कक्षा 8 गणित अध्याय 4 एनसीईआरटी समाधान – प्रायोगिक ज्यामिति

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 8 गणित अध्याय 4 प्रायोगिक ज्यामिति की एक्सरसाइज प्रश्नावली 4.1, 4.2, 4.3, 4.4 और प्रश्नावली 4.5 के सभी प्रश्नों के हल विस्तार से समझाए गए हैं। 8वीं कक्षा गणित पाठ 4 के सभी प्रश्नों के सत्र 2022-2023 के अनुसार संशोधित किया गया है। प्रश्नों के हल को पहले से अधिक सरल बनाया गया है ताकि विद्यार्थी को कक्षा 8 गणित अध्याय 4 के अभ्यास में कोई दिक्कत न हो। मोबाइल का प्रयोग करने वाले विद्यार्थी कक्षा 8 गणित के लिए ऐप का प्रयोग करें।

कक्षा 8 गणित अध्याय 4 के लिए एनसीईआरटी समाधान

कक्षा 8 गणित अध्याय 4 पर बहुविकल्पीय (MCQ) प्रश्न उत्तर

Q1

निम्न में से किसके लिए, विकर्ण परस्पर समद्विभाजित करते हैं?

[A]. समांतर चतुर्भुज
[B]. चतुर्भुज
[C]. समलंब
[D]. वर्ग
Q2

निम्न में से किस के लिए, सभी कोण बराबर होते हैं?

[A]. पतंग
[B]. समलंब
[C]. आयत
[D]. समचतुर्भुज
Q3

निम्न में से किस आकृति में, विकर्ण परस्पर लंब होते हैं?

[A]. पतंग
[B]. आयत
[C]. समलंब
[D]. समांतर चतुर्भुज
Q4

निम्न में से किस आकृति के लिए विकर्ण बराबर होते हैं?

[A]. समलंब
[B]. आयत
[C]. समचतुर्भुज
[D]. समांतर चतुर्भुज

बताइए कि निम्नलिखित कथन सत्य हैं या असत्य?

सत्य तथा असत्य कथन छांटिए:

    1. प्रत्येक आयत एक समांतर चतुर्भुज होता है।
    2. प्रत्येक समचतुर्भुज एक पतंग होता है।
    3. प्रत्येक समांतर चतुर्भुज एक समलंब होता है।
    4. प्रत्येक पतंग एक समलंब होता है।
    5. प्रत्येक पतंग एक समांतर चतुर्भुज होता है।
    6. एक आयत के विकर्ण परस्पर लंब होते हैं।
    7. एक अद्वितीय समांतर चतुर्भुज की रचना करने के लिए उसकी केवल दो भुजाओं की लंबाइयों की आवश्यकता होती है।

उपरोक्त सत्य असत्य कथनों के उत्तर:

    1. सत्य
    2. सत्य
    3. सत्य
    4. असत्य
    5. असत्य
    6. असत्य
    7. असत्य
चतुर्भुजों के गुणधर्म कौन कौन से हैं?

चतुर्भुजों के गुणधर्म:

    • एक बहुभुज के एक ही क्रम में लिये गये सभी बहिष्कोणों का योग 360˚ होता है।
    • समलंब वह चतुर्भुज है जिसमें सम्मुख भुजाओं का एक युग्म समांतर होता है।
    • पतंग वह चतुर्भुज है, जिसमें आसन्न भुजाओं के दो युग्म बराबर होते हैं।
    • समांतर चतुर्भुज वह चतुर्भुज है, जिसमें सम्मुख भुजाओं का प्रत्येक युग्म समांतर होता है।
    • समचतुर्भुज वह समांतर चतुर्भुज है, जिसमें आसन्न भुजाएँ बराबर होती हैं।
    • आयत वह समांतर चतुर्भुज है, जिसका एक कोण 90˚ होता है।
    • वर्ग वह समांतर चतुर्भुज है, जिसमें आसन्न भुजाएँ बराबर होती हैं और एक कोण 90˚ का होता है।
    • एक समांतर चतुर्भुज में सम्मुख भुजाएँ बराबर होती हैं, सम्मुख कोण बराबर होते हैं तथा विकर्ण परस्पर समद्विभाजित करते हैं।
    • एक समचतुर्भुज में विकर्ण परस्पर समकोण पर प्रतिच्छेद करते हैं।
    • एक आयत में विकर्ण बराबर होते हैं।
चतुर्भुज की रचना कब संभव होती है:

चतुर्भुजों की रचना से संबंधित तथ्य:

    1. एक चतुर्भुज की अद्वितीय रूप से रचना की जा सकती है, यदि उसकी चारों भुजाओं और एक विकर्ण की लंबाइयाँ दी हुई हों।
    2. एक चतुर्भुज की अद्वितीय रूप से रचना की जा सकती है, यदि उसकी तीन भुजाओं और दोनों विकर्णों की लंबाइयाँ दी हुई हों।
    3. एक चतुर्भुज की अद्वितीय रूप से रचना की जा सकती है, यदि इसकी दो आसन्न भुजाएँ और तीन कोण दिये हों।
    4. एक चतुर्भुज की अद्वितीय रूप से रचना की जा सकती है, यदि इसकी तीन भुजाएँ और दो अंतर्गत कोण दिये हों।
कक्षा 8 गणित प्रश्नावली 4.1 के हल
कक्षा 8 गणित प्रश्नावली 4.2 के हल
कक्षा 8 गणित प्रश्नावली 4.3 के हल
कक्षा 8 गणित 4.3
कक्षा 8 गणित प्रश्नावली 4.4 के हल
कक्षा 8 गणित प्रश्नावली 4.5 के हल
कक्षा 8 गणित एक्सर्साइज़ 4.5