एनसीईआरटी समाधान कक्षा 10 भूगोल अध्याय 1 संसाधन और विकास

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 10 भूगोल अध्याय 1 संसाधन और विकास के प्रश्न उत्तर हिंदी और अंग्रेजी मीडियम में सत्र 2023-24 के लिए यहाँ दिए गए हैं। 10वीं कक्षा भूगोल की पुस्तक समकालीन भारत के पाठ 1 के सवाल जवाब पीडीएफ तथा विडियो के माध्यम से यहाँ से प्राप्त किए जा सकते हैं।

कक्षा 10 भूगोल पाठ 1 के बहुवैकल्पिक प्रश्न

(i) लौह अयस्क किस प्रकार का संसाधन है?
(क) नवीकरण योग्य
(ग) जैव
(ख) प्रवाह
(घ) अनवीकरण योग्य
(ii) ज्वारीय ऊर्जा निम्नलिखित में से किस प्रकार का संसाधन नहीं है?
(क) पुनः पूर्ति योग्य
(ग) मानवकृत
(ख) अजैव
(घ) अचक्रीय
(iii) पंजाब में भूमि निम्नीकरण का निम्नलिखित में से मुख्य कारण क्या है?
(क) गहन खेती
(ग) वनोन्मूलन
(ख) अधिक सिंचाई
(घ) अति पशुचारण
(iv) निम्नलिखित में से किस प्रांत में सीढ़ीदार (सोपानी) खेती की जाती है?
(क) पंजाब
(ग) हरियाणा
(ख) उत्तर प्रदेश के मैदान
(घ) उत्तराखंड
(v) इनमें से किस राज्य में काली मृदा मुख्य रूप इ पाई जाती है?
(क) जम्मू और कश्मीर
(ग) महाराष्ट्र
(ख) राजस्थान
(घ) झारखंड

उत्तर:
(i) (घ) अनवीकरण योग्य
(ii) (क) पुनः पूर्ति योग्य
(iii) (ग) वनोन्मूलन
(iv) (घ) उत्तराखंड
(v) (ग) महाराष्ट्र

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लगभग 30 शब्दों में दीजिए।

(i) तीन राज्यों के नाम बताएं जहाँ काली मृदा पाई जाती है। इस पर मुख्य रूप से कौन सी फसल उगाई जाती है?
(ii) पूर्वी तट के नदी डेल्टाओं पर किस प्रकार की मृदा पाई जाती है? इस प्रकार की मृदा की तीन मुख्य विशेषताएं क्या हैं?
(iii) पहाड़ी क्षेत्रों में मृदा अपरदन की रोकथाम के लिए क्या कदम उठाने चाहिए?

उत्तर:
(i) महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ कुछ राज्य हैं जहाँ काली मिट्टी पाई जाती है और कपास काली मिट्टी पर उगाई जाने वाली मुख्य फसल है।
(ii) जलोढ़ मिट्टी पूर्वी तट के नदी डेल्टा में पाई जाती है। जलोढ़ मिट्टी पोटाश, फॉस्फोरिक अम्ल और चूने में समृद्ध है। इसकी उच्च जल धारण क्षमता है और यह अत्यधिक उपजाऊ मिट्टी है।
(iii) पहाड़ी क्षेत्रों में मिट्टी के कटाव को रोकने के लिए मेड़ कृषि और सीढ़ीदार खेत बनाए जा सकता है।

जैव और अजैव संसाधन क्या होते हैं? कुछ उदाहरण दें।

जैव संसाधन
हमारे पर्यावरण में रहने वाले सभी जीवों को जैव संसाधन कहा जाता है।
उदाहरण के लिए पेड़, जानवर, कीड़े आदि।
अजैव संसाधन
हमारे पर्यावरण में मौजूद सभी निर्जीव चीजों को अजैव संसाधन कहा जाता है।
उदाहरण के लिए पृथ्वी, वायु, जल, धातु, चट्टान इत्यादि।

भारत में भूमि उपयोग प्रारूप का वर्णन करें। वर्ष 1960-61 से वन के अंतर्गत क्षेत्र में महत्वपूर्ण वृद्धि नहीं हुई, इसका क्या कारण है?

लगभग 45% भूमि का उपयोग शुद्ध बोए गए क्षेत्र के रूप में किया जाता है, अर्थात् खेती के लिए। लगभग 22% भूमि जंगल के नीचे है और शेष भूमि का उपयोग विभिन्न उद्देश्यों के लिए किया जाता है; जिसमें आवास, मनोरंजन और औद्योगिक गतिविधिया शामिल हैं। बढ़ती आबादी और बाद में संसाधनों की मांग में वृद्धि मुख्य कारण है कि इस अवधि के दौरान वन भूमि में बहुत वृद्धि नहीं हुई है।

प्रौद्योगिक और आर्थिक विकास के कारण संसाधनों का अधिक उपभोग कैसे हुआ है?

आर्थिक विकास विभिन्न संसाधनों की मांग पैदा करता है और तकनीकी विकास उन संसाधनों का दोहन करने के लिए ज्ञान देता है। इस प्रकार, तकनीकी और आर्थिक विकास, साथ में संसाधनों की अधिक खपत होती है।

कक्षा 10 भूगोल अध्याय 1 संसाधन और विकास
एनसीईआरटी समाधान कक्षा 10 भूगोल अध्याय 1 के प्रश्न उत्तर