कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12 एनसीईआरटी समाधान – ध्वनि

कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12 एनसीईआरटी समाधान पाठ 12 ध्वनि अभ्यास के प्रश्न उत्तर तथा पाठ के बीच विभिन्न पेज के प्रश्नों के उत्तर संशोधित रूप में विद्यार्थी शैक्षणिक सत्र 2021-2022 के लिए यहाँ से निशुल्क प्राप्त कर सकते हैं। कक्षा 9 विज्ञान पाठ 12 के लिए ये समाधान सीबीएसई, यूपी बोर्ड, एमपी बोर्ड, बिहार, उत्तराखंड तथा अन्य राज्यों के बोर्डों के लिए भी लाभदायक है। कक्षा 9 विज्ञान ऐप में भी सभी समाधान सत्र 2021-2022 के अनुसार ही अपलोड किए गए हैं। विद्यार्थी इस एप्लिकेशन को ऑफलाइन पीडीएफ़ के रूप में भी प्रयोग कर सकते हैं।

कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12 के लिए एनसीईआरटी समाधान

कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12 के बहुविकल्पीय प्रश्न (MCQ) उत्तर

Q1

यांत्रिक पियानो की किसी कुंजी को पहले धीरे से और फिर जोर से दबाया गया। दूसरी बार उत्पन्न ध्वनि

[A]. पहली ध्वनि से प्रबल होगी और इसका तारत्व भी अपेक्षाकृत उच्च होगा
[B]. पहली ध्वनि से प्रबल होगी परंतु इसका तारत्व भिन्न नहीं होगा
[C]. प्रबलता और तारत्व दोनों ही प्रभावित नहीं होंगे
[D]. पहली ध्वनि से प्रबल होगी परंतु इसका तारत्व अपेक्षाकृत निम्न होगा
Q2

ध्वनि वायु में गमन करती है यदि

[A]. माध्यम के कण एक स्थान से दूसरे स्थान पर गमन कर रहे हों
[B]. कण एवं विक्षोभ दोनों ही एक स्थान से दूसरे स्थान को गमन करें
[C]. वायुमंडल में आर्द्रता न हो
[D]. विक्षोभ गमन करे
Q3

किसी संगीत समारोह में वृंदवाद्य बजाने से पूर्व कोई सितार वादक तनाव को समायोजित करते हुए डोरी को उचित प्रकार से झंकृत करने का प्रयास करता है। ऐसा करके वह क्या समायोजित करता है?

[A]. केवल ध्वनि की तीव्रता
[B]. केवल ध्वनि का आयाम
[C]. ध्वनि की प्रबलता
[D]. सितार की डोरी की आवृत्ति को अन्य वाद्य यंत्रों की आवृत्ति के साथ
Q4

स्वर एक ऐसी ध्वनि है

[A]. जिसमें एकल आवृत्ति होती है
[B]. जिसको सुनना सदैव दुखद होता है
[C]. जिसमें केवल दो आवृत्तियाँ होती हैं
[D]. जिसमें कई आवृत्तियाँ होती हैं

कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12 के अतिरिक्त प्रश्न उत्तर

12 m x 12 m साइज़ के किसी पार्क के मध्य में कोई लड़की बैठी है। इस पार्क के दाहिनी ओर लगा हुआ एक भवन है तथा पार्क के बायीं ओर एक सड़क है। सड़क पर पटाखा फटने की ध्वनि होती है। क्या लड़की इस ध्वनि की प्रतिध्वनि को सुन सकती है? अपना उत्तर स्पष्ट कीजिए।

प्रतिध्वनि सुनने के लिए आवश्यक है कि मूल ध्वनि तथा परावर्तित ध्वनि के बीच समय अंतराल
0.1s हो।
इसलिए प्रतिध्वनि निर्मिति के लिए परावर्तित ध्वनि तरंग द्वारा चलित न्यूनतम दूरी
= ध्वनि का वेग x समय अंतराल
= 344 × 0.1 = 34.4 m
परंतु इस प्रकरण में भवन से टकराकर लड़की तक पहुँचने के लिए ध्वनि द्वारा चलित कुल दूरी
= 6 + 6 = 12 m
जो कि वाँछित दूरी से बहुत कम है।
अत: प्रतिध्वनि सुनाई नहीं दे सकती।

यदि किसी झील की तली में कोई विस्फोट हो तो जल में किस प्रकार की प्रघात तरंगें उत्पन्न होंगी?

अनुदैर्घ्य तरंगें।

अच्छे सम्मेलन कक्षों अथवा कंसर्ट हॉलों की छत तथा मंच के पीछे की दीवारें वक्राकार क्यों बनाई जाती हैं?

छत तथा दीवार वक्राकार इसलिए बनाई जाती हैं ताकि इनसे परावर्तन के पश्चात्‌ ध्वनि हाल में बैठे दर्शकों तक सुस्पष्ट पहुँच सके।

हम भिनभिनाती मधुमक्खी की ध्वनि क्यों सुन लेते हैं, जबकि हमें लोलक के दोलन की ध्वनि सुनाई नहीं देती?

