एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 रसायन विज्ञान की कुछ मूल अवधारणाएँ

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 रसायन विज्ञान की कुछ मूल अवधारणाएँ के प्रश्न उत्तर हिंदी और अंग्रेजी मीडियम में शैक्षणिक सत्र 2023-24 के लिए यहाँ से प्राप्त किए जा सकते हैं। कक्षा 11 के विद्यार्थी रसायन शास्त्र के पाठ 1 के सभी प्रश्नों का हल विस्तार से यहाँ दिए गए समाधान की मदद से समझ सकते हैं।

कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 एनसीईआरटी समाधान

द्रव्य की अवस्थाएँ

द्रव्य की तीन भौतिक अवस्थाएँ संभव हैं:
(i) ठोस- ठोस का निश्चित आयतन और निश्चित आकार होता है।
(ii) द्रव- द्रव का निश्चित आयतन होता है, परंतु आकार निश्चित नहीं होता है।
(iii) गैस- गैस का आयतन या आकार कुछ भी निश्चित नही रहता।

प्राप्त कार्बन डाइऑक्साइड की मात्र का परिकलन कीजिए।
जब
(i) 1 मोल कार्बन को हवा में जलाया जाता है और
(ii) 1 मोल कार्बन को 16g ऑक्सीजन में जलाया जाता है।
उत्तर :
कार्बन के दहन की संतुलित अभिक्रिया को इस प्रकार लिखा जा सकता है:
(i) संतुलित समीकरण के अनुसार, 1 मोल ऑक्सीजन (वायु) में कार्बन का 1 मोल जलकर 1 मोल कार्बन डाइऑक्साइड बनाता है।
(ii) प्रश्न के अनुसार केवल 16 ग्राम डाइऑक्सीजन उपलब्ध है। अतः यह 0.5 मोल कार्बन से अभिक्रिया करके 22 ग्राम कार्बन डाइऑक्साइड देगा। इसलिए, यह एक सीमित अभिकारक है।
इस प्रकार, 16 ग्राम डाइऑक्सीजन कार्बन के केवल 0.5 मोल के साथ मिलकर 22 ग्राम कार्बन डाइऑक्साइड देता है।

द्रव्यों के भौतिक एवं रासायनिक गुण

प्रत्येक पदार्थ के विशिष्ट या अभिलाक्षणिक गुणधर्म होते हैं। इन गुणधर्मों को दो वर्गों में वर्गीकृत किया जा सकता है- भौतिक गुणधर्म उदाहरणार्थ रंग, गंध, गलनांक, क्वथनांक, घनत्व आदि और रासायनिक गुणधर्म जैसे संघटन ज्वलनशीलता, अम्ल, क्षार इत्यादि के साथ अभिक्रियाशीलता। भौतिक गुणधर्मों को पदार्थ की पहचान या संघटन को परिवर्तित किए बिना मापा या देखा जा सकता है। रासायनिक गुणधर्मों को मापने या देखने के लिए रासायनिक परिवर्तन का होना आवश्यक होता है।

सार्थक अंकों से आप क्या समझते हैं?

सार्थक अंक वे अर्थपूर्ण अंक होते हैं जिन्हें निश्चितता के साथ जाना जाता है। वे एक प्रयोग या परिकलित मूल्य में अनिश्चितता का संकेत देते हैं। उदाहरण के लिए, यदि 15.6 एमएल एक प्रयोग का परिणाम है, तो 15 निश्चित है जबकि 6 अनिश्चित है, और महत्वपूर्ण अंकों की कुल संख्या 3 है।
इसलिए, महत्वपूर्ण अंक एक संख्या में अंकों की कुल संख्या के रूप में परिभाषित किए जाते हैं, जिसमें अंतिम अंक भी शामिल है जो परिणाम की अनिश्चितता का प्रतिनिधित्व करता है।

द्रव्यमान का SI मात्रक क्या है? इसे किस प्रकार परिभाषित किया जाता है?

द्रव्यमान का SI मात्रक किलोग्राम (kg) है। 1 किलोग्राम को अंतरराष्ट्रीय प्रोटोटाइप के किलोग्राम के बराबर द्रव्यमान के रूप में परिभाषित किया गया है।

प्रश्न:
निम्नलिखित में सार्थक अंकों की संख्या बताइए:
(i) 0.0025 (ii) 208 (iii) 5005
(iv) 126,000 (v) 500.0 (vi) 2.0034
उत्तर:
(i) 0.0025; सार्थक अंकों की संख्या 2 है।
(ii) 208; सार्थक अंकों की संख्या 3 है।
(iii) 5005; सार्थक अंकों की संख्या 4 है।
(iv) 126,000; सार्थक अंकों की संख्या 6 है।
(v) 500.0; सार्थक अंकों की संख्या 3 है।
(vi) 2.0034; सार्थक अंकों की संख्या 5 है।

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 रसायन अध्याय 1
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 के प्रश्न उत्तर
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 हिंदी में
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 सवाल जवाब
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 11 रसायन अध्याय 1
कक्षा 11 रसायन अध्याय 1
कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 के उत्तर
कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 के हल
कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 के सवाल जवाब
कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 प्रश्न उत्तर
एनसीईआरटी कक्षा 11 रसायन अध्याय 1
एनसीईआरटी कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 के उत्तर
एनसीईआरटी कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 के समाधान
एनसीईआरटी कक्षा 11 रसायन पाठ 1
एनसीईआरटी कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 समाधान
एनसीईआरटी कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 सवाल जवाब
एनसीईआरटी कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 के हल
एनसीईआरटी कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 के उत्तर हिंदी में
एनसीईआरटी कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 हिंदी में हल
एनसीईआरटी कक्षा 11 रसायन अध्याय 1 उत्तर