कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 6 एनसीईआरटी समाधान – ऊतक

कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 6 एनसीईआरटी समाधान पाठ 6 ऊतक अभ्यास के प्रश्न उत्तर तथा पाठ के अंतर्गत आने वाले अन्य पेजों पर दिए गए प्रश्नों के जवाब शैक्षणिक सत्र 2021-2022 के लिए यहाँ दिए गए हैं। कक्षा 9 विज्ञान पाठ 6 के लिए एनसीईआरटी समाधान सीबीएसई के साथ साथ राजकीय बोर्डों जैसे यूपी बोर्ड, बिहार, एमपी बोर्ड तथा अन्य बोर्डों के लिए हिन्दी तथा अंग्रेजी मीडियम में उपलब्ध हैं। कक्षा 9 विज्ञान के ऑफलाइन समाधान के लिए वर्ग 9 विज्ञान ऐप डाउनलोड करें। यह एप्लिकेशन गूगल प्ले स्टोर से मुफ्त में प्राप्त की जा सकती है।

कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 6 के लिए एनसीईआरटी समाधान

कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 6 के बहुविकल्पीय प्रश्न (MCQ) उत्तर

Q1

निम्नलिखित में से कौन-से उतक में मृत कोशिकाएँ पाई जाती हैं?

[A]. मृदूतक
[B]. उपकला उतक
[C]. दृढ़ोतक
[D]. स्थूलकोणोतक
Q2

गलत वाक्य को चुनिए:

[A]. मृदूतक उतकों में अंतराकोशिक स्थान होते हैं
[B]. शीर्षस्थ एवं अंतर्विष्ट विभाज्योतक स्थायी उतक होते हैं
[C]. स्थूलकोण उतकों की कोशिकाओं के कोने अनियमित रूप से मोटे हो जाते हैं
[D]. विभाज्योतकी कोशिकाओं की प्रारंभिक अवस्था में रसधानियाँ नहीं होती हैं
Q3

तने की परिधि निम्नलिखित के कारण बढ़ती है:

[A]. शीर्षस्थ विभाज्योतक
[B]. उर्ध्व विभाज्योतक
[C]. अंतर्विष्ट विभाज्योतक
[D]. पार्श्व विभाज्योतक
Q4

कौन-सी कोशिका में छिद्रिल कोशिकाभित्ति नहीं होती?

[A]. वाहिनिकाएँ
[B]. वाहिकाएँ
[C]. सहचर कोशिकाएँ
[D]. चालनी नलिकाएँ

ऊतक से आप क्या समझते हैं?

ऊतक
शरीर के अंदर ऐसी कोशिकाएँ जो एक तरह के कार्य को संपन्न करने में दक्ष होती हैं, सदैव एक समूह में होती हैं। शरीर के अंदर एक निश्चित कार्य एक निश्चित स्थान पर कोशिकाओं के एक विशिष्ट समूह द्वारा संपन्न किया जाता है। कोशिकाओं का यह समूह ऊतक कहलाता है। जैसे: रक्त, फ्लोयम तथा पेशी ऊतक के उदाहरण हैं।

    • पादप ऊतक
      पौधों के शरीर में विभिन्न ऊतकों का कार्य अलग-अलग होता है। सभी ऊतक शीर्षस्थ कोशिकाओं के सामूहिक विभाजन से उत्पन्न होते हैं तथा धीरे-धीरे अपने कार्यों के अनुरूप अनुकूलित हो जाते हैं।
    • विभज्योतक
      पौधों में वृद्धि कुछ निश्चित क्षेत्रों में ही होती है। ऐसा विभाजित ऊतकों के उन भागों में पाए जाने के कारण होता है। ऐसे ऊतकों को विभज्योतक भी कहा जाता है। विभज्योतक की उपस्थिति वाले क्षेत्रों के आधार पर इन्हें शीर्षस्थ, केंबियम (पार्श्वीय) तथा अंतर्विष्ट भागों में वर्गीकृत किया जाता है।

सरल स्थायी ऊतक तथा जटिल स्थायी ऊतक में क्या अंतर है?