भिनभिनाती मधुमक्खियाँ अपने पंखों के कंपन द्वारा जो ध्वनि उत्पन्न करती हैं वह श्रव्य ध्वनि परिसर में होती है। लोलक के मामले में आवृत्ति 20 Hz से कम होती है जो श्रव्य ध्वनि परिसर में नहीं आती।

ध्वनि का संचरण कैसे होता है?

ध्वनि का संचरण
कंपन करती हुई वस्तुओं द्वारा ध्वनि उत्पन्न होती है। वह द्रव्य या पदार्थ जिससे होकर ध्वनि संचरित होती है, माध्यम कहलाता है। यह माध्यम ठोस, द्रव या गैस कुछ भी हो सकता है। स्रोत से उत्पन्न होकर ध्वनि सुनने वाले तक किसी माध्यम से होकर पहुँचती है। एक कंपन करती हुई वस्तु अपने चारों ओर विद्यमान माध्यम के कणों को कंपमान कर देती है। ये कण कंपमान वस्तु से हमारे कानों तक स्वयं गति कर नहीं पहुँचते। सबसे पहले कंपमान वस्तु के संपर्क में रहने वाले माध्यम के कण अपनी संतुलित अवस्था से विस्थापित होकर कंपन करते हैं। ये अपने समीप के कणों पर एक बल लगाते हैं। जिसके फलस्वरूप निकटवर्ती कण अपनी विरामावस्था से विस्थापित हो जाते हैं और कंपन करने लगते हैं। निकटवर्ती कणों के कंपन करने के पश्चात्‌ प्रारंभिक कण अपनी मूल अवस्थाओं में वापस लौट आते हैं। माध्यम में यह प्रक्रिया तब तक चलती रहती है जब तक कि ध्वनि हमारे कानों तक नहीं पहुँच जाती है।

कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12 के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

किसी माध्यम में ध्वनि द्वारा उत्पन्न विक्षोभ आपके कानों तक कैसे पहुँचता है?

किसी माध्यम में ध्वनि द्वारा उत्पन्न विक्षोभ अपने निकटवर्ती कणों में गति उत्पन्न कर देते हैं। ये कण इसी प्रकार की गति अन्य कणों में उत्पन्न करते हैं। माध्यम के कण स्वयं आगे नहीं बढ़ते, लेकिन विक्षोभ आगे बढ़ जाता है। ध्वनि की तरंगे, माध्यम के कणों की इसी गति द्वारा, हमारे कानो तक पहुँच जाती हैं।

आपके विद्यालय की घंटी, ध्वनि कैसे उत्पन्न करती है?

जब विद्यालय की घंटी को हथौड़े से पीटा जाता है तो यह कंपन करने लगता है। कंपन करती हुई वस्तुएँ ध्वनि उत्पन्न करतीं हैं। अतः, घंटी ध्वनि उत्पन्न करने लगती है।

ध्वनि तरंगों को यांत्रिक तरंगें क्यों कहते है?

ध्वनि तरंगों को चलने के लिए द्रव्यात्मक माध्यम (जैसे: लोहा, ताँबा, वायु आदि) की आवश्यकता होती है। इसलिए इसे यांत्रिक तरगें कहते हैं।

मान लीजिए आप अपने मित्र के साथ चंद्रमा पर गए हुए है। क्या आप अपने मित्र द्वारा उत्पन्न ध्वनि को सुन पाएँगे?

ध्वनि तरंगों को चलने के लिए द्रव्यात्मक माध्यम (जैसे: लोहा, ताँबा, वायु आदि) की आवश्यकता होती है। चंद्रमा पर वायुमंडल नहीं है। इसलिए अपने मित्र द्वारा उत्पन्न ध्वनि को माध्यम के आभाव में हम नहीं सुन पाएँगे।

अनुमान लगाइए कि निम्न में से किस ध्वनि का तारत्व अधिक है? (a) गिटार (b) कार का हॉर्न।

कार के हॉर्न का तारत्व अधिक है।

किसी ध्वनि तरंग की तरंगदैर्ध्य तथा आवृत्ति उसके वेग से किस प्रकार संबंधित है?

वेग = तरंगदैर्ध्य × आवृत्ति ⇒ v = λv

ध्वनि की प्रबलता तथा तीव्रता में अंतर बताइए।

प्रबलता: ध्वनि के लिए कानों की संवेदनशीलता की माप को ध्वनि की प्रबलता कहते हैं। तीव्रता: किसी एकांक क्षेत्रफल से एक सेकेंड में गुजरने वाली ध्वनि ऊर्जा को ध्वनि की तीव्रता कहते है।

कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12 पेज 182 के प्रश्न उत्तर
कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12 पेज 186 के प्रश्न उत्तर
कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12 पेज 187 के प्रश्न उत्तर
कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12 अभ्यास के प्रश्न उत्तर
कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12 अभ्यास के सवाल जवाब
कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12
कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12 के उत्तर
कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12 सवाल जवाब
कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 12 हल