एनसीईआरटी समाधान कक्षा 6 हिंदी बाल रामकथा अध्याय 3 दो वरदान

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 6 हिंदी बाल रामकथा अध्याय 3 दो वरदान के अभ्यास के प्रश्नों के उत्तर तथा अतिरिक्त प्रश्नों के उत्तर सत्र 2023-24 के लिए यहाँ दिए गए हैं। कक्षा 6 के छात्र हिंदी में बाल रामकथा के पाठ 3 की तैयारी यहाँ दिए गए प्रश्नों के माध्यम से कर सकते हैं।

कक्षा 6 हिंदी बाल रामकथा अध्याय 3 दो वरदान

राजा दशरथ के मन में कौन-सी इच्छा थी जिसे वे पूरा करना चाहते थे?
राजा दशरथ के मन में अब एक ही इच्छा शेष थी कि राम का राज्याभिषेक कर दिया जाए। वह राम को अयोध्या का राजा बना कर राज्य का सारा कार्यभार उन्हें सौंपना चाहते थे।

कक्षा 6 हिंदी बाल रामकथा अध्याय 3 के प्रश्न उत्तर

राम के राज्याभिषेक के समय भरत और शत्रुघ्न कहाँ गए हुए थे?

राम के राज्याभिषेक के समय भरत और शत्रुघ्न अयोध्या में नहीं थे। वह अपने नाना केकयराज के यहाँ गए हुए थे। अयोध्या के किसी भी समाचार की उन्हें कोई जानकारी नहीं थी।

मंथरा कौन थी? उसने कौशल्या की दासी से क्या पूछा था?

मंथरा, रानी कैकेयी की प्रिय मुँहलगी दासी थी। बचपन से ही कैकेयी का हित उसके लिए सर्वोपरि था। अयोध्या में राम के राज्याभिषेक की चहल-पहल के बारे में जानने के लिए मंथरा ने रानी कौशल्या की दासी से पूछा यहाँ किस तरह की तैयारी चल रही है।

राम के राज्याअभिषेक की ख़बर सुनकर मंथरा को कैसा लगा और उसने क्या किया?

राम के राज्याभिषेक की ख़बर सुनकर मंथरा जलभुन गई थी। उसे राम का राज्याभिषेक कैकेयी और भरत के खिलाफ़ एक षड्यंत्र लगा। उसने इसे राजा दशरथ का षड्यंत्र बताकर रानी कैकेयी को उनके खिलाफ़ भड़का दिया।

मंथरा ने रानी कैकेयी को क्या करने के लिए कहा?

मंथरा ने रानी कैकेयी को कोपभवन जाने के लिए कहा और जब राजा दशरथ वहाँ आए तो उनसे अपने दो वरदान माँगने के लिए कहा।

रानी कैकेयी ने राजा दशरथ से मिले दो वरदान में क्या-क्या मांगा था?

रानी कैकेयी ने राजा दशरथ से मिले दो वचनों को पूरा करने की माँग की। रानी ने एक वचन में भरत के लिए राजगद्दी माँगी और दूसरे वचन में राम को चौदह वर्ष का वनवास देने की माँग की थी।

रानी कैकेयी के वरदान माँगने पर राजा दशरथ की क्या दशा थी?
रानी कैकेयी के वरदान माँगते ही राजा दशरथ भौचक रह गए। मानो उन पर वज्रपात हुआ हो। राजा दशरथ का चेहरा सफ़ेद पड़ गया था, सिर चकराने लगा और वे मूर्च्छित होकर गिर पड़े थे।

राजा दशरथ ने कैकेयी को क्या समझाने की कोशिश की थी?

राजा दशरथ ने कैकेयी की माँग को अस्वीकार करते हुए उसे अनर्थ बताया था। राजा दशरथ ने कैकेयी को बताया की वह इस बात को भूल जाए और अपनी बुद्धि का सही उपयोग करे। उसके लिए तो सारे पुत्र एक समान हैं। वह ऐसा कैसे कर सकती है।

रानी कैकेयी ने अपनी बात मनवाने के लिए कौन से अंतिम हथियार का सहारा लिया था?
रानी कैकेयी ने अपनी बात मनवाने के लिए रघुकुल की रीति की दुहाई देकर उसके अनादर की बात कही। वचन को पूरा न करने पर विष पीकर अत्महत्या करने को कहा।

राजा दशरथ कोपभवन का दृश्य देखकर हैरान क्यों थे?

राजा दशरथ कोपभवन का दृश्य देखकर इसलिए हैरान थे क्योंकि रानी कैकेयी ज़मीन पर लेटी हुई थी। उनके बाल और गहने बिखरे हुए थे। रानी के कपड़े मैले पड़े थे। राज्याभिषेक की खुशी में यह कैसा माहौल बना हुआ था।

रानी कैकेयी की दशा को देख राजा दशरथ ने उन्हें मनाने के लिए क्या-क्या प्रयास किए?
राजा दशरथ ने रानी कैकेयी से पूछा तुम्हें क्या दुःख है। तुम मुझे बताओ यदि अस्वस्थ हो तो मैं राजवैध को बुलाऊँ। तुम मेरी सबसे प्रिय रानी हो। मैं तुम्हें प्रसन्न देखना चाहता हूँ। तुम्हारी खुशी के लिए मैं धरती आसमान एक कर सकता हूँ। इसप्रकार, राजा दशरथ ने कैकेयी को मनाने के लिए बहुत प्रयास किया।

रानी कैकेयी राजा दशरथ की किस बात को सुनकर उठकर बैठ गई थी?

जब राजा दशरथ ने राम की सौगंध लेते हुआ कहा जो तुम मागोगी मैं उसे पूरा करूँगा। यह बात सुनकर रानी कैकेयी उठकर बैठ गई।

कक्षा 6 हिंदी बाल रामकथा अध्याय 3 दो वरदान
कक्षा 6 बाल रामकथा अध्याय 3 दो वरदान