स्थायी ऊतक
विभज्योतक द्वारा बनी कोशिकायें एक विशिष्ट कार्य करती हैं और विभाजित होने की शक्ति को खो देती हैं जिसके फ्लस्वरूप वे स्थायी ऊतक का निर्माण करती हैं।

    • सरल स्थायी ऊतक
      एपिडर्मिस के नीचे कोशिकाओं की कुछ परतें होती हैं जिसे सरल स्थायी उतक कहते हैं। पैरेन्कइमा सबसे अधिक पाया जाने वाला सरल स्थायी उतक है। यह पतली कोशिका भित्ति वाली सरल कोशिकाओं का बना होता है।इसके अन्य उदाहरण हैं पैरेन्काइमा ऊतकों में क्लोरोप़िल पाया जाता है, जिसके कारण प्रकाश संश्लेषण की क्रिया संपन्न होती है। इस कारण इन ऊतकों को क्लोरेन्काइमा (हरित ऊतक) कहा जाता है। जलीय पौधों में पैरेन्काइमा की कोशिकाओं के मध्य हवा की बड़ी गुहिकाएँ होती हैं, जिसके कारण ये जल में उतराती हैं। इस प्रकार के पैरेन्काइमा को ऐरेन्काइमा कहते हैं। पौधों में लचीलेपन का गुण एक विशेष स्थायी ऊतक की वजह से होता है जिसे कॉलेन्काइमा कहते हैं। एक अन्य प्रकार का ऊतक जिसे स्क्लेरेन्काइमा कहते हैं। यह ऊतक पौधे को कठोर एवं मज़बूत बनाता है। नारियल का रेशेयुक्त छिलका स्क्लेरेन्काइमा ऊतक से बने होते हैं।
    • जटिल स्थायी ऊतक
      जटिल ऊतक एक से अधिक प्रकार की कोशिकाओं से मिलकर बने होते हैं और ये सभी एक साथ मिलकर एक इकाई की तरह कार्य करते हैं। ज़ाइलम और फ़्लोएम इसी प्रकार के जटिल ऊतकों के उदाहरण हैं।

कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 6 के अतिरिक्त प्रश्न उत्तर

ऐच्छिक एवं अनैच्छिक पेशी के बीच भेद कीजिए, प्रत्येक प्रकार का एक-एक उदाहरण भी दीजिए।

ऐच्छिक पेशियाँ हमारी इच्छा के अनुसार गति कर सकती हैं जब भी हम उन्हें संचालित करना चाहें। उदाहरण के लिए: पाद-पेशियाँ अथवा कंकाल पेशियाँ।
अनैच्छिक पेशियाँ अपने आप कार्य करती रहती हैं। हम अपनी इच्छा के द्वारा उन्हें उनके कार्य से रोक अथवा चला नहीं सकते हैं। हृदय पेशियाँ एवं आँख की पुतली की पेशियाँ इसके उदाहरण हैं।

रिक्त स्थान भरिए: (a) रुधिर वाहिकाओं का ……बना होता है। (b) छोटी आँत अथवा क्षुद्राँत का ….. से बना होता है। (c) वृक्क नलिकाओं का …….. से बना होता है। (d) पक्ष्माभिका उपकला कोशिकाएँ हमारे शरीर के ……. में पाई जाती हैं।

(a) शल्की उपकला
(b) स्तंभाकार उपकला
(c) घनाकार उपकला
(d) श्वसन पथ

पादपों के लिए बाह्‌य त्वचा क्यों महत्वपूर्ण है?

बाह्य-त्वचा, निम्न कारणों से पादपों के लिए महत्वपूर्ण है:
(a) यह सुरक्षा प्रदान करती है।
(b) गैसीय विनिमय में सहायता करती है।
(c) जल की हानि को रोकती है।
(d) बाह्य-त्वचा से निकले मूलरोम खनिज लवण एवं जल के अवशोषण में सहायता करते हैं।

जन्तु, एपिथीलियमी तथा संयोजी उत्तक क्या होते हैं?
    • जन्तु ऊतक
      रक्त और पेशियाँ दोनों ही हमारे शरीर में पाए जाने वाले ऊतकों के उदाहरण हैं। उनके कार्य के आधार पर हम विभिन्न प्रकार के जंतु ऊतकों के बारे में विचार कर सकते हैं जैसे कि एपिथीलियमी ऊतक, संयोजी ऊतक, पेशीय ऊतक तथा तंत्रिका ऊतक। रक्त, संयोजी ऊतक का एक प्रकार है।
    • एपिथीलियमी ऊतक
      जंतु के शरीर को ढकने या बाह्य वातावरण से रक्षा प्रदान करने वाले ऊतक को एपिथीलियमी ऊतक कहते हैं। एपिथीलियम शरीर के अंदर स्थित बहुत से अंगों और गुहिकाओं को ढकते हैं। ये भिन्न-भिन्न प्रकार के शारीरिक तंत्रों को एक-दूसरे से अलग करने के लिए अवरोध का निर्माण करते हैं।
    • संयोजी ऊतक
      रक्त एक प्रकार का संयोजी ऊतक है। संयोजी ऊतक की कोशिकाएँ आपस में कम जुड़ी होती हैं और अंतरकोशिकीय आधात्री में धँसी होती हैं। यह आधात्री जैली की तरह, तरल, सघन या कठोर हो सकती है। आधात्री की प्रकृति, विशिष्ट संयोजी ऊतक के कार्य के अनुसार बदलती रहती है।
पेशीय तथा तंत्रिका ऊतक के क्या कार्य हैं?

