कक्षा 8 गणित अध्याय 8 एनसीईआरटी समाधान – राशियों की तुलना

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 8 गणित अध्याय 8 राशियों की तुलना की प्रश्नावली (एक्सरसाइज) 8.1, 8.2 तथा प्रश्नावली 8.3 के हल हिंदी तथा अंग्रेजी माध्यम में यहाँ से प्राप्त किए जा सकते हैं। सभी सवालों के हल तथा जवाब विस्तार पूर्वक आसान भाषा में दिए गए हैं। 8वीं गणित के विद्यार्थी अध्याय 8 एक लिए समाधान शैक्षणिक सत्र 2022-2023 के लिए यहाँ से प्राप्त करें। सभी समाधान मुफ्त हैं तथा नई एनसीईआरटी किताबों के अनुसार बनाए गए हैं। ऐप का प्रयोग करने वाले विद्यार्थी कक्षा 8 गणित ऐप निशुल्क डाउनलोड करें।

कक्षा 8 गणित अध्याय 8 के लिए एनसीईआरटी समशन

कक्षा 8 गणित अध्याय 8 पर बहुविकल्पीय (MCQ) प्रश्न उत्तर

Q1

एक कमीज जिसका अंकित मूल्य ₹800 था, ₹680 में बेची गयी। इस कमीज़ पर दिये गये बट्टे की दर है:

[A]. 10%
[B]. 15%
[C]. 20%
[D]. 25%
Q2

यदि 10 कमीज़ों का क्रय मूल्य 8 कमीज़ों के विक्रय मूल्य जितना है, तो इस सौदे पर होगा:

[A]. 20% हानि
[B]. 20% लाभ
[C]. 25% हानि
[D]. 25% लाभ
Q3

चक्रवृद्धि ब्याज पर दिये गये ₹1600 का 5% वार्षिक ब्याज की दर से अर्धवार्षिक संयोजित होने पर एक वर्ष बाद मिश्रधन होगा:

[A]. ₹1640
[B]. ₹1764
[C]. ₹1680
[D]. ₹1681
Q4

यदि x का 90%, 315 km है, तो x का मान है:

[A]. 325 m
[B]. 350 m
[C]. 325 km
[D]. 350 km

8वीं कक्षा अध्याय 8 की मुख्य तथ्य कौन कौन से हैं?

8वीं कक्षा अध्याय 8 की मुख्य अवधारणाएँ:

    • बटा्ट एक प्रकार की छूट (या कमी) है जो अंकित मूल्य पर दी जाती है। बट्टा = अंकित मूल्य – बिक्री मूल्य
    • जब बट्टाट प्रतिशत दिया हो, तो बट्टे को परिकलित किया जा सकता है। बट्टा = अंकित मूल्य का बट्टा %
    • किसी वस्तु को खरीदने के बाद, उस पर किये गये अतिरिक्त व्यय उसके क्रय मूल्य में सम्मिलित कर लिये जाते हैं और ये उपरिव्यय कहलाते हैं। क्रय मूल्य = खरीद वाला मूल्य + उपरिव्यय
    • किसी वस्तु की बिक्री पर सरकार द्वारा बिक्री कर लिया जाता है और इसे बिल की राशि में सम्मिलित कर लिया जाता है। परंतु आजकल बिक्री मूल्यों में एक कर और सम्मिलित होता है जिसे वैट (VAT) कहते हैं।
    • ब्याज वार्षिक संयोजित होता है, का अर्थ है कि पिछले मूलधन पर वार्षिक ब्याज प्रतिवर्ष मूलधन में जोड़कर नया मूलधन प्राप्त होता है। इसी प्रकार, ब्याज अर्ध वार्षिक संयोजित होता है का अर्थ है कि ब्याज पिछले मूलधन में प्रत्येक आधे वर्ष के बाद जोड़ कर नया मूलधन बनाया जाता है।
    • वह समय अवधि जिसके बाद प्रत्येक बार ब्याज को पिछले मूलधन में जोड़कर नया मूलधन बनाया जाता है, रूपांतरण अवधि कहलाती है।
    • जब ब्याज को अर्ध वार्षिक संयोजित किया जाता है, तो एक वर्ष में 6 मास वाली दो रूपांतरण अवधियाँ होती हैं।
बताइए कि निम्नलिखित कथन सत्य हैं या असत्य?

सत्य या असत्य कथन:

    1. जब ब्याज अर्धवार्षिक संयोजित किया जाता है, तो एक वर्ष में रूपांतरण अवधियों की संख्या 4 होती है।
    2. अर्नव ₹600 मूल्य की एक पुस्तक खरीदता है। यदि बिक्री कर की दर 7% है, तो उसके द्वारा देय कुल राशि ₹642 होगी।
    3. कोई वस्तु अंकित मूल्य पर 15% का बट्टा देने के बाद ₹680 में बेची गयी। उस वस्तु का अंकित मूल्य ₹800 था।
    4. उपरिव्यय, यदि हों तो, कभी – कभी क्रय मूल्य में सम्मिलित कर लिये जाते हैं।

सत्य असत्य कथनों के उत्तर:

    1. असत्य
    2. सत्य
    3. सत्य
    4. असत्य

कक्षा 8 अध्याय 8 के कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

यदि किसी शहर में 60% व्यक्ति क्रिकेट पसंद करते हैं, 30% फुटबाल पसंद करते हैं और शेष अन्य खेल पसंद करते हैं, तो ज्ञात कीजिए कि कितने प्रतिशत व्यक्ति अन्य खेल पसंद करते हैं? यदि कुल व्यक्ति 50 लाख हैं तो प्रत्येक प्रकार के खेल को पसंद करने वाले व्यक्तियों की यथार्थ संख्या ज्ञात कीजिए।

व्यक्तियों का प्रतिशत, जो क्रिकेट पसंद करते हैं = 60%
व्यक्तियों का प्रतिशत, जो फुटबाल पसंद करते हैं = 30%
व्यक्तियों का प्रतिशत, जो अन्य खेल पसंद करते हैं = 100% – (60% + 30%) = 10%
अब, व्यक्तियों की संख्या, जो क्रिकेट पसंद करते हैं = 50,00,000 का 60% = 30,00,000
और, व्यक्तियों की संख्या, जो फुटबाल पसंद करते हैं = 50,00,000 का 30% = 15,00,000
व्यक्तियों की संख्या, जो अन्य खेल पसंद करते हैं = 50,00,000 का 10% = 5,00,000
अतः, व्यक्तियों की संख्या 5 लाख, जो अन्य खेल पसंद करते हैं ।

विद्यार्थियों में से 72% विद्यार्थी गणित में अच्छे हैं। कितने विद्यार्थी गणित में अच्छे नहीं हैं?

कुल विद्यार्थी = 25
विद्यार्थी, जो गणित में अच्छे हैं = 72% of 25 = 18
विद्यार्थी, जो गणित में अच्छे नहीं हैं = 25 – 18 = 7
अतः, 7 विद्यार्थी गणित में अच्छे नहीं हैं।