एनसीईआरटी समाधान कक्षा 3 ईवीएस अध्याय 8

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 3 ईवीएस अध्याय 8 पंख फैलाएँ, उड़ते जाएँ (कक्षा 3 पर्यावरण पाठ 8) के प्रश्न उत्तर हिंदी मीडियम में सीबीएसई और राजकीय बोर्ड शैक्षणिक सत्र 2022-2023 के लिए यहाँ से प्राप्त करें। कक्षा 3 पर्यावरण अध्ययन के पाठ 8 के उत्तर छात्र पीडीएफ और विडियो के माध्यम से समझ सकते हैं। प्रश्नों के उत्तर सरल भाषा में तैयार किए गए हैं।

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 3 ईवीएस अध्याय 8

मोर का घमंड

प्रस्तुत पाठ में सभी पक्षी अपनी-अपनी बड़ाई कर रहे हैं और शोर मचा रहे हैं। मोर अपने सुंदर पंखों पर नाज कर रहा है। कलगी को मुकट समझ स्वयं को सभी पक्षीयों से श्रेष्ठ बता रहा है। मोर स्वयं को अपने सुंदर नाच के कारण राष्ट्रीय पक्षी होने का दंभ दिखा रहा है।

अपने गुणों का बखान करना

चील अपने बारे में बताती है कि वह आकाश से सीधे नीचे उतर कर झपट से चूहे का शिकार करती है। उसकी पूंछ भी खाँचे वाली है। तोता अपने हरे रंग के पंखों और लाल रंग की चोंच को सबसे अच्छा बता रहा है। तोता हरी मिर्च खाने की कला को अपनी ख़ासियत बता कर उस पर गर्व महसूस कर रहा है। कौआ अपने काले रंग और अपनी काली चोंच को सबसे सुन्दर बताते हुए काँव-काँव का शोर मचा रहा है।

उल्लू का जगना

कोयल अपनी मधुर कुहू-कुहू की बोली से सबके मन मोह लेने की बात बता रही है। गिद्ध सबसे ऊँचे आकाश में उड़ कर भी मरे हुए जानवरों को देख लेता है और उसका सफाया कर देने की बात कह रहा है। कबूतर अपने स्लेटी रंग और दिन भर गुटरगूं की आवाज़ को सबसे अलग बता रहा है।

सोन चिड़ियाँ अपनी चोंच को सुई की तरह इस्तेमाल कर पते सिल कर अपना घर बनाने की ख़ासियत बता रही है। कठफोड़वा चोंच द्वारा पेड़ में छिपे कीड़े खाने की कला का गुणगान कर रहा हैं। कठफोड़वा बड़े से बड़े पेड़ में अपनी चोंच से टुक-टुक करके गड्डा कर देता है। सभी पक्षियों की आवाज़ सुन सोया हुआ उल्लू भी जाग गया था।

पक्षियों की पहचान

सब पक्षियों के अलग-अलग दिखने, बोलने और खाने की वजह से ही उन्हें सुंदरता और एक अलग पहचान मिलती हैं। जिसकी वजह से उनकी कमी और ख़ासियत को आसानी से पहचान लिया जाता हैं।

कक्षा 3 ईवीएस अध्याय 8 के मुख्य प्रश्न उत्तर

यदि पक्षी उड़ न सकें, बस अपने पैरों पर ही चलें तो क्या होगा?

यदि पक्षी उड़ नहीं सकते तो दूसरे शिकारी जानवर आसानी से उनका शिकार कर लेंगे।

अगर तुम भी पक्षियों की तरह उड़ सकते, तो तुम कहाँ-कहाँ जाते? क्या-क्या करते?

अगर हम पक्षियों की तरह उड़ सकते तो बिना हवाई जहाज का टिकट लिए सारी दुनिया की सैर करते तथा कहीं भी जाने के लिए किसी वाहन की जरुरत नहीं पड़ती।

कक्षा 3 ईवीएस अध्याय 8 पंख फैलाएँ, उड़ते जाएँ
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 3 ईवीएस अध्याय 8
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 3 ईवीएस अध्याय 8 के उत्तर
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 3 ईवीएस अध्याय 8 हिंदी में
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 3 ईवीएस अध्याय 8 हिंदी मीडियम
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 3 ईवीएस अध्याय 8 पीडीएफ डाउनलोड
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 3 ईवीएस अध्याय 8 पीडीएफ विडियो
कक्षा 3 ईवीएस अध्याय 8