पेशीय ऊतक
पेशीय ऊतक लंबी कोशिकाओं का बना होता है जिसे पेशीय रेशा भी कहा जाता है। यह हमारे शरीर में गति के लिए उत्तरदायी है। पेशियों में एक विशेष प्रकार की प्रोटीन होती है, जिसे सिकुड़ने वाला प्रोटीन कहते हैं, जिसके संकुचन एवं प्रसार के कारण गति होती है।
तंत्रिका ऊतक
सभी कोशिकाओं में उत्तेजना के अनुकूल प्रतिक्रिया करने की क्षमता होती है। तंत्रिका ऊतक की कोशिकाएँ बहुत शीघ्र उत्तेजित होती हैं और इस उत्तेजना को बहुत ही शीघ्र पूरे शरीर में एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुँचाती हैं। मस्तिष्क, मेरुरज्जु तथा तंत्रिकाएँ सभी तंत्रिका ऊतकों की बनी होती हैं। तंत्रिका ऊतक की कोशिकाओं को तंत्रिका कोशिका या न्यूरॉन कहा जाता है। न्यूरॉन में कोशिकाएँ केंद्रक तथा कोशिकाद्रव्य (साइटोप्लाज़्म) होते हैं। इससे लंबे, पतले बालों जैसी शाखाएँ निकली होती हैं।

कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 6 अभ्यास के लिए प्रश्न उत्तर

निम्नलिखित के बारे में कारण बताइए: (a) मृदूतक कोशिकाओं में सुस्पष्ट केंद्रक एवं सघन कोशिका द्रव्य होता है लेकिन इनमें रसधानियों का अभाव होता है। (b) दृढ़ोतक उतकों में अंतराकोशिकीय अवकाश नहीं होते हैं। (c) जब हम नाशपाती फल को चबाते हैं तो हमें एक दानेदार एवं कुरकुरे का-सा अहसास होता है। (d) नारियल वृक्ष से छिलके को उतारना बहुत कठिन है।

(a) संग्रहण की आवश्यकता नहीं
(b) क्योंकि ये लिग्निनयुक्त होती हैं
(c) दृढ़ कोशिकाओं की उपस्थिति (दृढ़ोतक)
(d) स्थूलकोणोतक की उपस्थिति (दृढ़ोतक)

जाइलम एवं फ्लोएम को जटिल उतक क्यों कहा जाता है? यह एक दूसरे से भिन्न किस तरह से हैं?

जाइलम: वाहिनिकाओं, वाहिकाओं, जाइलम मृदुतक तथा जाइलम तंतु होते हैं। ये मृदा से जल तथा खनिज लवणों को पादप के विभिन्न भागों में पहुँचाते हैं। जाइलम मृदुतक के अलावा अधिकाश्ं कोशिकायें मृत कोशिकाएँ होती हैं।
फ्लोएम: चालनी नलिकाएँ, सहचर कोशिकाएँ, फ्लोएम तंतु होते हैं। पत्तियों से पौधे के अन्य भागों में पहुंचाते हैं। फ्लोएम तंतु के अलावा अधिकांश कोशिकाएँ जीवित कोशिकाएँ होती हैं।

विभेदन की प्रक्रिया को परिभाषित कीजिए।

जैसे ही पादप वृद्धि करते हुए काफी समय का हो जाता है, तो द्वितीय विभाज्योतक की एक पट्‌टी तने की बाह्य त्वचा का स्थान ले लेती है। इस विभाज्योतक के कारण बाहरी सतह पर कटी कोशिकाएँ कॉर्क कहलाती हैं।

कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 6 नोट्स (मुख्य परिभाषाएँ)

कक्षा 9 विज्ञान पाठ 6 पर आधारित मुख्य बातें:

