कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 12 एनसीईआरटी समाधान – विद्युत्‌ तथा परिपथ

कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 12 विद्युत्‌ तथा परिपथ एनसीईआरटी समाधान – सॉल्यूशंस शैक्षणिक सत्र 2022-2023 के लिए यहाँ से मुफ्त में डाउनलोड करें। वर्ग 6 विज्ञान अध्याय 12 के प्रत्येक प्रश्न में दिए गए विद्युत परिपथ को उपयुक्त चित्रों के माध्यम से समझाया गया है। यदि किसी छात्र को पीडीएफ़ में दिए गए समाधान से न समझ आए तो वह विडियो समाधान की मदद लेकर अध्याय 12 के प्रत्येक प्रश्न को आसानी से समझ सकता है। मोबाइल से पढ़ने वाले छात्र कक्षा 6 विज्ञान हिन्दी मेडियम ऐप डाउनलोड करके पढ़ सकते हैं।

विद्युत सेल क्या होता है?

विद्युत सेल में संचित रासायनिक पदार्थों से सेल विद्युत उत्पन्न करता है। जब विद्युत-सेल में संचित रासायनिक पदार्थ प्रयोग कर लिए जाते हैं तब बिद्युत-सेल, विद्युत पैदा करना बंद कर देता है। टॉर्च के बल्ब को विद्युत, विद्युत-सेल से मिलती है। विद्युत-सेल का उपयोग विद्युत स्रोत के रूप में अलार्म घड़ी, कलाई घड़ी, रेडियो, कैमरा तथा अन्य युक्तियों में किया जाता है। इसके एक ओर धातु की टोपी तथा दूसरी ओर धातु की डिस्क (चक्रिका) होती है। विद्युत-सेल के ऊपर एक धन (+) चिन्ह तथा एक ऋण (-) चिन्ह होता है। विद्युत-सेल में धातु की टोपी धनात्मक सिरा तथा धातु की डिस्क ऋणात्मक सिरा कहलाता है। सभी विद्युत-सेलों में दो सिरे होते हैं, जिसमें एक धनात्मक (टर्मिनल) सिरा तथा दूसरा ऋणात्मक होता है।

कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 12 का अध्ययन तथा प्रश्न उत्तर

कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 12 के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

विद्युत-स्विच को उपयोग करने का क्या प्रयोजन है? कुछ विद्युत-साधित्रों के नाम बताइए जिनमें स्विच उनके अंदर ही निर्मित होते हैं।

एक स्विच एक सरल उपकरण है जो या तो विद्युत परिपथ को तोड़ता है या इसे पूरा करता है। घरों में बिजली के बल्बों तथा अन्य उपकरणों में इस्तेमाल होने वाले स्विच एक ही सिद्धांत पर काम करते हैं। रेडियो, टीवी, मोबाइल और बिजली के खिलौने में स्विच उनके अंदर ही निर्मित होते हैं।

किसी वस्तु के साथ “चालक-परीक्षित” का उपयोग करके यह देखा गया कि बल्ब दीप्तिमान होता है। क्या इस वस्तु का पदार्थ विद्युत-चालक है या विद्युत-रोधक? व्याख्या कीजिए।

क्योंकि वस्तु धारा प्रवाह करने की अनुमति देता है और विद्युत परिपथ को पूरा करते हुए बल्ब को दीप्तिमान करता है। अतः, वस्तु विद्युत-चालक है।

आपके घर में स्विच की मरम्मत करते समय विद्युत-मिस्तरी रबड़ के दस्ताने क्यों पहनता है?

