अध्याय 11 के लिए एनसीईआरटी समाधान विडियो तथा पीडीएफ़ दोनों ही प्ररूपों में दिए गए हैं ताकि जरूरत के हिसाब से इन्हें प्रयोग किया जा सके। ऑफलाइन पढ़ें वाले छात्र कक्षा 6 विज्ञान ऑफलाइन ऐप भी प्रयोग कर सकते हैं जो प्ले स्टोर से मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकता है।

प्रकाश क्या है?

प्रकाश ऊर्जा का एक रूप है जो दिप्तमान वस्तुओं से उत्सर्जित होता है। प्रकाश निम्नलिखित प्रकार का होता है:
1. दृश्य प्रकाश: वह प्रकाश जिसकी उपस्थिति में मानव नेत्र किसी वस्तु को देख पाते हैं, दृश्य प्रकाश कहलाता है।
2. अदृश्य प्रकाश: वह प्रकाश जिसकी उपस्थिति में मानव नेत्र किसी वस्तु को नहीं देख पाते हैं, अदृश्य प्रकाश कहलाता है।
प्रकाश के गुण:

    1. प्रकाश सीधी रेखा में गमन करता है।
    2. प्रकाश विद्युत चुम्बकीय विकिरण है।
    3. प्रकाश निर्वात में भी गमन करता है।
    4. जब प्रकाश एक माध्यम से दूसरे माध्यम में जाता है तो उसका तरंग दैर्ध्य तथा वेग बदल जाता है, जबकि आकृति नियत रहती है।

कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 11 का अध्ययन तथा प्रश्न उत्तर

कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 11 के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

क्या आप ऐसी आकृति बनाने के बारे में सोच सकते हैं जो एक ढंग से रखे जाने पर वृत्ताकार छाया बनाए तथा दूसरे ढंग से रखे जाने पर आयताकार छाया बनाए?

एक बेलनाकार आकृति दो तरह की छाया बना सकती है। जब शीर्ष वृत्ताकार दृश्य प्रकाश का सामना करता है, तो एक गोलाकार छाया बनती है। जब इसका घुमावदार पक्ष प्रकाश का सामना करता है, तो यह एक आयताकार छाया बनती है।

किसी अँधेरे कमरे में यदि आप अपने चेहरे के सामने कोई दर्पण रखें तो क्या आप दर्पण में अपना परावर्तन देखेंगे?

नहीं, प्रतिबिंब को देखने के लिए प्रकाश के स्रोत की आवश्यकता होती है। हम केवल प्रकाश की उपस्थिति में ही परावर्तन को देख सकते हैं।

दिप्त तथा अदिप्त वस्तुएँ क्या होती हैं?

वे वस्तुएँ जिनसे प्रकाश निकलता है, दिप्त तथा जिनसे प्रकाश नहीं निकलता है अदिप्त वस्तुएँ कहलाती हैं। जैसे – तारे, लैम्प, बल्ब दिप्त हैं। चाँद, टेबल, र्इंट अदिप्त हैं।

विवर्तन से आप क्या समझते हैं?

जब प्रकाश अत्यंत छोटे अपारदर्शी वस्तु से टकराता है तो वस्तु के किनारे से जाने वाला प्रकाश मुड़ जाता है इस घटना को प्रकाश का विवर्तन कहा जाता है।

प्रतिबिम्ब तथा छाया में अंतर

प्रतिबिम्ब छाया
प्रतिबिम्ब तब बनता है जब प्रकाश किसी दर्पण या अन्य चमकीली वस्तु से परावर्तित होता है।छया तब बनती है जब कोई वस्तु प्रकाश को किसी सतह पर टकराने से रोकती है।
प्रतिबिम्ब सभी जानकारियाँ देता है जैसे आकार, रंग आदि।छाया का रंग सदैव काला होता है।

किरण पुंज कितने प्रकार के होते हैं?

किरणों के समूह को किरण पुंज कहा जाता है। किरण पुंज तीन प्रकार के होते हैं:

    • समांतर किरण पुंज: वह किरण पुंज जिसके सभी किरणें एक-दूसरे के समांतर होती हैं, समांतर किरण पुंज कहलाती है।
    • अभिसारी किरण पुंज: वह किरण पुंज जिसके सभी किरणें एक बिन्दु पर मिलती हैं, अभिसारी किरण पुंज कहलाती है।
    • अपसारी किरण पुंज: वह किरण पुंज जिसके सभी किरणें एक बिन्दु से फैलती हैं, अपसारी किरण पुंज कहलाती है।
ग्रहण कितने प्रकार के होते हैं?

ग्रहण निम्नलिखित दो प्रकार के होते है:

    • चंद्र ग्रहण: जब सूर्य तथा चाँद के बीच पृथ्वी आ जाती है तो चंद्रग्रहण होता है। चंद्रग्रहण में चंद्रमा पर पृथ्वी की छाया पड़ती है।
    • सूर्य ग्रहण: जब सूर्य तथा पृथ्वी के बीच चाँद आ जाता है तो सूर्य ग्रहण होता है। सूर्य ग्रहण में पृथ्वी पर चाँद की छाया पड़ती है।
परावर्तन के नियम क्या हैं?

प्रकाश का किसी चमकीली सतह से टकराकर उसी माध्यम (जिस माध्यम से आता है) में लौट जाने की घटना प्रकाश का परावर्तन कहलाता है। परावर्तन के नियम:

    1. आपतित किरण, परावर्तित किरण तथा आपतन बिन्दु पर डाला गया लम्ब तीनों एक ही तल में होते हैं।
    2. आपतन कोण परावर्तन कोण के बराबर होता है।
    3. यदि प्रकाश समतल दर्पण पर लम्बवत आपतित होता है तो उसी पथ पर विपरीत दिशा में परावर्तित हो जाता है।
प्रतिबिंब के प्रकार

वास्तविक प्रतिबिंब: किसी वस्तु से आती हुई प्रकाश किरणों के परावर्तन या अपवर्तन के बाद किरणों के वास्तविक कटान से बना प्रतिबिम्ब वास्तविक प्रतिबिम्ब कहलाता है। वास्तविक प्रतिबिम्ब वस्तु के अपेक्षा उल्टा होता है। इसे पर्दे पर उतारा जा सकता है।
काल्पनिक प्रतिबिम्ब: किसी वस्तु से आती हुई प्रकाश किरणों के परावर्तन या अपवर्तन के बाद किरणों के अभाषी कटान से बना प्रतिबिम्ब काल्पनिक प्रतिबिम्ब कहलाता है। काल्पनिक प्रतिबिम्ब वस्तु के सापेक्ष सीधा होता है। इसे पर्दे पर नहीं उतारा जा सकता।

कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 11: प्रकाश – छायाएँ एवं परावर्तन
कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 11 एनसीईआरटी
कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 11 पुस्तक
कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 11 की किताब
कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 11 पाठ्यपुस्तक
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 11
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 11 एनसीईआरटी
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 11 की पुस्तक
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 11 की किताब
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 11 अभ्यास के प्रश्न उत्तर