कक्षा 7 हिंदी दूर्वा अध्याय 9 विश्वेश्वरैया के प्रश्न उत्तर

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 7 हिंदी दूर्वा अध्याय 9 विश्वेश्वरैया के प्रश्न उत्तर सीबीएसई तथा राजकीय बोर्ड के छात्रों के लिए सत्र 2023-24 के अनुसार संशोधित रूप में यहाँ दिए गए हैं। छात्र कक्षा 7 में हिंदी के पाठ 9 के अध्ययन के लिए यहाँ दी गई पठन सामग्री का प्रयोग करके इसे आसान बना सकते हैं।

अपने घर के बरामदे में खड़े होकर छः वर्षीय विश्वेश्वरैया ने क्या देखा?

अपने घर के बरामदे में खड़े विश्वेश्वरैया ने देखा कि आसमान में घने काले बादल छाए हुए हैं, उनके आपस में टकराने से आसमान में बिजली चमकती है और तेजी से बारिश होने लगती है।

तुमने पाठ में पढ़ा कि एक बूढ़ी महिला ताड़पत्र से बनी छतरी लिए खड़ी थी। पता करो कि ताड़पत्र से और क्या-क्या बनाया जाता है?
ताड़पत्र से खाने की पत्तलें, दोने, चटाइयां आदि बनते हैं।

तुम्हें विश्वेश्वरैया की कौन सी बात सबसे अच्छी लगी? क्यों?

विश्वेश्वरैया के मन में गरीबों के प्रति दया और यह संकल्प लेना कि वे पूरी उम्र छात्र ही बने रहेंगे कुछ नया सीखते रहेंगे उनकी यह बात सबसे अच्छी लगी।

तुम्हारे मन में भी अनेक सवाल उठे होंगे जिनके जवाब तुम्हें नहीं मिले। ऐसे ही कुछ सवालों की सूची बनाओ।
जंगली पेड़-पौधे अपने आप हरे -भरे कैसे रहते हैं?
मौसम अपने आप कैसे बदलता है?
पहाड़ दूर होकर भी पास कैसे दिखते हैं?
ओले कैसे गिरते हैं?
मेंढक बारिश में ही क्यों निकलते हैं?

विश्वेश्वरैया के मन में कौन-कौन से सवाल उठते थे?

विश्वेश्वरैया के मन में हमेशा यह सवाल उठते रहते थे कि आखिर इतने लोग गरीब क्यों हैं? नौकरानी फटी साड़ी क्यों पहनती है? वह झोंपड़ी में क्यों रहती है? वह अपने बच्चों को स्कूल क्यों नहीं भेज सकती?

विश्वेश्वरैया ने बचपन में रामायण, महाभारत, पंचतंत्र आदि की कहानियाँ सुनी थीं। तुमने पाठ्यपुस्तक के अलावा कौन-कौन सी कहानियाँ सुनी हैं? किसी कहानी के बारे में बताओ।
हमने बचपन में राजा हरिष्चंद्र , सत्यवान-सावित्री और राजा -रानी की कहानियां सुनी हैं।

तुम्हें सर्दी-गरमी के मौसम में अपने घर के आसपास क्या-क्या दिखाई देता है?

हमें सर्दी के मौसम में अपने घर के आसपास चारों तरफ हरियाली और ठंडक तथा गर्मी में चारों तरफ झुलसते पेड़ और गर्मी से व्याकुल इंसान और जीव-जन्तु दिखाई देते हैं।

इन वाक्यों को पढ़ो और इन्हें प्रश्नवाचक वाक्यों में बदलो:
ज्ञान असीमित है।
क्या ज्ञान असीमित है?

आकाश में अँधेरा छाया हुआ था।
क्या आकाश में अंधेरा छाया हुआ है?

गड्ढे् और नालियाँ पानी से भर गई।
क्या गड्ढे् और नालियाँ पानी से भर गई?

उसने एक जल-प्रपात का रूप धारण कर लिया।
क्या उसने एक जल-प्रपात का रूप धारण कर लिया?

राष्ट्रीयता की चिंगारी जल उठी थी।
क्या राष्ट्रीयता की चिंगारी जल उठी थी?

मैं काफी धन कमा लूँगा।
क्या मैं काफी धन कमा लूँगा?

तुम्हारे विचार से गरीबी के क्या कारण हैं?

मेरे विचार से गरीबी का कारण लोगों को उनका हक न मिलना है। बड़े लोगों द्वारा छोटे लोगों को सताया जाना और उनका हक मारना है।

वाक्य बनाओ
नीचे पाठ में से चुनकर कुछ शब्द दिए गए हैं। तुम इनका प्रयोग अपने ढंग के वाक्य बनाने में करो।
हरे-भरे
हरे-भरे जंगल सुंदर लगते हैं।

उमड़-घुमड़
उमड़-घुमड़ कर आसमान में बादल आए।

एक-दूसरे
हमें एक दूसरे की मदद करनी चाहिए।

धीरे-धीरे
कछुआ धीरे-धीरे चलता है।

टप-टप
बारिश की बूंदें टप-टप पड़ रही हैं।

फटी-पुरानी
गरीब बच्चे ने फटी-पुरानी कमीज पहन रखी है।

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 7 हिंदी दूर्वा अध्याय 9 विश्वेश्वरैया
कक्षा 7 हिंदी दूर्वा अध्याय 9
कक्षा 7 हिंदी दूर्वा अध्याय 9 विश्वेश्वरैया के उत्तर