एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 गणित अध्याय 6

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 गणित अध्याय 6 रैखिक असमिकाएँ के हल हिंदी में सभी सवाल जवाब सीबीएसई सत्र 2022-2023 के लिए यहाँ से प्राप्त करें। 11वीं कक्षा गणित के पाठ 6 के सभी प्रश्नों के हल पीडीएफ और विडियो के माध्यम से यहाँ से निशुल्क प्राप्त करें।

कक्षा 11 गणित प्रश्नावली 6.1 एनसीईआरटी समाधान
कक्षा 11 गणित प्रश्नावली 6.2 एनसीईआरटी समाधान
कक्षा 11 गणित प्रश्नावली 6.3 एनसीईआरटी समाधान
कक्षा 11 गणित विविध प्रश्नावली 6 एनसीईआरटी समाधान
कक्षा 11 गणित के लिए एनसीईआरटी समाधान

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 गणित अध्याय 6

रैखिक असमिकाएँ

ऐसे कथन जिसमें निम्न चिह्नों ‘>’, ‘<’, ‘≥’, ‘≤’ का प्रयोग किया जाता हैं; असमिका कहलाती है। उदाहरणतः 3 > 2, x ≤ 5, x + y ≥ 10. रैखिक असमिकाएं विभिन्न प्रकार की होती हैं जैसे: एक चर राशी वाली रैखिक असमिका, दो चर राशियों वाली रैखिक असमिका।

असमिकाओं की उपयोगिता

असमिकाओं का अध्ययन विज्ञान, गणित, सांख्यिकी, इष्टतमकारी समस्याओं, अर्थशास्त्र, मनोविज्ञान इत्यादि से संबंधित समस्याओं को हल करने में अत्यंत उपयोगी है।

कक्षा 11 गणित पाठ 6 का परिचय

प्रस्तुत अध्याय में एक व दो चर राशियों पर आधारित तीन प्रश्नावलियां तथा एक विविध प्रश्नावली है। प्रश्नावली 6.1 में कुल 26 प्रश्न हैं सभी प्रश्न एक चर राशी वाले रैखिक असमिकाओं को दर्शाते हैं। प्रश्नावली 6.2 में कुल 10 प्रश्न हैं प्रश्न, एक और दो चर राशी वाले हैं। प्रश्नावली 6.3 में कुल 15 प्रश्न हैं प्रश्नों का आलेखीय निरूपण द्वारा हल किया जाना है। विविध प्रश्नावली में मिश्रित प्रकार के प्रश्न हैं।

प्रश्नावली 6.1 से सम्बंधित अनुच्छेद

इस प्रश्नावली और इससे सम्बंधित अनुच्छेदों में एक चर राशी के रैखिक असमिकाओं का बीजगणितीय हल और उनका आलेखीय निरूपण ज्ञात करना। रैखिक समीकरणों को हल करते समय दिए गए कुछ नियमों को भी ध्यान में रखना आवश्यक है। प्रश्नावली से पूर्व दिए गए उदाहरणों के माध्यम से प्रश्नों को हल करने में आसानी होगी।

प्रश्नावली 6.2 से सम्बंधित अनुच्छेद

यहाँ पर दो चर राशियों वाले रैखिक समीकरनों का बीजगणितीय हल तथा उनका आलेख निरूपण कैसे किया जाता है उनको उदाहरण सहित समझाया गया है। प्रश्नों को हल करने सम्बन्धी कुछ नियम भी दिए गए हैं।

प्रश्नावली 6.3 से सम्बंधित अनुच्छेद

इस प्रश्नावली और इसके अंतर्गत आने वाले अनुच्छेदों में दो चर राशियों की असमिका निकाय का हल तथा उनका आलेखीय निरूपण करना उदाहरण के माध्यम से समझाया गया है।