एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 गणित अध्याय 15

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 गणित अध्याय 15 सांख्यिकी के प्रश्न उत्तर अभ्यास के सभी प्रश्नों के हल सीबीएसई सत्र 2022-2023 के लिए यहाँ से प्राप्त करें। कक्षा 11 गणित पाठ 15 के सभी प्रश्नों के हल यहाँ दिए गए पीडीएफ और विडियो के माध्यम से आसानी से समझे जा सकते हैं।

कक्षा 11 गणित प्रश्नावली 15.1 एनसीईआरटी समाधान
कक्षा 11 गणित प्रश्नावली 15.2 एनसीईआरटी समाधान
कक्षा 11 गणित प्रश्नावली 15.3 एनसीईआरटी समाधान
कक्षा 11 गणित विविध प्रश्नावली 15 एनसीईआरटी समाधान
कक्षा 11 गणित के लिए एनसीईआरटी समाधान

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 गणित अध्याय 15

सांख्यिकी का सरोकार किसी विशेष उद्देश्य के लिए एकत्रित आँकड़ों से होता है। हम आँकड़ों का विश्लेषण एवं व्याख्या कर उनके बारे में निर्णय लेते हैं।

ऐतिहासिक पृष्ठभूमि

सांख्यिकी का उद्भव लैटिन शब्द ‘status’ से हुआ है जिसका अर्थ एक राजनैतिक राज्य होता है। इससे पता लगता है कि सांख्यिकी मानव सभ्यता जितनी पुरानी है। शायद वर्ष 3050 ई० पू० में यूनान में पहली जनगणना की गई थी। भारत में भी लगभग 2000 वर्ष पहले प्रशासनिक आँकड़े एकत्रित करने की कुशल प्रणाली थी। विशेषतः चंद्रगुप्त मौर्य (324 – 300 ई० पू०) के राज्य काल में कौटिल्य (लगभग 300 ई० पू०)के अर्थशास्त्र में जन्म और मृत्यु के आँकड़े एकत्रित करने की प्रणाली का उल्लेख मिला है। अकबर के शासनकाल में किए गये प्रशासनिक सर्वेक्षणों का वर्णन अबुलफज़ल द्वारा लिखित पुस्तक आइने-अकबरी मे दिया गया है।

लंदन के केप्टन जॉन ग्रौंत (1620 – 1675) को उनके द्वारा जन्म और मृत्यु की सांख्यिकी के अध्ययन के कारण उन्हें जन्म और मृत्यु सांख्यिकी का जनक माना जाता है। जैकब बेर्नौल्ली (1654-1705) ने 1713 मे प्रकाशित अपनी पुस्तक अर्स कांजेक्टंदी में बड़ी संख्याओं के नियम को लिखा है। सांख्यिकी का सैद्धांतिक विकास सत्रहवीं शताब्दी के दौरान खेलों और संयोग घटना के सिद्धांत के परिचय के साथ हुआ तथा इसके आगे भी विकास जारी रहा।

एक अंग्रेज फ्रांसिस गल्टों (1822-1921) ने जीव सांख्यिकी के क्षेत्र में सांख्यिकी विधियों के उपयोग का मार्ग प्रशस्त किया। कार्ल पेअरसन (1857 – 1936) ने काई वर्ग परीक्षण तथा इंग्लैंड में सांख्यिकी प्रयोगशाला की स्थापना के साथ सांख्यिकीय अध्ययन के विकास में बहुत योगदान दिया है। सर रोनाल्ड ए. फिशर (1890 – 1962) जिन्हें आधुनिक सांख्यिकी का जनक माना जाता है, ने इसे विभिन्न क्षेत्रें जैसे अनुवांशिकी, जीव-सांख्यिकी, शिक्षा, कृषि आदि में लगाया।

कक्षा 11 गणित पाठ 15 का परिचय

इस अध्याय में 3 प्रश्नावलियां हैं तथा एक विविध प्रश्नावली है। प्रश्नावली 15.1 में कुल 12 प्रश्न हैं। प्रश्नावली 15.2 में 10 प्रश्न हैं। प्रश्नावली 15.3 में 5 प्रश्न हैं। इसी प्रकार विविध प्रश्नावली में 7 प्रश्न हैं।

प्रश्नावली 15.1 पर आधारित अनुच्छेद

प्रश्नावली 15.1 में दिए गए प्रश्न अनुच्छेद प्रकीर्णन की माप, माध्य विचलन पर आधारित हैं तथा उदाहरणों के माध्यम से समझाया गया है।

प्रश्नावली 15.2 पर आधारित अनुच्छेद

प्रश्नावली 15.2 में दिए गए प्रश्न अनुच्छेद माध्य विचलन की परिसीमाएँ, प्रसरण और मानक विचलन, मानक विचलन, एक असतत बारंबारता बंटन का मानक विचलन पर आधारित हैं।

प्रश्नावली 15.3 पर आधारित अनुच्छेद

इस प्रश्नावली में दिए गए प्रश्न अनुच्छेद बारंबारता बंटनों का विश्लेषण, दो समान माध्य वाले बारंबारता बंटनों की तुलना पर आधारित हैं। प्रश्नों को हल करने से पहले उदाहरणों पर ध्यान देना आवश्यक है।