एनसीईआरटी समाधान कक्षा 2 हिंदी अध्याय 15 एक्की-दोक्की

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 2 हिंदी अध्याय 15 एक्की-दोक्की रिमझिम के अभ्यास के सभी प्रश्नों के उत्तर सीबीएसई सत्र 2022-2023 के लिए विद्यार्थी यहाँ से निशुल्क प्राप्त कर सकते हैं। कक्षा 2 हिंदी के पाठ 15 में दो बहनों की कहानी जहां एक अपने विनम्र स्वभाव के कारण सुखी हो जाती है और दूसरी को उसके स्वार्थ के लिए सजा मिल जाती है। बच्चों को यहाँ कहानी काफी रोचक लगेगी और इससे नैतिक मूल्यों को भी सीखने का मौका मिलेगा।

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 2 हिंदी अध्याय 15

एनसीईआरटी समाधान ऐप

iconicon

कक्षा 2 हिंदी अध्याय 15: कहानी का सारांश

यह कहानी दो बहनों की हैI एक नाम था एक केसवाली और दूसरी का नाम दो केसवाली दोनों अपने माता-पिता के साथ रहती थीI एक केसवाली के सिर पर केवल एक बाल था तथा दोकेसवाली के सिर पर केवल दो बाल थे; लोग इन्हें एक्की और दोक्की कहकर बुलाते थेI दोक्की बहुत घमंडी थी उसकी माँ भी उसे दुनिया की सबसे सुन्दर लड़की मानती थीI

वह एक्की पर रोब जमाती रहती थीI एक दिन एक्की जंगल में गयी वहां उसे एक आवाज सुनाई दी मुझे बहुत प्यास लगी हैI एक्की ने चारों तरफ देखा लेकिन कोई दिखाई नहीं दियाI फिर उसे मेहंदी की एक सूखी झाड़ी दिखाई दी पास में ही झरना बह रहा था एक्की ने अंजली में पानी भरकर कई बार मेहंदी के पेड़ में डाला मेहंदी के पेड़ ने एक्की को धन्यवाद कहाI

एक्की जब आगे बढ़ी तो उसे एक आवाज सुनाई दी मुझे भूख लगी, कोई खाना खिल दोI एक्की ने देखा कि एक कमजोर गाय पेड़ से बंधी हैI एक्की ने उसे घास खिलाया गाय ने भी एक्की को धन्यवाद कहा और उपकार को जिन्दगी भर न भूलने का वादा कियाI एक्की एक झोपड़ी पर पहुँची वहां उसे एक बुढ़िया मिली जिसने प्यार से एक्की स्वागत कियाI उसने एक्की को नहाने को कहा, नहाते ही एक्की के सिर पर खूब सारे बाल आ गएI एक्की बहुत खुश हुई और भागती हुई घर की ओर दौड़ पड़ीI

रास्ते में गाय ने उसे अपना दूध पिलाया तथा मेहंदी के पेड़ ने उसके हाथों में मेहंदी रचाईI घर पहुंचकर एक्की ने सारी कहानी सुनाईI कहानी सुनकर दोक्की भी जंगल की ओर भागी, वह इतनी जल्दी में थी कि उसे न तो प्यासी झाड़ी की आवाज सुनाई दी और न ही भूखी गाय कीI वह झोपड़ी में घुसी तो बूढ़ी अम्मा को आदेश दिया मेरे लिए नहाने का पानी गर्म करोI नहाने के बाद जैसे ही उसने अपने सिर पर तौलिया फेरा उसके सारे बाल गायब थेI रोते हुए दोक्की घर की ओर चली रस्ते में गाय ने उसे सींग मारी और झाड़ी ने उसे काँटा चुभा दियाI दोक्की सबक सीख चुकी थी, अब दोनों बहिनें प्यार से रहने लगीI

क्या बूढ़ी अम्मा पहले से जानती थीं कि एक्की और दोक्की उनके घर आने वाली हैं? तुम्हें कैसे पता चला?

उत्तर:
हाँ, बूढ़ी अम्मा पहले से जानती थीं कि एक्की और दोक्की उनके घर आने वाली हैं, क्योंकि उनके पहुँचने पर बूढ़ी अम्मा कहती है कि मैं तेरा ही इन्तजार कर रही थीI

दोक्की का मेहँदी की झाड़ी और गाय पर ध्यान क्यों नहीं गया?

उत्तर:
दोक्की इतनी जल्दी में थी कि उसे न तो प्यासी झाड़ी की आवाज सुनाई दी और न ही भूखी गाय कीI

एक्की ने झाड़ी और गाय की मदद कैसे की?

उत्तर:
एक्की ने प्यासी झाड़ी को पानी दिया और भूखी गाय को घास खिलाईI

शब्दअर्थ
घमंडीअहंकारी
फुरसतखाली समय
रौब ज़मानादबदबा दिखाना
चुल्लूअंजली
मरियलकमजोर
कक्षा 2 हिन्दी अध्याय 15 के अनुसार हमें दूसरों के प्रति अपना व्यवहार किस प्रकार रखना चाहिए?

हमारा सभी के प्रति प्रेम और सद्भाव का व्यवहार होना चाहिएI

हिन्दी कक्षा 2 के अध्याय 15 में ईर्ष्या करने से क्या होता है?

किसी से ईर्ष्या करने से अपना ही नुक्सान होता है इसलिए सभी के साथ प्रेम का भाव रखना चाहिएI

कक्षा 2 हिन्दी का अध्याय 15 का आशय क्या है?

इस पाठ से हमें शिक्षा मिलती है कि किसी के साथ उसकी सुन्दरता और कुरूपता के आधार पर व्यवहार नहीं करना चाहिएI सभी के साथ समानता के सिद्धांत का पालन करना चाहिएI

कक्षा 2 हिंदी अध्याय 15 अभ्यास पुस्तिका
कक्षा 2 हिंदी अध्याय 15 अभ्यास के प्रश्न उत्तर
कक्षा 2 हिंदी अध्याय 15 अभ्यास
कक्षा 2 हिंदी अध्याय 15 अभ्यास के लिए