विद्युत-मिस्तरी अक्सर तांबे के तारों को छूते हैं या वे गलती से तारों (विद्युत धारा ले जाने वाले तारों) के संपर्क में आ सकते हैं। चूंकि मानव शरीर एक अच्छा विद्युत चालक है, इसलिए विद्युत-मिस्तरी को झटका लग सकता है। रबर एक विद्युत रोधक है। अतः, बिजली के झटके या धारा के प्रवाह से खुद को बचाने के लिए बिजली कर्मचारी मरम्मत करते समय रबर के दस्ताने का उपयोग करते हैं।

विद्युत-मिस्तरी द्वारा उपयोग किए जाने वाले औजार, जैसे – पेचकस और प्लायर्स के हत्थों पर प्रायः प्लास्टिक या रबड़ के आवरण चढ़े होते हैं। क्या आप इसका कारण समझा सकते हैं?

प्लास्टिक या रबड़ विद्युत रोधक होते हैं और विद्युत प्रवाह के साथ सीधे संपर्क से बचने में मदद करते हैं। विद्युत रोधक की मदद के बिना, प्लायर्स और पेचकस जैसे बिजली के उपकरणों का उपयोग, उपयोगकर्ता को बिजली का झटका देगा। जब विद्युत-मिस्तरी इन बिजली के तारों को प्लास्टिक या रबर से ढके इन उपकरणों से छूते हैं, तो उनके शरीर में विद्युत धारा प्रवाहित नहीं होती, जिससे वे किसी भी दुर्घटना से सुरक्षित हो जाते हैं।

बल्ब क्या होता है और यह किस प्रकार कार्य करता है?

बल्ब एक प्रकाश उत्सर्जित करने की युक्ति है। प्रकाश उत्सर्जित करने वाले पतले तार को बल्ब का तंतु कहते हैं। यह तंतु दो मोटे तारों के बीच लगा होता है। ये मोटे तार तंतु को आधार प्रदान करते हैं। इन मोटे तारों में से एक मोटा तार बल्ब की सतह पर धातु के ढाँचे से जुड़ा हुआ होता है और दूसरा मोटा तार आधार केंद्र पर धातु की नोक से जुड़ा होता है। बल्ब के आधार पर धातु का ढाँचा तथा धातु की नोक, बल्ब के दो टर्मिनल हैं। ये दोनों टर्मिनल इस प्रकार लगाए जाते हैं कि ये एक-दूसरे को न छुएँ। इन दोनों टर्मिनलों को जब विद्युत सेल के दोनों टर्मिनलों से जोड़ा जाता है तो बल्ब दीप्तिमान हो जाता है।

विद्युत सुचालक तथा कुचालक क्या होते हैं?

कुछ पदार्थों से विद्युत धारा का प्रवाह सहजता से होता है। इन पदार्थों को विद्युत चालक कहते हैं। जैसे अधिकतर धातुएँ तथा ग्रेफ़ाइट। इसके विपरीत कुछ पदार्थ विद्युत धारा को अपने अंदर से प्रवाहित नहीं होने देते हैं। इन पदार्थों को विद्युत-रोधक कहते हैं। जैसे सुखी लकड़ी, थार्मोकोल आदि।

कौन सा पदार्थ उपयोगी है? विद्युत सुचालक या कुचालक?

विद्युत चालक तथा विद्युत रोधक हमारे लिए समान रूप से महत्वपूर्ण हैं। स्विच, विद्युत प्लग, सॉकेट सुचालक पदार्थों से बनाए जाते हैं। दूसरी ओर विद्युत तारों, प्लग के भाग, स्विच तथा विद्युत उपकरणों के अन्य भागों, जिन्हें लोग स्पर्श कर सकते हैं, को बनाने के लिए रबड़ तथा प्लास्टिक का उपयोग होता है।

कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 12: विधुत तथा परिपथ
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 6 विज्ञान पाठ 12
कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 12 एनसीईआरटी
कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 12 की पुस्तक
कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 12 की किताब
कक्षा 6 विज्ञान अध्याय 12 अभ्यास
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 12 एनसीईआरटी
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 12 की किताब
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 12 की पुस्तक
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 12 के प्रश्न उत्तर
वर्ग 6 विज्ञान पाठ 12 सवाल जवाब