एनसीईआरटी समाधान कक्षा 4 हिंदी अध्याय 13 हुदहुद

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 4 हिंदी रिमझिम अध्याय 13 हुदहुद के प्रश्न उत्तर, रिक्त स्थान, मिलन करने वाले प्रश्नों आदि के हल सीबीएसई सत्र 2022-2023 के लिए विद्यार्थी यहाँ से प्राप्त कर सकते हैं। कक्षा 4 हिंदी रिमझिम पाठ 13 की कहानी का मुख्य पात्र एक चिड़िया हुदहुद है जिसके सिर पर एक सुंदर सी कलगी होती है। चिड़िया के सिर पर कलगी कैसे आई, इस बात को बड़े रोचक ढंग से पेश किया गया है। लगभग सभी बच्चों को यह कहानी बहुत मनोरंजक लगती है।

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 4 हिंदी रिमझिम अध्याय 13

कक्षा 4 सभी विषयों के लिए ऐप

iconicon

कक्षा 4 हिंदी अध्याय 13: कहानी का सारांश

इस कहानी में एक पक्षी का वर्णन है जिसको हुदहुद कहते हैं इसको कलगी कैसे मिली इस सब का वर्णन है। एक बार सुलेमान नामक बादशाह अपने उड़नखटोले से कही जा रहे थे। धूप से वह परेशान हो रहा था तो उसने गिद्धों से अपने ऊपर पंख फैलाकर छाया करने को कहा लेकिन गिद्धों ने मना कर दिया। बादशाह जब आगे बढ़ा तो उसने यही बात हुदहुद पक्षियों के मुखिया से कही तो उसने अपने झुण्ड के सारे पक्षियों को आदेश देकर बादशाह के ऊपर छाया करवा दी। सुलेमान ने खुश होकर उन्हें कुछ माँगने को कहा तो झुण्ड के मुखिया ने कहा कि हमारे सिर पर कलगी नहीं है इसलिए अगर आप देना चाहते हैं तो हमारे सर पर सोने की कलगी दे दीजिये। सुलेमान ने कहा कि इसका फल तुम्हारे लिए अच्छा नहीं होगा इसलिए फिर से विचार कीजिये। मुखिया ने कहा कि उसने अपने साथियों से बहुत विचार विमर्श करने के बाद ही यह माँगा है। सुलेमान ने उन्हें वरदान दे दिया अब लोग हुदहुद की सोने की कलगी के कारण उनके पीछे पड़ गए अंत में परेशान होकर वे बादशाह के पास पहुंचे और अपनी व्यथा कहने लगे तो सुलेमान ने कहा मैंने तो पहले भी तुम्हें आगाह किया था। बादशाह ने कहा कि आज से तुम्हारा ताज सोने का नहीं बल्कि सामान्य पंखों का हुआ करेगा।

हुदहुद को कहीं ‘हजामिन’ चिड़िया और कहीं ‘पदुबया’ के नाम से पुकारते हैं। क्यों

उत्तर:
हुदहुद का हजामिन नाम इसकी चोंच जिसका आकार नाख़ून काटने वाली नरहनी से मिलता है इसी वजह से इसका एक नाम हजामिन भी है। दूब घास में से कीड़े बीनने के कारण इसका एक नाम पदुबया भी है।

हुदहुद कैसा भोजन खाते होंगे?

उत्तर:
हुदहुद कीड़े मकोड़े तथा फल आदि खाते हैं।

हुदहुद के मुखिया ने सोने के ताज को पंख वाले ताज में बदलने को क्यों कहा?

उत्तर:
सोने के ताज के कारण लोग हुदहुद को मारने लगे थे इसलिए मुखिया ने सोने की कलगी को पंखों की कलगी में बदलने की मांग रखी।

कक्षा 4 हिन्दी का अध्याय 1 को छात्र कितने समय में तैयार कर सकते हैं?

कहानी की रोचकता को देखते हुए छात्र इसे एक दिन में तैयार कर सकते हैं।

क्या कक्षा 4 हिन्दी अध्याय 1 को छात्र आसानी से तैयार कर सकते हैं?

कहानी भाषा आसान है तथा माध्यम आकार की है इसलिए कहानी को याद करने में छात्रों को किसी प्रकार की कठिनाई का सामना नहीं करना पढ़ेगा

क्या हिन्दी कक्षा 4 के अध्याय 1 छात्रों के लिए रुचिकर है?

यह एक जिज्ञासा पैदा करने वाली कहानी है अतः बच्चे अवश्य ही इसे पढ़ना चाहेंगे।

हिन्दी कक्षा 4 के अध्याय 1 को पढ़ते समय किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए है?

कहानी में जो शब्द कठिन लगते हैं उनका अर्थ ज्ञात कर लेना चाहिए तथा प्रश्नों के सटीक उत्तर देने चाहिए।