    • 1. ऊतक कोशिकाओं का समूह होता है जिसमें कोशिकाओं की संरचना तथा कार्य एकसमान होते हैं।
    • 2. पौधों के उतक (पादप ऊतक) दो प्रकार के होते हैं: विभज्योतक तथा स्थायी ऊतक।
    • 3. विभज्योतक (मेरिस्टेमेटिक) ऊतक एक विभाज्य ऊतक है तथा यह पौधों के वृद्धि वाले क्षेत्रों में पाए जाते हैं।
    • 4. स्थायी ऊतक विभज्योतक से बनते हैं, जो एक बार विभाजित होने की क्षमता को खो देते हैं। इनको सरल तथा जटिल उतकों में वर्गीकृत किया जाता है।
    • 5. पैरेन्काइमा, कॉलेन्काइमा तथा स्क्लेरेन्काइमा सरल ऊतकों के तीन प्रकार हैं। ज़ाइलम और फ़्लोएम जटिल ऊतकों के प्रकार हैं।
    • 6. एपिथीलियमी, पेशीय, संयोजी तथा तंत्रिका ऊतक जंतु ऊतक होते हैं।
    • 7. आकृति और कार्य के आधार पर एपिथीलियमी ऊतक को शल्की, घनाकार, स्तंभाकार, रोमीय तथा ग्रंथिल श्रेणियों में वर्गीकृत किया जाता है।
    • 8. हमारे शरीर में विद्यमान संयोजी ऊतक के विभिन्न प्रकार हैं: एरिओलर ऊतक, एडीपोज़ (वसामय) ऊतक, अस्थि, कंडरा, स्नायु, उपास्थि तथा रक्त (रुधिर)।
    • 9. पेशीय ऊतक के तीन प्रकार होते हैं: रेखित, आरेखित और कार्डिक (हृदयक पेशी)।
    • 10. तंत्रिका ऊतक न्यूरॅान का बना होता है, जो संवेदना को प्राप्त और संचालित करता है।

कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 6 के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

न्यूरॉन देखने में कैसा लगता है?

न्यूरॉन को तंत्रिका कोशिका कहते हैं। यह एक लंबे तंतु जैसा दिखता है। न्यूरॉन में कोशिकाएँ केंद्रक तथा कोशिकाद्रव्य (साइटोप्लाज्म) होते हैं। इससे लंबे, पतले बालों जैसी शाखाएँ निकली होती हैं। प्रत्येक न्यूरॉन में इस तरह का एक लंबा प्रवर्ध होता है, जिसको एक्सॉन कहते हैं तथा बहुत सारे छोटी शाखा वाले प्रवर्ध (डेंडराइट्स) होते हैं। एक तंत्रिका कोशिका 1 मीटर तक हो सकती है।

एरिओलार ऊतक के क्या कार्य हैं?

एरिओलार ऊतक के कार्य: यह अंगो के बीच खाली स्थान को भरता है। आंतरिक अंगो को सहारा देकर चोट और झटकों से बचाता है। यह ऊतकों की मरम्मत में सहायता करता है।

बहुकोशिक जीवों में ऊतकों का क्या उपयोग है?

बहुकोशिक जीवों में ऊतक भोजन का पाचन, स्वसन, उत्सर्जन, परिसंचरण, गमन तथा जनन आदि कार्य करते हैं।

प्रकाश संश्लेषण के लिए किस गैस की आवश्यकता होती है?

प्रकाश संश्लेषण के लिए कार्बन डाइआक्साइड (CO₂) गैस की आवश्यकता होती है।

पौधों में वाष्पोत्सर्जन के कार्यों का उल्लेख करें।

पौधों में वाष्पोत्सर्जन की क्रिया स्टोमेटा के द्वारा होती है। वाष्पोत्सर्जन की क्रिया के कारण ही पौधो को मृदा से पानी तथा पोषक तत्व अवशोषित करने में मदद मिलती है।

प्ररोह का शीर्षस्थ विभज्योतक कहाँ पाया जाता है?

प्ररोह का शीर्षस्थ विभज्योतक जड़, तना तथा शाखाओं के शीर्ष भाग पर पाया जाता है। यह उनकी लंबाई में वृद्धि करता है।

नारियल का रेशा किस ऊतक का बना होता है?

नारियल का रेशा स्क्लेरेंकाइमा ऊतक का बना होता है। यह पौधे को काठोर एवं मजबूत बनाता है।

उस ऊतक का नाम बताएँ जो हमारे शरीर में गति के लिए उत्तरदायी है।

पेशी ऊतक शरीर को गति प्रदान करते है। पेशी ऊतक में एक विशेष प्रकार का प्रोटीन होता है जिसके संकुचन एवं प्रसार के कारण गति होती है।

कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 6 पेज 77 के प्रश्न उत्तर
कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 6 पेज 83 के प्रश्न उत्तर
कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 6 पेज 87 के प्रश्न उत्तर
कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 6 अभ्यास के प्रश्न उत्तर
कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 6 सवाल जवाब
कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 6 अभ्यास