एनसीईआरटी समाधान कक्षा 10 गणित प्रश्नावली 7.1

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 10 गणित प्रश्नावली 7.1 निर्देशांक ज्यामिति हिंदी में सीबीएसई सत्र 2022-2023 के लिए संशोधित यहाँ से प्राप्त करें। कक्षा 10 की प्रश्नावली 7.1 के सभी प्रश्नों के हल सरल भाषा में चरण दर चरण पीडीएफ और विडियो के माध्यम से यहाँ दिए गए हैं। विद्यार्थी इसकी मदद से पूरे अभ्यास को आसानी से हल कर सकते हैं और अपने सभी सवालों के जवाब पा सकते हैं।

एनसीईआरटी समाधान कक्षा 10 गणित प्रश्नावली 7.1

निर्देशांक ज्यामिति

निर्देशांक ज्यामिति गणित की वह महत्वपूर्ण शाखा है जिसमें समतल आकृति पर बने बिन्दुओं की स्थिति को दो संख्याओं के जोड़े के रूप में परिभाषित किया जाता है. संख्याओं के जोड़ों से बने बिंदु की स्थिति को बिंदु निर्देशांक कहते हैं।

बिंदु निर्देशांक की स्थिति

किसी बिंदु की स्थिति निर्धारित करने के लिए, हमें निर्देशांक अक्षों के एक युग्म की आवश्यकता होती है। किसी बिदु की y-अक्ष से दूरी उस बिदु का x-निर्देशांक या भुज कहलाता है। किसी बिदु की x-अक्ष से दूरी, उस बिदु का y-निर्देशांक या कोटि कहलाता है।
x-अक्ष पर स्थित किसी बिंदु के निर्देशांक (x, 0) के रूप के होते हैं तथा y-अक्ष पर स्थित किसी बिदु के निर्देशांक (0, y) के रूप के होते हैं।

निर्देशांक ज्यामिति में मूल बिंदु

निर्देशांक (0, 0), अक्ष तल को चार भागों में विभक्त कर देती है जो चतुर्थांश कहलाते हैं। अक्षों के प्रतिच्छेद बिंदु को मूलबिंदु कहते हैं। किसी बिंदु का भुज या x-निर्देशांक उसकी y- अक्ष से दूरी होती है तथा किसी बिंदु की कोटि या y-निर्देशांक उसकी x – अक्ष से दूरी होती है।

दो बिंदुओं के बीच की दूरी का सूत्र

दो बिन्दुओं P और Q के बीच की दूरी उन दो बिन्दुओं को जोड़ने वाले रेखाखण्ड की लम्बाई होती है। या PQ= √{(x₂ – X₁)² + (Y₂ – y₁)²} इसे दूरी सूत्र कहते हैं।

नोट:
ध्यान दें कि चूँकि दूरी सदैव ऋणेतर होती है, हम केवल धनात्मक वर्गमूल लेते हैं।

निर्देशांक ज्यामिति के उपयोग

वस्तुतः, आकृतियों की ज्यामिति का अध्ययन करने के लिए, निर्देशांक ज्यामिति एक बीजीय साधन के रूप में विकसित की गई है। यह बीजगणित का प्रयोग करके ज्यामिति का अध्ययन करने में सहायता करती है तथा बीजगणित को ज्यामिति द्वारा समझने में भी सहायक होती है। इसी कारण, निर्देशांक ज्यामिति के विभिन्न क्षेत्रों में व्यापक अनुप्रयोग हैं, जैसे भौतिकी, इंजीनियरिग, समुद्री-परिवहन (या नौ-गमन), भूकंप शास्त्र संबंधी और कला।

स्मरणीय तथ्य:

    1. P(x₁, y₁) और Q(x₂, y₂) के बीच की दूरी PQ= √{(x₂ – x₁)² + (y₂ – y₁)²} है।
    2. बिदु P(x, y) की मूलबिंदु से दूरी √(x² + y²) होती है।
कक्षा 10 गणित प्रश्नावली 7.1 समाधान
कक्षा 10 गणित प्रश्नावली 7.1 समाधान यूपी बोर्ड
कक्षा 10 गणित प्रश्नावली 7.1 समाधान एमपी बोर्ड
कक्षा 10 गणित प्रश्नावली 7.1 समाधान सीबीएसई