एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 इतिहास अध्याय 9 औद्योगिक क्रांति

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 इतिहास अध्याय 9 औद्योगिक क्रांति के सवाल जवाब पुस्तक विश्व इतिहास के कुछ विषय के प्रश्न उत्तर सत्र 2022-2023 के लिए यहाँ से निशुल्क प्राप्त किए जा सकते हैं। कक्षा 11 इतिहास पाठ 9 के सभी सवालों के जवाब हिंदी माध्यम में यहाँ दिए गए हैं ताकि छात्र इतिहास में लगभग 1700 से 2000 ईसवी तक की घटनाओं को आसानी से समझ सकें।

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 इतिहास अध्याय 9

ब्रिटेन 1793 से 1815 तक कई युद्धों में लिप्त रहा, इसका ब्रिटेन के उद्योगों पर क्या प्रभाव पड़ा?

ब्रिटेन 1793 से 1815 तक कई युद्धों में लिप्त रहा। इस दौरान ब्रिटेन लगातार फ्रांस के महान सेनापति सम्राट नेपोलियन से जीवन तथा मरण के संघर्ष में फ़ँसा रहा।
इन युद्धों का ब्रिटेन के उद्योगों पर निम्नलिखित प्रभाव पड़ा:

    1. व्यापारों के बंद हो जाने का प्रभाव वहाँ की फ़ैक्ट्रियों पर भी पड़ा इससे वे उद्योग- धंधो तथा कारखाने जल्द ही बंद हो गए।
    2. उद्योग-धंधो तथा कारखानों के बंद हो जाने के कारण मज़दूर मजबूर हो गए तथा बेरोज़गारी की वजह से भुखमरी के शिकार होने लगे।
    3. इंग्लैंड का अन्य देशों से चलने वाला व्यापार तितर- बितर हो गया।
    4. रोटी, माँस जैसे आवश्यक खाद्य पदार्थों के मूल्य बढ़ गए।
    5. नेपोलियन बोनापार्ट की महाद्वीपीय व्यवस्था या आर्थिक बहिष्कार की नीति ने इंग्लैंड को आर्थिक संकट में फ़ँसा दिया तथा साथ ही इंग्लैंड की मुद्रा का भी अवमूल्यन हुआ।

नहर और रेलवे परिवहन के सापेक्षित लाभ क्या-क्या हैं?

नहर और रेलवे परिवहन के सापेक्षिक लाभ:

    • नहरों द्वारा माल का आयात व निर्यात सर्वाधिक सस्ता पड़ता था।
    • नहरों द्वारा खानों से कोयले तथा लोहे जैसे भारी पदार्थों को कारखानों तक ले जाना काफ़ी सरल हो गया है।
    • इंग्लैंड के औद्योगीकरण में रेलवे का काफ़ी सराहनीय योगदान रहा है।
    • रेल परिवहन से पहले यात्रियों को नहरों में यातायात के साधनों से यात्रा करते समय अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता था। उन्हें उन परेशानियों से छुटकारा मिल गया।
    • रेल की गति नहर के यातायात की साधनों की अपेक्षा तीव्र थी और उस पर बाढ़, सूखे या तफ़ूान का प्रभाव नहीं पड़ता था।
    • अन्य साधनों की अपेक्षाकृत नहरों द्वारा की जाने वाली यात्रा में कम समय लगता था।
    • बड़े-बड़े नगरों को जब इन नहरों से मिला दिया गया तो शहरवासियों को सस्ते परिवहन भी उपलब्ध हुए।

इस अवधि में किए गए ‘अविष्कारों की दिलचस्प विशेताएँ क्या थीं?

इस अवधि में किए गए अविष्कारों की दिलचस्प विशेषताएँ:

    • इस अवधि में तेज़ी से विभिन्न क्षेत्रों में अविष्कार हुए। इन अविष्कारों के कुछ समय बाद इनका उपयोग भी शुरू हो गया। इन अविष्कारों के कारण प्रौद्योगिकी परिवर्तनों की श्रृंखला दिखाई देने लगी जिसने उत्पादन के स्तरों में अचानक बढ़ोत्तरी कर दी।
    • रेलमार्गों के निर्माण से एक नई परिवहन तंत्र विकसित हो गया। अधिकांश अविष्कार 1782 से 1800 ई. के मध्य हुए।
    • इन अविष्कारों के कारण अनेक उद्योग जैसे लोहा, कपड़ा उद्योग, जहाज़ निर्माण, इस्पात उद्योग आदि उद्योगों को काफ़ी बढ़ावा मिला।
    • इन अविष्कारों के लिए वैज्ञानिकों ने नहीं बल्कि सामान्य लोगों ने प्रयास किए तथा वे अपने प्रयासों में सफ़ल भी रहे।
    • इन अविष्कारों एवं अपनिवेशवाद के कारण भौगोलिक खोजों तथा अन्तर्राष्ट्रीय बाज़ारीकरण को प्रोत्साहन मिला।
    • कच्चे माल की प्राप्ति और तैयार माल की खपत के लिए इंग्लैंड को एक विस्तृत बाज़ार की आवश्यकता पड़ी।
    • इन अविष्कारों के परिणामस्वरूप वाणिज्यवाद तथा उपनिवेशवाद का प्रभाव बढ़ गया।
ब्रिटेन में स्त्रियों के भिन्न-भिन्न वर्गों के जीवन पर औद्योगिक क्रांति का क्या प्रभाव पड़ा?

ब्रिटेन में स्त्रियों के भिन्न-भिन्न वर्गों के जीवन पर औद्योगिक क्रांति के प्रभाव:

    1. निर्धन वर्ग की स्त्रियाँ कारखानों में कार्य करने लगीं। उनसे पंद्रह- पंद्रह घंटे तक काम लिया तथा उन्हें मज़दूरी बहुत ही कम दी जाती थी। कारखानों का वातावरण बहुत ही दूषित तथा जोखिम भरा था। इसका स्रियों के स्वास्थ्य पर बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ा। उनकी मृत्यु बहुत ही कम उम्र में हो जाती थी। बहुत से बच्चे बीमार पैदा होते थे तथा पेदा होते ही मर जाते थे या फि़र 5 वर्ष की आयु तक ही पहुँच पाते थे।
    2. मध्यम और धनी वर्ग की स्त्रियों को औद्योगिक क्रांति से लाभ पहुँचा। उन्हें नई-नई उपभोक्ता वस्तुएँ और भोजन सामग्री मिलने लगी। परिवहन और संचार के साधनों में हुए अविष्कारों ने उनकी जीवन- शैली को ही परिवर्तित कर दिया। जीवन-स्तर प्रतिदिन ऊँचा होने लगा।
    3. उद्योगपति, स्त्रियों को पुरूषों की अपेक्षा जल्दी काम पर रख लेते थे क्योंकि वे इतने सशक्त नहीं होती थीं कि संगठन बनाकर उनके अत्याचारों तथा शोषणवादी प्रवृत्ति की खिलाफ़त कर सकें। वे इतनी सक्षम भी नहीं थी कि वे हिंसात्मक रूप से आंदोलन भी कर सकें।
विश्व के भिन्न-भिन्न देशों में रेलवे आ जाने से वहाँ के जनजीवन पर क्या प्रभाव पड़ा? तुलनात्मक विवेचना कीजिए।

विश्व के भिन्न-भिन्न देशों में रेलवे आ जाने से वहाँ के जनजीवन पर निम्नलिखित प्रभाव पड़े:

    • रेलवे के विकास के कारण जहाँ सम्राज्यवादी देशों के लोग धनवान होते गए। वहीं पर उसके कारण उपनिवेशी देशों की जनता बेकार तथा गरीब होती चली गई।
    • रेलवे के आ जाने के कारण जहाँ साम्राज्यवादी राष्ट्रों के कारखानों के लिए कच्चे माल और खाद्य सामग्रियों की आपूर्ति होने लगी वहीं गुलाम देशों का इन साम्राज्यवादी शक्तियों द्वारा और भी अधिक किया जाने लगा। परिणामस्वरूप उनकी अर्थव्यवस्था बहुत अच्छी हो गई।
    • रेलवे परिवहन का एक साधन बन गया जो पूरे वर्ष दुनिया के विभिन्न हिस्सों में उपलब्ध था।
    • उन्होंने बहुत सारे रोज़गार के अवसर प्रदान किए तथा व्यापार और वाणिज्य में भी तेजी लाए। इस प्रकार यह कहा जा सकता है कि रेलवे के आने से दुनिया के विभिन्न देश जुड़े हुए हैं।
    • वे विभिन्न देशो के हिस्सों में सम्मिलित हो गए तथा सामग्री को सरलता से उठाने में सहायता की।
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 इतिहास अध्याय 9
कक्षा 11 इतिहास अध्याय 9 औद्योगिक क्रांति
कक्षा 11 इतिहास अध्याय 9